Wednesday, December 8, 2021
Homeरिपोर्टमीडियाधोखाधड़ी कर कब्जाए 40000 शेयर्स: अभिनेता और TV9 के CEO ने मिल कर रची...

धोखाधड़ी कर कब्जाए 40000 शेयर्स: अभिनेता और TV9 के CEO ने मिल कर रची थी साज़िश

शिवाजी ने अदालत को बताया कि उन्होंने TV9 के सीईओ रहे रवि प्रकाश को 40,000 कम्पनी के शेयर्स ख़रीदने के लिए 20 लाख रुपए दिए थे। पुलिस का मानना है कि...

हैदराबाद के राजीव गाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर टॉलीवुड अभिनेता शिवाजी को हिरासत में ले लिया गया। शिवजी पर TV9 के सीईओ के साथ मिल कर वित्तीय धोखाधड़ी करने का आरोप है। उन पर आरोप है कि उन्होंने TV9 के तत्कालीन सीईओ रवि प्रकाश के साथ मिल कर बोगस डॉक्यूमेंट्स बनाए और फिर उसके आधार पर शेयर्स की ख़रीद-बेच में गड़बड़ियाँ की। जब गिरफ्तारी हुई, उस वक्त अभिनेता शिवाजी एक सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए अमेरिका जा रहे थे।

हालाँकि, उनके ख़िलाफ़ लुकआउट नोटिस जारी होने के कारण एयरपोर्ट पर उन्हें हिरासत में ले लिया गया और बाद में उन्हें साइबराबाद पुलिस को सौंप दिया गया। साइबर क्राइम पुलिस ने उन्हें छोड़ने से पहले 2 घंटे तक पूछताछ की। इस मामले में आगे की जाँच के लिए अभिनेता शिवाजी को 11 जुलाई को फिर से पुलिस के समक्ष पेश होने को कहा गया है।

अभिनेता शिवाजी और TV9 के तत्कालीन सीईओ रवि प्रकाश धोखाधड़ी के इस मामले में मुख्य साज़िशकर्ता हैं और उन पर आरोप है कि दोनों ने फ़र्ज़ी काग़ज़ातों के आधार पर TV9 के 40,000 शेयर्स पर कब्ज़ा कर लिया। अलांदा मीडिया एंटरटेनमेंट ग्रुप ने दोनों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कराया है, जिसमें उन पर वित्तीय धोखाधड़ी के आरोप लगाए गए हैं। अलांदा ही TV9 की संचालक कम्पनी है। अभिनेता शिवाजी को पिछले कुछ महीनों में 3 बार पुलिस ने समन किया लेकिन वह एक बार भी पुलिस के समक्ष पेश नहीं हुए थे।

इसके बाद उनके ख़िलाफ़ लुकआउट नोटिस जारी किया गया। हाल ही में उन्होंने अपने ऊपर लगे एफआईआर को रद्द करने के लिए तेलंगाना हाईकोर्ट का रुख किया था। शिवाजी ने अदालत को बताया कि उन्होंने TV9 के सीईओ रहे रवि प्रकाश को 40,000 कम्पनी के शेयर्स ख़रीदने के लिए 20 लाख रुपए दिए थे। पुलिस का मानना है कि शिवाजी को रवि प्रकाश द्वारा ही खड़ा किया गया था ताकि वे कम्पनी के मैनेजमेंट में मनमाफिक बदलाव कर सकें।

इसके बाद रवि प्रकाश को TV9 के सीईओ पद से हटा दिया गया। अदालत उन्हें गिरफ़्तारी से राहत प्रदान कर चुकी है और 9 जुलाई से पहले उनके ख़िलाफ़ किसी प्रकार की कार्रवाई करने पर रोक लगा दी थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

प्रिंसिपल-शिक्षक करते थे 10वीं की छात्रा से गैंगरेप, महिला टीचर बनाती थी वीडियो: राजस्थान के स्कूल की घटना

संबंधित थाना प्रभारी ने बताया कि स्कूल के प्रिंसिपल समेत अन्य शिक्षकों के खिलाफ चार नाबालिग छात्राओं ने मामले दर्ज कराए हैं।

कोरोना काल में ₹42 लाख का क्रिकेट मैच… खिलाड़ी झारखंड के ‘माननीय’ MLA लोग, मैन ऑफ द मैच खुद CM सोरेन

कोरोना महामारी के दौरान 42 लाख रुपए का क्रिकेट मैच खेल लिया झारखंड के विधायकों ने। मैन ऑफ द मैच खुद बने मुख्यमंत्री सोरेन।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
142,284FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe