Tuesday, June 25, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयरियासी में आतंकी हमले के बाद भड़के डच नेता गीर्ट वाइल्डर्स, बोले - 'पाकिस्तानी...

रियासी में आतंकी हमले के बाद भड़के डच नेता गीर्ट वाइल्डर्स, बोले – ‘पाकिस्तानी आतंकियों को कश्मीर में घुसने मत दो, अपने हिंदुओं को बचाए भारत’

गीर्ट वाइल्डर्स ने ट्वीट कर कहा है, कि "कश्मीर घाटी में पाकिस्तानी आतंकवादियों को हिंदुओं की हत्या करने की इजाजत न दें। अपने लोगों की रक्षा करें भारत!"

जम्मू-कश्मीर के रियासी में रविवार (9 जून 2024) को हुए आतंकी हमले पर नीडरलैंड्स के दक्षिणपंथी नेता गीर्ट वाइल्डर्स ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने भारत सरकार से अपील की है कि वो कश्मीर घाटी में पाकिस्तानी आतंकियों को घुसने से रोके और देश के हिंदुओं की रक्षा करे। बता दें कि रियासी में एक टूरिस्ट बस पर आतंकियों ने हमला कर दिया था। आतंकियों की फायरिंग की वजह से बस घाटी में गिर गई थी, जिसमें 10 लोगों की मौत हो गई, तो 30 से अधिक लोग घायल हो गए थे।

गीर्ट वाइल्डर्स ने एक ट्वीट कर भारत से अपने लोगों की रक्षा करने की अपील की है। गीर्ट वाइल्डर्स ने ट्वीट कर कहा है, कि “कश्मीर घाटी में पाकिस्तानी आतंकवादियों को हिंदुओं की हत्या करने की इजाजत न दें। अपने लोगों की रक्षा करें भारत!”

भारत और हिंदुओं को लेकर गीर्ट वाइल्डर्स अक्सर अपनी बात रखते हैं। पिछले साल नीदरलैंड्स में चुनाव में उनकी पार्टी को काफी अच्छा जनसमर्थन मिला था। उन्हें पूरी दुनिया से बधाइयाँ मिल रही थी। इस दौरान उन्होंने भारत और हिंदुओं को लेकर खास पोस्ट किया था और हिंदुओं का समर्थन करते रहने की बात कही है।

कौन हैं गीर्ट वाइल्डर्स?

नीदरलैंड के वेनलो में 6 सितंबर 1963 में जन्मे गीर्ट वाइल्डर्स एक दक्षिणपंथी डच नेता हैं। वह अपने इस्लाम विरोधी रुख के लिए जाने जाते हैं। वह वर्ष 2004 के बाद से लगातार पुलिस सुरक्षा में रहते हैं। उनके एक बार मोरक्को के लोगों को कूड़ा बोलने पर काफी विवाद हुआ था। पीवीवी की स्थापना उन्होंने 2006 में की थी। उन्हें अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप का डच अवतार भी कहा जाता है।

वाइल्डर्स को अवैध प्रवासियों के प्रति उनके कठोर रवैए और डच हितों को सबसे आगे रखने के लिए जाना जाता है। उन्होंने जुलाई 2022 में भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा और बांग्लादेशी हिंदुओं का मुद्दा भी डच संसद में उठाया था। उन्होंने अक्टूबर 2022 में भी नूपुर शर्मा के समर्थन में ट्वीट किया था। डच सांसद ने भारत में हिंदुओं पर हमले की घटनाओं का भी जिक्र किया था। उन्होंने नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर इस्लामी कट्टरपंथियों द्वारा एक हिंदू दर्जी (कन्हैया लाल) का सिर कलम करने की घटना पर भी प्रकाश डाला था। यही नहीं, उन्होंने अभी अप्रैल 2024 में भी नूपुर शर्मा से फोन पर बातचीत की थी और उसके बारे में सोशल मीडिया पर भी पोस्ट किया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -