Thursday, July 18, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयजाहिल पाकिस्तानियों ने मगरमच्छों को भी नहीं छोड़ा, Zoo में 'अत्याचार' से इनके शरीर...

जाहिल पाकिस्तानियों ने मगरमच्छों को भी नहीं छोड़ा, Zoo में ‘अत्याचार’ से इनके शरीर को कर देते हैं लाल

फोटो देखकर आप चौंक सकते हैं! आपको लगेगा कि मगरमच्छों के शरीर पर खून कैसे? लेकिन यह खून नहीं जाहिल पाकिस्तानियों की सोच है, जो इन मूक जानवरों के शरीर पर पीक-थूक बन कर गिर रही है।

फोटो देखकर आप चौंक सकते हैं! आपको लगेगा कि मगरमच्छों के शरीर पर खून कैसे? लेकिन यह खून नहीं जाहिल पाकिस्तानियों की सोच है, जो इन मूक जानवरों के शरीर पर पीक-थूक बन कर गिर रही है। द न्यूज में प्रकाशित पान और गुटखे की पीक से सने दो मगरमच्छों की एक फ़ोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इस फ़ोटो को देखकर इस बात का अंदाज़ा बख़ूबी लगाया जा सकता है कि पाकिस्तान में बेज़ुबान जानवरों के साथ कितना बुरा व्यवहार किया जाता है।

पत्रकार जिया उर रहमान ने प्रकाशित फ़ोटो पर कैप्शन के साथ ट्वीट किया कि कराची चिड़ियाघर का यह एक खेदजनक दृश्य है, जहाँ आने वाले आगंतुक मगरमच्छों पर पान और गुटखे की पीक थूकते हैं। इस दौरान मगरमच्छों के शरीर पर लाल रंग के धब्बे पड़ जाते हैं।

सांसद और पीपीपी नेता शेरी रहमान ने भी टिप्पणी की कि वह “यह देखकर शर्मिंदा हैं।”

पत्रकार सनम मैहर और अंबर शम्सी ने भी ट्विटर पर अपना आक्रोश व्यक्त करते हुए लिखा कि कैसे जाहिल लोग हैं जो चिड़ियाघर के जानवरों पर पान-गुटखे की पीक थूकते चलते हैं।

पाकिस्तान में पशुओं के साथ क्रूरता भरा व्यवहार किए जाने की यह कोई नई ख़बर नहीं है। चिड़ियाघर में जानवरों को टॉर्चर करना और उन्हें परेशान करके मज़े लेना वहाँ के लोगों की आम बात है।

पिछले साल, एक्टिविस्ट और वकील जिब्रान नासिर ने एक लड़के की तस्वीरें ट्वीट की थीं, जिसने बिल्ली के बच्चे को प्रताड़ित करते हुए सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट किया था।

संसद चाहे तो PoK वापस लेने को हैं तैयार: सेना प्रमुख ने पाकिस्तान की नींद उड़ाई

UNSC में कश्मीर पर पाकिस्तान को फिर झेलनी पड़ी शर्मिंदगी, चीन ले सबक: रवीश कुमार

कॉन्ग्रेस नेता अधीर रंजन ने कहा- हाँ, मैं पाकिस्तानी हूँ, आप जो करना चाहते हैं कर सकते हैं

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

काँवड़ यात्रा पर किसी भी हमले के लिए मोहम्मद जुबैर होगा जिम्मेदार: यशवीर महाराज ने ‘सेकुलर’-इस्लामी रुदालियों पर बोला हमला, ढाबों मालिकों की सूची...

स्वामी यशवीर महाराज ने 18 जुलाई 2024 को एक वीडियो बयान जारी कर इस्लामिक कट्टरपंथियों और तथाकथित 'सेकुलरों' को आड़े हाथों लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -