Sunday, October 17, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयचीनी मीडिया ने किया मॉस्को में राजनाथ सिंह से मुलाकात का झूठा दावा, भारतीय...

चीनी मीडिया ने किया मॉस्को में राजनाथ सिंह से मुलाकात का झूठा दावा, भारतीय रक्षा मंत्रालय ने बताया फर्जी

भारतीय रक्षा मंत्री ने ऐसी किसी सम्भावना के बारे में कोई जिक्र नहीं किया है, जिसका तात्पर्य यह है कि चीनी मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स चाइनीज प्रोपेगेंडा को हवा देने का प्रयास कर रहा है और इसके द्वारा वह भारत के रक्षा मंत्री से सीमा विवाद पर किसी भी तरह से बात करना चाहता है।

रक्षा मंत्रालय ने ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट का खंडन करते हुए स्पष्ट बताया है कि राजनाथ सिंह मॉस्को में अपने चीनी समकक्ष से नहीं मिलेंगे। दरअसल, चीनी सरकार के मुखपत्र ‘ग्लोबल टाइम्स‘ द्वारा ट्विटर पर भारतीय रक्षा मंत्री की चीनी रक्षा मंत्री के साथ मुलाकात को लेकर प्रोपेगेंडा फैलाया जा रहा है, जिसे ‘द क्विंट’ जैसे भारतीय प्रोपेगेंडा वेबसाइट द्वारा भी प्रकाशित किया जा रहा है।

चीन के सरकारी मुखपत्र ‘ग्लोबल टाइम्स’ ने मंगलवार (जून 23, 2020) को दावा किया कि उसके रक्षा मंत्री वेई फ़ेंगहे रूस में बुधवार को अपने भारतीय समकक्ष राजनाथ सिंह से मुलाकात कर सीमा विवाद पर बातचीत करेंगे।

ग्लोबल टाइम्स के अनुसार, “चीनी रक्षा मंत्री वेई फेंग बुधवार को मास्को में रूस की विजय दिवस परेड में भाग लेंगे, और संभवत: अपने भारतीय समकक्ष राजनाथ सिंह के साथ एक बैठक आयोजित करेंगे।”

हालाँकि, भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के कार्यालय ने ग्लोबल टाइम्स के दावों को खारिज कर दिया, कहा कि बुधवार के लिए ऐसी कोई बैठक निर्धारित नहीं है।

भारतीय रक्षा मंत्री ने ऐसी किसी सम्भावना के बारे में कोई जिक्र नहीं किया है, जिसका तात्पर्य यह है कि चीनी मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स चाइनीज प्रोपेगेंडा को हवा देने का प्रयास कर रहा है और इसके द्वारा वह भारत के रक्षा मंत्री से सीमा विवाद पर किसी भी तरह से बात करना चाहता है। भारत सरकार ने चीनी रक्षा मंत्री के साथ ऐसी किसी भी प्रकार की बातचीत से इनकार किया है।

रूस में विजय दिवस (Victory Day Russia) के जश्न के लिए मॉस्को पहुँचे भारत के केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) मंगलवार (जून 23, 2020) शाम मॉस्को पहुँच गए हैं, जहाँ उन्होंने भारतीय दूतावास में महात्मा गाँधी की मूर्ती पर पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

राजनाथ सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा – “मैं कल 75वीं विजय परेड में भाग लेने के लिए उत्सुक हूँ। मैं रूस के मैत्रीपूर्ण लोगों, विशेष रूप से दिग्गजों को अपनी शुभकामनाएँ देता हूँ, जिन्होंने हमारी आम सुरक्षा में इतना योगदान दिया है।”

चीन के साथ गलवान घाटी को लेकर चल रहे ताजा विवाद के बीच रूस दौरे पर गए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि वे अपने दौरे से पूरी तरह संतुष्ट है। उन्होंने कहा कि उनकी चर्चा पॉजिटिव और प्रोडक्टिव रही। रक्षा मंत्री ने कहा कि उन्हें यह आश्वासन मिला है कि पहले से जारी रक्षा कांट्रैक्ट को न सिर्फ बरकरार रखा जाएगा बल्कि उसे जल्द पूरा भी किया जाएगा।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,137FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe