Thursday, July 25, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयब्रिटेन में हिंदुओं को निशाना बना रहे पाकिस्तानी: चाकू लेकर निकली कट्टरपंथी भीड़ ने...

ब्रिटेन में हिंदुओं को निशाना बना रहे पाकिस्तानी: चाकू लेकर निकली कट्टरपंथी भीड़ ने घरों में की तोड़फोड़, भगवा झंडे उखाड़े; देखिए Video

वीडियो में हिंदुओं से मारपीट, उनके घरों में तोड़फोड़, घर के बाहर लगे भगवा झंडे को उखाड़ना साफ तौर पर दिख रहा है। वीडियो बनाने वाले आपस में कह रहे हैं कि ये उपद्रव करने वाले मुस्लिम हैं। इनके हाथों में चाकू जैसे धारदार हथियार हैं।

ब्रिटेन के लिसेस्टर शहर से हिंदुओं पर हमले की लगातार वीडियोज आ रही है। इस्लामी कट्टरपंथी भीड़ इकट्ठा करके हिंदुओं के घरों को निशाना बना रहे हैं। उनके हाथों में हथियार और मुँह पर हिंदुओं के लिए गालियाँ हैं। सड़कों से पुलिस नदारद है। कोई उन्हें नहीं रोक रहा। वहीं सोशल मीडिया पर वामपंथी हिंदुओं को ही हमले का दोषी बता रहे हैं।

हिंदुओं पर हमले की वीडियोज

सामने आई एक वीडियो में दिख रहा है कि कैसे कट्टरपंथी भारी तादाद में सड़कों पर जुटे हुए है। हिंदू लोग अपने घरों से उनकी वीडियो बना रहे हैं और यह देख हैरान हो रहे हैं कि आखिर क्यों पुलिस इनको नहीं रोक रही, ये कैसे हाथों में हथियार लेकर खुलेआम घूम पा रहे हैं।

वीडियो में हिंदुओं से मारपीट, उनके घरों में तोड़फोड़, घर के बाहर लगे भगवा झंडे को उखाड़ना साफ तौर पर दिख रहा है। वीडियो बनाने वाले आपस में कह रहे हैं कि ये उपद्रव करने वाले मुस्लिम हैं। इनके हाथों में चाकू जैसे धारदार हथियार हैं।

कुछ अन्य विदेशी भी इन वीडियोज को लेकर यही बता रहे हैं कि इंग्लैंड में कैसे हिंदुओं को मुस्लिम भीड़ अपना शिकार बना रही है और मेनस्ट्रीम मीडिया ने इसे कवर करने की जगह अपनी आँख मूँदी हुई है।

यूजर्स इसे एक सुनियोजित हमला बता रहे हैं। उनका कहना है, “ये हमला सुनियोजित था। ये अचानक नहीं हुआ। वो लोग हथियार के साथ और पूरी तैयारी के साथ आए थे। नस्लीय टिप्पणी कर रहे थे, पुलिस के सामने लोगों को धमका रहे थे और मार रहे थे।”

हिंदुओं से घृणा करने वाला पत्रकार हमले का जिम्मेदार

बता दें कि हिंदुओं के विरुद्ध ब्रिटेन में नजर आ रही घृणा फैलाने के पीछे विदेशी मीडिया द इंडिपेंडेंट के पत्रकार सनी हुंडल का नाम सामने आ रहा है। सनी ने अपने ट्विटर पर 30 अगस्त को एक वीडियो शेयर करके हिंदुत्व को बीच में घसीटा था। वीडियो में कुछ लोग पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगा रहे थे। ऐसे में सनी ने लिखा, “लिसेस्टर में हिंदुत्व चरमपंथी समूहों ने सड़कों पर उपद्रव किया। हैरानी की बात है।”

अब इसी ट्वीट को हिंदुओं पर होते हमलों के पीछे वजह माना जा रहा है। बताया जा रहा है कि सनी हुंडल अक्सर भारतीयों को और हिंदुओं को निशाना बनाते हैं। उनकी वजह से पाकिस्तानी मुस्लिम हिंदुओं को और उनके घर को निशाना बना रहे हैं।

वायरल ट्वीट में एक पाकिस्तानी ने बताई ‘सच्चाई’ , मुस्लिमों बोले- ये ब्रिटेन की घटना नहीं

इन दावों के साथ-साथ एक ट्वीट भी शेयर हो रहा है जिसे लेकर दावा है कि ये एक पाकिस्तानी ने किया है। इसमें लिखा है कि लोग इस उपद्रव के पीछे मान रहे हैं कि हिंदुओं ने एक निर्दोष मुस्लिम को पीट दिया। लेकिन हकीकत में वो पाकिस्तानी निर्दोष नहीं था। जब पाकिस्तान मैच हारा और भारतीय खुशी मनाने लगे तो वो शख्स उनके पास गया और ‘हिंदुस्तान मुर्दाबाद, पाकिस्तान जिंदाबाद’ कहने लगा। उसने उन लोगों को इशारे में गाली भी दी। वहाँ और भी पाकिस्तानी थे मगर किसी भारतीय ने किसी को कुछ नहीं कहा।

मालूम हो कि यह ट्वीट लिसेस्टर की घटना के संदर्भ में शेयर किया जा रहा है। हालाँकि कुछ मुस्लिम इस पोस्ट को फेक बता रहे हैं। पोस्ट की सच्चाई क्या है ये तो पुष्टि नहीं हो पाई है लेकिन हिंदुओं पर हमले कट्टरपंथियों के हमले लगातार हो रहे हैं और इसके प्रमाण भी सोशल मीडया पर मौजूद हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -