Thursday, July 25, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'इस्लाम के हिसाब से जीना चाहती हूँ ज़िंदगी': पाकिस्तान की 18 साल की महिला...

‘इस्लाम के हिसाब से जीना चाहती हूँ ज़िंदगी’: पाकिस्तान की 18 साल की महिला क्रिकेटर ने खेल की दुनिया को कहा अलविदा, लगाती थी बड़े-बड़े हिट

इस साल फरवरी में उन्होंने भारत के खिलाफ 43 रनों की नाबाद पारी खेली थी, लेकिन महिला T20 वर्ल्ड कप के उस ग्रुप मैच में पाकिस्तान की हार हुई थी।

पाकिस्तान की क्रिकेटर आयशा नसीम ने खेल की दुनिया को अलविदा कह दिया है। उन्होंने कहा कि अब वो इस्लाम के हिसाब से अपना जीवन जिएँगी। आयशा नसीम की उम्र अभी मात्र 19 साल है। उन्होंने ‘पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB)’ को अपने संन्यास के संबंध में जानकारी दे दी है। उन्होंने कहा, “मैं क्रिकेट छोड़ रही हूँ और इस्लाम के हिसाब से अपना जीवन-यापन करना चाहती हूँ।” आयशा नसीम का जन्म 7 अगस्त, 2004 को एबटाबाद में हुआ था।

वो दाहिने हाथ की टॉप ऑर्डर बल्लेबाज होने के साथ-साथ राइट आर्म मेडियम फ़ास्ट गेंदबाजी भी कर लेती हैं। उन्होंने महिला वनडे में 4 मैचों में मात्र 33 रन ही बनाए हैं, लेकिन महिला T20 इंटरनेशनल में उन्होंने बल्ले से कमाल दिखाया। उन्होंने 27 परियों में 288 गेंदों पर 369 रन जड़े हैं। आयशा नसीम क्रिकेट के इस छोटे फॉर्मेट में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 18 छक्के और 20 चौके लगा चुकी हैं। उन्होंने जहाँ मार्च 2020 में T20 में डेब्यू किया, वहीं ODI में उनका पदार्पण जुलाई 2021 में हुआ

इस साल फरवरी में उन्होंने भारत के खिलाफ 43 रनों की नाबाद पारी खेली थी, लेकिन महिला T20 वर्ल्ड कप के उस ग्रुप मैच में पाकिस्तान की हार हुई थी। आयशा नसीम में पाकिस्तान महिला क्रिकेट में अपने लिए भविष्य देख रहा था, क्योंकि वो बड़े-बड़े हिट्स लगाने की क्षमता रखती हैं। मात्र 15 वर्ष की उम्र में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने वाली आयशा नसीम ने इंस्टाग्राम पर अपने हैंडल को भी प्राइवेट कर के रखा हुआ है।

बता दें कि भारत में भी कुछ सेलब्स इस तरह का निर्णय ले चुके हैं। अभिनेत्री सना खान ने सितंबर 2020 में मनोरंजन की दुनिया को अलविदा कह दिया था और गुजरात के मुफ़्ती अनस सैयद से निकाह के बाद अल्लाह के रास्ते पर चलने की बात कही थी। इसी तरह, ‘दंगल (2016)’ फेम ज़ायरा वसीम ने जून 2020 में कुरान और अल्लाह का हवाला देते हुए बॉलीवुड से दूरी बनाने का ऐलान किया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

देशद्रोही, पंजाब का सबसे भ्रष्ट आदमी, MeToo का केस… खालिस्तानी अमृतपाल का समर्थन करने वाले चन्नी की रवनीत बिट्टू ने उड़ाई धज्जियाँ, गिरिराज बोले...

रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा कि एक पूर्व मुख्यमंत्री देशद्रोही की तरह व्यवहार कर रहा है, देश को गुमराह कर रहा है। गिरिराज सिंह बोले - ये देश की संप्रभुता पर हमला।

‘दरबार हॉल’ अब कहलाएगा ‘गणतंत्र मंडप’, ‘अशोक हॉल’ बना ‘अशोक मंडप’: महामहिम द्रौपदी मुर्मू का निर्णय, राष्ट्रपति भवन ने बताया क्यों बदला गया नाम

राष्ट्रपति भवन ने बताया है कि 'दरबार' का अर्थ हुआ कोर्ट, जैसे भारतीय शासकों या अंग्रेजों के दरबार। बताया गया है कि अब जब भारत गणतंत्र बन गया है तो ये शब्द अपनी प्रासंगिकता खो चुका है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -