Saturday, July 13, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयसिंगापुर में भारतीय मूल के व्यक्ति की हत्या: अब्दुल जाफरी ने दिया था सीढ़ियों...

सिंगापुर में भारतीय मूल के व्यक्ति की हत्या: अब्दुल जाफरी ने दिया था सीढ़ियों से धक्का, सिर पर फ्रैक्चर से हो गई मौत

थेवेंद्रन शनमुगम मार्च में सिंगापुर के ऑर्चर्ड रोड स्थित कॉनकॉर्ड शॉपिंग मॉल गए थे। यहाँ मॉल के बाहर बनी सीढ़ियों से मुहम्मद अफजरी अब्दुल काहा नामक व्यक्ति ने थेवंद्रन को धक्का दे दिया।

सिंगापुर के एक शॉपिंग मॉल के बाहर सीढ़ियों से गिरने के बाद भारतीय मूल के एक व्यक्ति की मौत हो गई। मृतक की पहचान थेवंद्रन शनमुगम (Thevandran Shanmugam) के रूप में हुई। आरोप है कि मुहम्मद अफजरी अब्दुल काहा नामक व्यक्ति ने थेवंद्रन को सीढ़ियों से धक्का दिया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, थेवेंद्रन शनमुगम मार्च में सिंगापुर के ऑर्चर्ड रोड स्थित कॉनकॉर्ड शॉपिंग मॉल गए थे। यहाँ मॉल के बाहर बनी सीढ़ियों से मुहम्मद अफजरी अब्दुल काहा नामक व्यक्ति ने थेवंद्रन को धक्का दे दिया। इसके बाद इलाज के लिए उसे हॉस्पिटल ले जाया गया। जहाँ हुई जाँच में उनके सिर पर फ्रैक्चर पाए गए। इलाज के दौरान हॉस्पिटल में ही थेवेंद्रन शनमुगम की मौत हो गई। शुक्रवार (7 अप्रैल 2023) शाम मंडई श्मशान घाट में उसका अंतिम संस्कार किया गया।

थेवेंद्रन शनमुगम की हत्या का आरोपित मुहम्मद अजफरी अब्दुल काहा पहले भी जेल जा चुका है। सजा में छूट मिलने के बाद वह जेल से बाहर आया था। इसके बाद अब उसने इस घटना को अंजाम दिया है। हालाँकि अब तक यह स्पष्ट नहीं है कि आरोपित अब्दुल काहा थेवेंद्रन को जानता था या नहीं। शॉपिंग मॉल के बाहर जहाँ यह घटना हुई है वहाँ कई नाइट क्लब और बार हैं। हालाँकि, नाइट क्लब ने कहा है कि जिस दिन हत्या हुई, उस दिन थेवेंद्रन क्लब नहीं आए।

मुहम्मद अजफरी अब्दुल काहा को हो सकती है 10 की जेल

थेवेंद्रन शनमुगम की हत्या के आरोपित मुहम्मद अजफरी अब्दुल काहा को अदालत दोषी करार देती है तो उसे 10 साल तक की जेल हो सकती है। यही नहीं, उस पर जुर्माना भी लगाया जा सकता है। दोषी पाए जाने पर उसे 178 दिनों तक की अतिरिक्त सजा भी हो सकती है। सिंगापुर के कानून के अनुसार, एक कैदी को अपनी सजा का एक हिस्सा जेल से बाहर बिताने की अनुमति दी जाती है। इसके लिए छूट का आदेश जारी किया जाता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

18 बैंक खाते, 95 करोड़ रुपए, अब तक 11 शिकंजे में… जनजातीय समाज का पैसा डकारने के मामले में कॉन्ग्रेस के पूर्व मंत्री गिरफ्तार,...

सीधे शब्दों में समझें तो पूरा मामला ये है कि ST निगम के कुछ अधिकारियों ने फर्जी हस्ताक्षरों का इस्तेमाल कर के अवैध रूप से 94,73,08,500 रुपए विभिन्न बैंक खातों में भेज दिए।

महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में NDA की बड़ी जीत, सभी 9 उम्मीदवार जीते: INDI गठबंधन कर रहा 2 से संतोष, 1 सीट पर करारी...

INDI गठबंधन की तरफ से कॉन्ग्रेस, शिवसेना UBT और PWP पार्टी ने अपना एक-एक उमीदवार उतारा था। इनमें से PWP उम्मीदवार जयंत पाटील को हार झेलनी पड़ी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -