Saturday, June 15, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपति के साथ सेक्स कर रही थी बायडेन की पार्टी की उम्मीदवार, लोगों ने...

पति के साथ सेक्स कर रही थी बायडेन की पार्टी की उम्मीदवार, लोगों ने देखा लाइव: चुनाव प्रचार पर निकलीं तो मिला जबर्दस्त समर्थन

सेक्स वीडियो लीक होने के बाद वर्जीनिया में चुनाव का पूरा नैरेटिव ही बदलता नजर आ रहा है। जहाँ कुछ राजनितिक विश्लेषक इसे बड़ा गेम मान रहे हैं वहीं कुछ का कहना है कि यह कदम राजनीति को और नीचे ले जाने वाला है।

अमेरिका के वर्जीनिया में चुनाव प्रचार एक अलग ही लेवल पर पहुँच गया है। यहाँ सोमवार (11 सितम्बर, 2023) को वर्जीनिया के विधायिका (लेजिस्लेटिव) के चुनाव में एक जो बायडेन की पार्टी डेमोक्रेट की महिला उम्मीदवार का उसके पति के साथ सेक्स सम्बन्ध बनाते हुए वीडियो का लाइव प्रसारण हो गया। वाशिंगटन पोस्ट सहित कुछ मीडिया रिपोर्ट में यौन सम्बन्ध की लाइव स्ट्रीमिंग को चुनावी फायदे के लिए उपयोग करने की बात कही जा रही है क्योंकि वीडियो को लाइव करने के बाद देखने वालों से चुनाव के लिए धन की माँग भी की गई थी। वहीं कई रिपोर्ट में दावा है कि वीडियो लीक हुआ है, जिसे विरोधी रिपब्लिकन पार्टी द्वारा बदनाम करने के लिए किया गया है।

हालाँकि, अब इस मामले में मंगलवार को जो खबर आई है उसके अनुसार वर्जीनिया की डेमोक्रेटिक उम्मीदवार को महिलाओं और राज्य सीनेटर एल लुईस लुकास आदि डेमोक्रेटस का ज़बरदस्त समर्थन मिल रहा है। 

बता दें वर्जीनिया की डेमोक्रेटिक उम्मीदवार का नाम सुज़ाना गिब्सन, जो पेशे से एक नर्स हैं, साथ ही दो बच्चों की माँ भी हैं। सुजाना ने जून में डेमोक्रेटिक प्राइमरी जीती और राज्य के सबसे प्रतिस्पर्धी जिलों में से एक वर्जीनिया में रिपब्लिकन व्यवसायी डेविड ओवेन के खिलाफ चुनाव लड़ रही हैं। इस चुनाव में लाइव सेक्स वीडियो के अलावा सुजाना को एक एबॉर्शन राइट एक्टिविस्ट (गर्भपात के अधिकार के लिए लड़ने वाली महिला) के रूप में भी लोगों का समर्थन मिल रहा है।

रिपोर्ट के अनुसार, लोगों ने सुजाना को लाइव स्ट्रीम के बाद भारी मात्रा में चुनाव लड़ने के लिए धन देकर मदद की। दरअसल, अमेरिका के दक्षिणी राज्यों में गर्भपात के लिए शख्त कानून है। यहाँ रेयर मामलों में ही गर्भपात की इजाजत है। 

हालाँकि, इस मामले में सुजाना के समर्थन में आए दूसरे डेमोक्रेट सीनेटर लुकास ने कहा कि उनका मानना ​​है कि सेक्स वीडियो सुजाना गिब्सन को शर्मिंदा करने और उनके चुनाव अभियान को नुकसान पहुँचाने  के लिए एक रिपब्लिकन द्वारा लीक किया गया था।

लुकास ने कहा, “वे (रिपब्लिकन) किसी भी उम्मीदवार के बारे में ऐसी किसी भी चीज़ की तलाश कर रहे हैं जो उन्हें लगता है कि मतदाताओं को प्रभावित कर सकती है। यह सब इस बात से संबंधित है कि सीनेट का नियंत्रण किसे मिलने वाला है और सदन का नियंत्रण किसे मिलने वाला है। सारा मामला महज नियंत्रण का है।”

वर्जीनिया में डेमोक्रेट और रिपब्लिकन के बीच काँटे की इस चुनावी लड़ाई में इस सेक्स वीडियो लीक कांड के बाद सुजाना के समर्थन में डेमोक्रेटिक महिला उम्मीदवारों के लिए वकालत करने वाले समूह एमिली लिस्ट ने भी गिब्सन का बचाव किया।

बता दें कि सेक्स वीडियो लीक होने के बाद वर्जीनिया में चुनाव का पूरा नैरेटिव ही बदलता नजर आ रहा है। जहाँ कुछ राजनितिक विश्लेषक इसे बड़ा गेम मान रहे हैं वहीं कुछ का कहना है कि यह कदम राजनीति को और नीचे ले जाने वाला है। चुनाव में नीतियों पर बात न होकर सेक्स वीडियो चर्चा का विषय बना हुआ है। 

क्या कहा डेमोक्रेटिक उम्मीदवार ने

वहीं अब इस मामले में सुजाना का बयान भी आ गया है जिसमें उन्होंने उनके पति के साथ सेक्स वीडियो लीक को गटर छाप राजनीति कहा है। 

सुजाना ने अपने बयान में कहा, “इससे मैं डरने वाली नहीं और न मुझे यह चुप करा पाएगा। मेरे राजनीतिक विरोधियों और उनके रिपब्लिकन सहयोगियों ने यह साबित कर दिया है कि वे मुझ पर और मेरे परिवार पर हमला करने के लिए इस हद तक गिरने को तैयार हैं क्योंकि जब महिलाएँ बोलती हैं तो उन्हें चुप कराने के लिए ऐसी कोई सीमा नहीं है जिसे वे पार नहीं करेंगे।”

इस मामले में गिब्सन ने कहा, “सेक्स वीडियो को लीक करना मेरी गोपनीयता के अधिकार पर अवैध आक्रमण है जो मुझे और मेरे परिवार को अपमानित करने के लिए किया गया है।” गिब्सन के वकील, डैनियल पी. वॉटकिंस ने कहा कि वीडियो का प्रसार वर्जीनिया के रिवेंज पोर्न कानून का उल्लंघन है, जो जबरदस्ती, परेशान करने के इरादे से किसी अन्य व्यक्ति की नग्न या सेक्स वीडियो को दुर्भावनापूर्ण रूप से प्रसारित करना या बेचना अपराध है।

वॉटकिंस ने 2021 वर्जीनिया कोर्ट ऑफ अपील्स के फैसले का हवाला देते हुए कहा कि सहमति से यौन संबंध के दौरान भी अपनी प्रेमिका को गुप्त रूप से रिकॉर्ड करना गैरकानूनी था, भले ही उसने अन्य लोगों को वीडियो न दिखाया हो। 

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अभिव्यक्ति की आज़ादी के बहाने झूठ फैला कर किसी को बदनाम नहीं कर सकते’: दिल्ली हाईकोर्ट से कॉन्ग्रेस नेताओं को झटका, कहा – हटाओ...

कोर्ट ने टीवी डिबेट का फुटेज देख कर कहा कि प्रारंभिक रूप से लगता है कि रजत शर्मा ने किसी गाली का इस्तेमाल नहीं किया। तीनों कॉन्ग्रेस नेताओं ने फैलाया झूठ।

साथ काम करने वाले और एक जैसा सोचने वाले एक-दूसरे के दीवाने होते हैं? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इटली की PM मेलोनी की मीम...

सोशल मीडिया पर यह देखने में आया है कि पीएम मोदी और इटली की पीएम जॉर्जिया मेलोनी को लेकर मजाक में अजीबोगरीब मीम एवं चुटकुले बनाए जा रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -