Sunday, July 14, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमौलवी और मजहबी संगठन के नेता को भूना, दरोगा को भी मार डाला: पाकिस्तान...

मौलवी और मजहबी संगठन के नेता को भूना, दरोगा को भी मार डाला: पाकिस्तान में ताबड़तोड़ हत्याएँ कर फरार हुए ‘अज्ञात’

इन दोनों की हत्याओं को अज्ञात हमलावरों ने अंजाम दिया है। उनकी पहचान अभी तक नहीं हो पाई है। हमलावर बाइक से आए थे और घटना को अंजाम देकर फरार हो गए। पुलिस उनकी पहचान में जुटी है। वहीं, इन दोनों हत्याओं की जिम्मेदारी अभी तक किसी समूह ने नहीं ली है।

पाकिस्तान में अज्ञात हमलावरों ने मंगलवार (2 अप्रैल 2024) को जमीयत उलेमा-ए-इस्लामी फजल से जुड़े एक मौलवी नूर इस्लाम निज़ामी की गोलियों से भून डाला। हत्या के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए। पुलिस ने नाकेबंदी करके हमलावर की तलाश शुरू कर दी है। अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। वहीं, एक अन्य हमले में एक पुलिस सब इंस्पेक्टर की भी हत्या कर दी गई है।

पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक, घटना पाकिस्तान के उत्तरी वजीरिस्तान जिले की है। यहाँ पाकिस्तान-अफगानिस्तान के बॉर्डर क्षेत्र में मीरामशाह इलाका पड़ता है। मंगलवार को यहाँ जमीयत उलेमा ए इस्लामी फजल के नेता और मौलवी नूर इस्लाम निजामी किसी काम से निकले थे। इस बीच अज्ञात हमलावरों ने निजामी को गोलियों से भून दिया। इसके बाद हमलावर मौके से फरार हो गए।

इस घटना के बाद कुछ स्थानीय लोगों ने बुरी तरह से घायल निजामी को अस्पताल में भर्ती करवाया। यहाँ डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। इस घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुँची। पुलिस ने घेराबंदी की और मौके से सबूत जुटाने शुरू कर दिए। अभी तक हमलावरों के बारे में कोई सुराग नहीं मिल पाया है। आसपास के लोगों से भी पूछताछ की जा रही है।

इलाके में बेहद प्रभावशाली रहे मौलवी नूर इस्लाम निजामी के शव का पोस्टमार्टम मीरामशाह अस्पताल में करवाया जा रहा है। वजीरिस्तान जिले के पुलिस अधिकारी ने पाकिस्तानी मीडिया से बातचीत के दौरान इस घटना की पुष्टि की और हमलावरों को जल्द ही गिरफ्तार करने का भरोसा दिया है। पाकिस्तानी मीडिया मौलवी की हत्या को भी टारगेट किलिंग बता रही है।

सब इंस्पेक्टर समीउल्लाह की हत्या

वहीं, एक अन्य घटना में पाकिस्तान के वजीरिस्तान में ही अज्ञात हमलावरों ने एक पुलिस सब इंस्पेक्टर को गोलियों से भून दिया। मृतक का नाम मलिक समीउल्लाह खान बताया जा रहा है। मीर अली क्षेत्र के हसू खेल गाँव की यह घटना भी मंगलवार (2 अप्रैल 2024) को घटी। सब इंस्पेक्टर मलिक समीउल्लाह घटना के समय अपने घर पर मौजूद थे। वो शाम के समय रोजा इफ्तारी करके बाहर निकले थे।

इस दौरान पहले से ही घात लगाए अज्ञात हमलावरों ने उनको गोलियों से भून डाला। हमलावर बाइक से आए थे। घटना को अंजाम देने के बाद मौके से भागने में कामयाब रहे। समीउल्लाह को अस्पताल ले जाया गया, जहाँ डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सब इंस्पेक्टर समीउल्लाह की हत्या मौलवी निज़ामी के कत्ल के महज कुछ ही घंटे बाद हुई।

मलिक समीउल्लाह के शव को पहले पुलिस मुख्यालय में लाकर रखा गया। उसके बाद उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। इस मामले में भी अभी तक किसी हमलावर की पहचान या गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। पाकिस्तान पुलिस मौके पर पहुँच कर अपनी कार्रवाई में जुटी है। अभी तक इन दोनों हत्याओं की जिम्मेदारी किसी समूह ने नहीं ली है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -