Wednesday, July 24, 2024
HomeराजनीतिCAA का विरोधी, बाइडन का खास: गार्सेटी के US राजदूत नियुक्त होने पर विदेश...

CAA का विरोधी, बाइडन का खास: गार्सेटी के US राजदूत नियुक्त होने पर विदेश मंत्री ने दिया जवाब, कहा- ‘भारत आने दीजिए…प्यार से समझा देंगे’

एस जयशंकर ने यह भी कहा है कि अगर कोई पाकिस्तान में रहने वाला हिंदू है और वहाँ उसका उत्पीड़न किया गया है। ऐसी स्थिति में वह भारत ही आएगा और कहाँ जाएगा? यह एक ऐसी सच्चाई है, जिसे हर कोई जानता है। उन्होंने आगे कहा है कि एरिक गार्सेटी को यहाँ आने दीजिए उन्हें, प्यार से समझा देंगे।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन के करीबी कहे जाने वाले एरिक गार्सेटी (Eric Garcetti) भारत में अमेरिका के राजदूत होंगे। गार्सेटी ने भारत में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) लागू होने की खिलाफ की थी। उनकी नियुक्ति को लेकर विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) से सवाल पूछा गया। इस पर उन्होंने कहा है कि उन्हें भारत आने दीजिए उन्हें, प्यार से समझा देंगे।

विदेश मंत्री एस जयशंकर को इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में आमंत्रित किया गया था। इस कार्यक्रम में बात करते हुए उनसे नागरिकता संशोधन कानून को लेकर एरिक गार्सेटी के बयान पर सवाल पूछा गया था। इसके जवाब में विदेश मंत्री ने कहा कि नागरिकता के लिए दुनिया के अलग-अलग देशों में अलग-अलग मानदंड हैं। यदि यूरोप को देखा जाए तो वहाँ जर्मनी के लोगों को आसानी से नागरिकता मिल जाती है।

एस जयशंकर ने यह भी कहा है कि अगर कोई पाकिस्तान में रहने वाला हिंदू है और वहाँ उसका उत्पीड़न किया गया है। ऐसी स्थिति में वह भारत ही आएगा और कहाँ जाएगा? यह एक ऐसी सच्चाई है, जिसे हर कोई जानता है। उन्होंने आगे कहा है कि एरिक गार्सेटी को यहाँ आने दीजिए उन्हें, प्यार से समझा देंगे।

बता दें कि साल 2021 में गार्सेटी ने अमेरिकी संसद को संबोधित करते हुए कहा था कि यदि उन्हें भारत में राजदूत नियुक्त किया जाता है तो वह वह नागरिकता संशोधन कानून को लेकर कथित मानवाधिकारों के मुद्दों को उठाएँगे।

जो बायडेन के वफादार गार्सेटी…

एरिक गार्सेटी को अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन का बेहद करीबी और वफादार माना जाता है। साल 2013 में लॉस एंजिल्स के मेयर चुने गए थे। इसके बाद लगातार 9 साल तक वह मेयर रहे। लॉस एंजिल्स को 2028 के ओलंपिक शहर के रूप में चुने जाने में भी उनकी अहम भूमिका मानी जाती है। उनके ऊपर यौन उत्पीड़न के आरोपित पर सही तरीके से कार्रवाई न करने तथा मेयर रहते हुए भ्रष्टाचार करने का आरोप लग चुका है।

विदेश मंत्री की चीन को खरी-खरी

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भारत और चीन के मौजूदा संबंधों को लेकर भी बात की। उन्होंने माना है कि दोनों देशों के बीच आपसी संबंध चुनौतीपूर्ण स्थिति में हैं। उन्होंने चीन को फटकार लगाते हुए कहा है कि समझौतों का उल्लंघन करके कोई यह नहीं दिखा सकता कि सब कुछ सामान्य है। पहले जो समझौते हुए, उनका चीन ने उल्लंघन किया। भारत साफ कर चुका है कि किसी भी प्रकार के समझौतों का उल्लंघन नहीं नहीं सहा जाएगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -