Sunday, July 21, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'मैंने भारत में बनी कोविशील्ड वैक्सीन की दोनों डोज ली है': UNGA अध्यक्ष अब्दुल्ला...

‘मैंने भारत में बनी कोविशील्ड वैक्सीन की दोनों डोज ली है’: UNGA अध्यक्ष अब्दुल्ला शाहिद का खुलासा, कहा – ‘हाँ, मैं ज़िंदा हूँ’

UNGA अध्यक्ष ने कहा, "हाँ, मैंने भारत में बनी कोविशील्ड ली है और मैं ज़िंदा हूँ।" वो उस सवाल का जवाब दे रहे थे, जब उनसे पूछा गया था कि क्या सिर्फ 'विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)' से अनुमति प्राप्त वैक्सीन ही लेनी चाहिए?

‘संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA)’ के अध्यक्ष अब्दुल्ला शाहिद ने खुलासा किया है कि उन्होंने भारत की कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड की डोज ली है। उन्होंने पुणे में स्थित ‘सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SRI)’ द्वारा निर्मित इस कोरोना वैक्सीन की दोनों खुराक ले ली है। उन्होंने कहा, “हाँ, मैंने भारत में बनी कोविशील्ड ली है और मैं ज़िंदा हूँ।” वो उस सवाल का जवाब दे रहे थे, जब उनसे पूछा गया था कि क्या सिर्फ ‘विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)’ से अनुमति प्राप्त वैक्सीन ही लेनी चाहिए?

उन्होंने इसे एक काई तकनीकी सवाल बताते हुए कहा कि वो नहीं जानते कि कितने देशों ने कोविशील्ड को मान्यता दे रखी है, लेकिन कई ऐसे देश हैं जिनकी अधिकतर जनसंख्या ने भारत में बनी इसी वैक्सीन की डोज ली है। उन्होंने शुक्रवार (2 अक्टूबर, 2021) को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को सम्बोधित करते हुए खुद का भी उदाहरण दिया। उन्होंने कहा, “हाँ, मैं जीवित हूँ। लेकिन, ये सवाल आप किसी स्वास्थ्य विशेषज्ञ से पूछिए।”

उन्होंने बताया कि कोरोना वैक्सीन को लेकर जो अधिकतर प्रतिक्रियाएँ आई हैं, उनमें भारत, चीन और अमेरिका से सकारात्मक ही रही हैं। उन्होंने कहा कि जनवरी में होने वाली UNGA की बैठक में वो सभी देशों को साथ लाना चाहते हैं, ताकि उस साल के ख़त्म होने तक पूरी दुनिया का टीकाकरण किया जा सके। मूल रूप से मालदीव से ताल्लुक रखने वाले अब्दुल्ला शाहिद जनवरी 2022 में कोरोना टीकाकरण पर सभी देशों से प्रतिक्रियाएँ लेंगे।

बता दें कि यूके ने भारत की वैक्सीन लेने वालों के लिए क्वारंटाइन अनिवार्य कर दिया था, जिसका जवाब भारत ने भी दिया है। अब ब्रिटेन से आने वालों को यहाँ 10 दिन क्वारंटाइन में रहना पड़ेगा। दोनों देशों के बीच वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट को लेकर एक तरह का संघर्ष चल रहा है। यूके ने अब तक कोविशील्ड को मान्यता नहीं दी है। 4 अक्टूबर से नया ब्रिटिश ट्रेवल नियम लागू होगा। भारत अब तक कोरोना वैक्सीन के 90 करोड़ डोज दे चुका है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेश में आरक्षण खत्म: सुप्रीम कोर्ट ने कोटा व्यवस्था को रद्द किया, दंगों की आग में जल रहा है मुल्क

प्रदर्शनकारी लोहे के रॉड हाथों में लेकर सेन्ट्रल डिस्ट्रिक्ट जेल पहुँच गए और 800 कैदियों को रिहा कर दिया। साथ ही जेल को आग के हवाले कर दिया गया।

‘कमाल का है PM मोदी का एनर्जी लेवल, अनुच्छेद-370 हटाने के लिए चाहिए था दम’: बोले ‘दृष्टि’ वाले विकास दिव्यकीर्ति – आर्य समाज और...

विकास दिव्यकीर्ति ने बताया कि कॉलेज के दिनों में कई मुस्लिम दोस्त उनसे झगड़ा करते थे, क्योंकि उन्हें RSS के पक्ष से बहस करने वाला माना जाता था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -