Friday, May 24, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयगेट तोड़ा-घर घेरा, लेकिन डरे नहीं दंपति, 300 दंगाइयों के सामने हैंडगन और रायफल...

गेट तोड़ा-घर घेरा, लेकिन डरे नहीं दंपति, 300 दंगाइयों के सामने हैंडगन और रायफल लेकर खड़े रहे: Video

मार्क और पेट्रीसिया प्रदर्शनकारियों को उनकी हवेली से बाहर निकलने के लिए कह रहे थे और हथियारों की मदद से वो उन्हें दूर रखने की कोशिश कर रहे थे। वीडियो में मार्क को दंगाइयों को चेतावनी देते हुए देखा जा सकता है। इसके बाद प्रदर्शनकारियों को “Let’s go” और “Keep moving" बोलते हुए सुना जा सकता है।

अमेरिका के सेंट लुइस में जब ‘शांतिप्रिय’ प्रदर्शनकारियों ने एक हवेली को घेर लिया तो हैंडगन और रायफल लेकर घर वाले बाहर ही खड़े मिले। इसका एक वीडियो भी वायरल हो रहा है। इसमें दंपति अपने घर को बचाने के लिए रायफल और हैंडगन ताने हुए दिखाई दे रहे हैं।

डेली मेल के मुताबिक वीडियो में जो दंपति दिख रहे हैं, पेशे से दोनों वकील हैं। पति का नाम मार्क और पत्नी का नाम पेट्रीसिया मैकक्लोस्की बताया जा रहा है। यह घटना रविवार (जून 28, 2020) शाम करीब 6 बजे की है। जब ‘ब्लैक लाइव्स मैटर्स’ दंगाइयों ने हवेली को घेर लिया। दंपती ने भी अपने घर को बचाने के लिए कमर कस ली और उन्हें बंदूक के निशाने पर लिया।

मार्क और पेट्रीसिया प्रदर्शनकारियों को उनकी हवेली से बाहर निकलने के लिए कह रहे थे और हथियारों की मदद से वो उन्हें दूर रखने की कोशिश कर रहे थे। वीडियो में मार्क को दंगाइयों को चेतावनी देते हुए देखा जा सकता है। इसके बाद प्रदर्शनकारियों को “Let’s go” और “Keep moving” बोलते हुए सुना जा सकता है।

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ‘ब्लैक लाइव्स मैटर्स’ दंगाई सेंट लुइस के मेयर लिडा क्रूसन के घर की ओर उनसे इस्तीफा माँगने के लिए जा रहे रहे थे। इसी दौरान वो लोग इस दंपति के घर में घुस गए, जिसके बाद इस तरह की स्थिति उत्पन्न हो गई। उन लोगों ने एक गेट को तोड़ दिया। इस दौरान दंपति ने लगभग 300 प्रदर्शनकारियों के समूह का सामना किया।

अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या के बाद वहाँ ‘ब्लैक लाइव्स मैटर्स’ नाम का प्रोटेस्ट शुरू हुआ, जिसके कारण वहाँ भीषण दंगे हुए। इन दंगों की आग यूरोप में भी कई देशों तक पहुँची। इस दौरान कई जगह आगजनी, हिंसा और लूटपाट की घटनाएँ भी सामने आई। बुधवार (4 मई, 2020) को प्रदर्शनकारियों ने अमेरिका के वॉशिंगटन में भारतीय दूतावास के सामने लगी गाँधी जी की प्रतिमा को नुकसान पहुँचाया था। वहीं ‘ब्लैक लाइव्स मैटर्स’ के प्रदर्शनकारियों ने लंदन के वेम्ब्ले के ईलिंग रोड में स्थित मीरा नाम की एक भारतीय महिला के रेस्टॉरेंट पर हमला बोल दिया था। 

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -