Sunday, July 14, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'ड्रोन का इस्तेमाल कर पंजाब में ड्रग्स भेज रहा पाकिस्तान': प्रधानमंत्री शाहबाज़ शरीफ के...

‘ड्रोन का इस्तेमाल कर पंजाब में ड्रग्स भेज रहा पाकिस्तान’: प्रधानमंत्री शाहबाज़ शरीफ के करीबी का खुलासा, हाईटेक तकनीक से नारकोटिक्स तस्करी

उन्होंने बड़ा खुलासा किया कि हाल ही में ऐसी 2 घटनाएँ हुई हैं। 10 किलोग्राम हेरोइन को ड्रोन से बाँध दिया गया और फिर सीमा के उस पार भारत में भेज दिया गया।

पंजाब को ‘उड़ता पंजाब’ बनाने में पाकिस्तान का बड़ा हाथ है। पाकिस्तान के तस्कर अब पंजाब में ड्रग्स भेजने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल कर रहे हैं। पाकिस्तान के ही एक सीनियर अधिकारी ने इसका खुलासा कर दिया, वो भी मीडिया के सामने। हाईटेक तकनीक का इस्तेमाल कर के भारत में नारकोटिक्स को बढ़ावा दिया जा रहा है। कसूर सिटी में पाकिस्तानी पत्रकार हामिद मीर के साथ एक इंटरव्यू में वहाँ के प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ के करीबी ने ये खुलासा किया है।

मलिक मोहम्मद अहमद खान पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के ‘स्पेशल असिस्टेंट ऑन डिफेंस’ हैं, जो पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की प्रांतीय असेंबली के सदस्य (MPA) भी हैं। उन्होंने जहाँ से चुनाव जीता है, वो इलाका भारत की सीमा से भी लगता है। सोमवार (17 जुलाई, 2023) को ट्वीट किए गए एक वीडियो में उन्हें इस पर बात करते हुए देखा जा सकता है। जब मीर ने कसूर में क्रॉस-बॉर्डर नारकोटिक्स के बारे में सवाल पूछा, तो उन्होंने सहमति में सिर हिलाया।

उन्होंने कहा कि हाँ, ये बहुत भयावह है। उन्होंने बड़ा खुलासा किया कि हाल ही में ऐसी 2 घटनाएँ हुई हैं। 10 किलोग्राम हेरोइन को ड्रोन से बाँध दिया गया और फिर सीमा के उस पार भारत में भेज दिया गया। उन्होंने बाढ़ पीड़ितों के लिए सेप्सिअल पैकेज की माँग करते हुए कहा कि अगर ऐसा नहीं हो पाया तो वो लोग भी ड्रग्स की तस्करी में लिप्त हो जाएँगे। पंजाब के खेमकरण और फिरोजपुर के बीच में कसूर बसा हुआ है।

भारत की पंजाब पुलिस के आँकड़ों की मानें तो जुलाई 2022 से लेकर अब तक 1 साल में पंजाब में NDPS एक्ट के तहत 795 FIR दर्ज कराए गए हैं। अधिकतर ड्रग्स पंजाब के उन जिलों से जब्त किए गए, जिनकी सीमाएँ पाकिस्तान से लगती हैं। BSF ने भी इसकी पुष्टि की है कि ड्रग्स की तस्करी के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है। 260 किलोग्राम हेरोइन, 19 बंदूकें, 30 कारतूस और 470 राउंड गोलियों के अलावा 30 पाकिस्तानी ड्रोन भी जब्त किए गए हैं।

हामिद मीर ने भी कहा है कि मलिक अहमद खान द्वारा की गई स्वीकारोक्ति महत्वपूर्ण है। वो पाकिस्तान के सत्ता और सैन्य प्रतिष्ठान के करीबी हैं। पाकिस्तान के पूर्व सेना प्रमुख जनरल बाजवा के भी वो करीबी हैं। वर्तमान मिलिट्री अधिकारियों से भी उनके अच्छे रिश्ते हैं। सुरक्षा एजेंसियों ने कसूर में मोबाइल सिग्नल जाम कर रखे हैं, इसके बावजूद ड्रग्स और शराब की तस्करी हो रही है। फोन कनेक्टिविटी न दे पाने के कारण कसूर में उनका खासा विरोध हो रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -