Saturday, July 31, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयचीन ने विदेशियों की एंट्री पर लगाई पाबंदी, कोरोना संक्रमण पर दुनिया को कर...

चीन ने विदेशियों की एंट्री पर लगाई पाबंदी, कोरोना संक्रमण पर दुनिया को कर चुका है गुमराह

चीन में अब जो संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं वे विदेश से आने वालों में मिल रहे हैं। बताया जा रहा है कि इसी को ध्यान में रख विदेशी नागरिकों के एंट्री को प्रतिबंधित किया गया है। विदेश मंत्रालय ने इसे अस्थायी उपाय बताया है।

चीन के वुहान शुरू से हुआ कोरोना वायरस का संक्रमण पूरी दुनिया में फैल चुका है। बताया जा रहा है कि चीन ने इस महामारी पर अब काबू पा लिया है। लेकिन, उस पर शुरुआत में इस संक्रमण को लेकर दुनिया को गुमराह करने के गंभीर आरोप लग रहे हैं। कहा जा रहा है कि मनुष्य से मनुष्य में संक्रमण की बात चीन ने छिपाई नहीं होती तो आज हालात इतने गंभीर नहीं होते। जब चीजें उसके नियंत्रण से बाहर हुई तो उसने इसके बारे में दुनिया को बताया।

इस बीच चीन ने विदेशी नागरिकों के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी है। चीन के विदेश मंत्रालय ने इसकी घोषणा गुरुवार (मार्च 26, 2020) को की। मंत्रालय ने बताया कि ये प्रतिबंध उन्होंने विदेशों में रहने वाले अपने उन नागरिकों तक के लिए लगाया है जिनके पास वीजा और रेजीडेंट परमिट हैं। ये बैन शुक्रवार रात 12 बजे से लागू होगा।

मीडिया खबरों के मुताबिक, इस प्रतिबंध की घोषणा करते हुए चीन ने कहा, ये निलंबन सिर्फ़ एक अस्थायी उपाय है, जिसे चीन ने हालातों और दूसरे देशों के फैसलों को मद्देनजर रखते हुए लिया है। संक्रमण के आगे के हालात को देखते हुए चीन बैन हटाने या इसे जारी रखने पर फैसला लेगा। इसके बारे में अलग से घोषणा की जाएगी।

चीन की एक वेबसाइट साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट के मुताबिक इस बैन से कुछ विदेशी नागरिकों को छूट हासिल होगी। साथ ही राजनयिकों और सी वीजा वालों का प्रवेश प्रभावित नहीं होगा। वहीं, आवश्यक आर्थिक, व्यापार, वैज्ञानिक या तकनीकी गतिविधियों या आपातकालीन मानवीय आवश्यकताओं के लिए चीन आने वाले विदेशी नागरिक, चीनी दूतावासों या वाणिज्य दूतावासों में वीजा के लिए आवेदन कर सकते हैं।

यहाँ बता दें कि बीते दिनों खबर आई थी कि चीन ने अपने यहाँ इस फैलते संक्रमण पर काबू पा लिया थ। लेकिन, बावजूद इसके संक्रमण के जो भी मामले सामने आ रहे थे, वो विदेश से आने वाले नागरिकों में मिल रहे थे। ऐसे में संक्रमण से बचने के लिए विदेश से आने वाले हर व्यक्ति के लिए चीन ने 14 दिन का क्वारांटाइन जरूरी कर दिया था। लेकिन संक्रमण को रोकने के लिए अब वो इससे भी एक कदम आगे बढ़ गया है और चीन ने विदेशियों की अपने यहाँ एंट्री ही बैन कर दी है।

गौरतलब है की चीन ही वो पहला देश है जहाँ से कोरोना की शुरूआत हुई और देखते-देखते ये संक्रमण दुनिया के बाकी देशों तक फैल गया। ईरान और इटली में तो इसका ऐसा प्रभाव दिखा कि हर कोई सहम गया। स्थिति इतनी भयावह हुई की स्वास्थ्य सुविधाओं से लबरेज देश खुद को इसकी चपेट में आने से नहीं रोक पाए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,090FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe