Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजIndia TV के रजत शर्मा ने कॉन्ग्रेस के प्रवक्ताओं पर ठोका मुकदमा, हाईकोर्ट में...

India TV के रजत शर्मा ने कॉन्ग्रेस के प्रवक्ताओं पर ठोका मुकदमा, हाईकोर्ट में दायर की याचिका: रागिनी नायक वाले डिबेट से जुड़ा है मामला

चैनल की ओर से नायक और कॉन्ग्रेस नेताओं पवन खेड़ा और जयराम रमेश को चेतावनी दी गई थी कि वे अपने आरोप वापस ले लें। कॉन्ग्रेस नेताओं की ओर से आरोप वापस न लिए जाने के बाद अब मानहानि का केस किया गया है।

वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने कॉन्ग्रेस के प्रवक्ताओं के खिलाफ मानहानि का मामला दर्ज कर दिया है। उन्होंने दिल्ली हाई कोर्ट में ये याचिका दाखिल की। रजत शर्मा द्वारा दाखिल मानहानि के केस में हाई कोर्ट ने याचिका स्वीकार कर ली है और उस पर फैसला सुरक्षित रख लिया है। बता दें कि कॉन्ग्रेस की प्रवक्ता रागिनी नायक ने आरोप लगाया था कि वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने उन्हें ऑन-एयर गाली दी थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पत्रकार रजत शर्मा ने कॉन्ग्रेस नेता जयराम रमेश और पार्टी के दो प्रवक्ता रागिनी नायक और पवन खेड़ा पर मानहानि का केस किया है। उन्होंने दिल्ली हाई कोर्ट में यह केस दायर किया है, जिसने अंतरिम राहत पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। रजत शर्मा पर कॉन्ग्रेस की प्रवक्ता रागिनी नायक ने आरोप लगाया था कि उन्होंने उनको इंडिया टीवी के स्टूडियो में गाली दी थी। इस पर जयराम रमेश और पवन खेड़ा ने रागिनी नायक के आरोपों का समर्थन किया था। इसी मामले को लेकर रजत शर्मा ने मानहानि का मुकदमा दायर किया है। उन्होंने कॉन्ग्रेस नेताओं के आरोपों को अपनी गरिमा को ठेस पहुँचाने वाला बताया है।

इस मामले में रजत शर्मा के खिलाफ रागिनी नायक ने भी दिल्ली में एफआईआर दर्ज कराई है। रागिनी नायक ने माँग की थी कि रजत शर्मा को इस मामले में बिना शर्त माफी माँगनी चाहिए। हालांकि रागिनी नायक के आरोपों को इंडिया टीवी ग्रुप ने खारिज किया था। यही नहीं चैनल की ओर से नायक और कॉन्ग्रेस नेताओं पवन खेड़ा और जयराम रमेश को चेतावनी दी गई थी कि वे अपने आरोप वापस ले लें। कॉन्ग्रेस नेताओं की ओर से आरोप वापस न लिए जाने के बाद अब मानहानि का केस किया गया है।

बता दें कि सोमवार (10 जून 2024) को कॉन्ग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक ने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर आरोप लगाया कि रजत शर्मा ने लाइव डिबेट के दौरान उनके साथ गाली-गलौज की। उन्होंने ट्वीट किया, “पत्रकारिता में इससे ज़्यादा घटिया और क्या हो सकता है? रजत शर्मा, क्या आपके पास कोई जवाब है?” हालाँकि इसके बाद इंडिया टीवी की लीगल हेड ने रागिनी नायक और अन्य कॉन्ग्रेसी नेताओं को चेतावनी दी थी, लेकिन अब कानूनी कार्रवाई के लिए रजत शर्मा कोर्ट पहुँच चुके हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -