Monday, November 30, 2020
Home रिपोर्ट मीडिया AltNews की नई करतूत: अलीगढ़ मामले में SSP के नाम से छापे झूठे...

AltNews की नई करतूत: अलीगढ़ मामले में SSP के नाम से छापे झूठे बयान

AltNews ने शायद अपने प्रोपेगेंडा और अपनी धूर्तता से विवश होकर सोशल मीडिया फैक्ट चेक के नाम पर इस पूरे मामले की गंभीरता को कम करके दिखाने की कोशिश की, क्योंकि यहाँ आरोपित दूसरे मजहब से थे और यह घटना रमजान के पाक महीने में हुई थी।

स्वघोषित फैक्ट चेकिंग पोर्टल AltNews ने अलीगढ़ में ढाई साल की मासूम बच्ची के जघन्य मर्डर केस में न सिर्फ मुख्य आरोपित ज़ाहिद, असलम के पापों को धुलने की कोशिश की, बल्कि अपने इस मुहीम को आगे बढ़ाने के लिए अलीगढ़ के एसएसपी आकाश कुल्हारी के स्टेटमेंट को भी गलत तरीके से ट्विस्ट देकर प्रस्तुत किया।

स्वघोषित फैक्ट-चेकर AltNews ने, जो कि खालीपन में चुटकुलों और मीम्स का भी फैक्ट चेक कर डालता है, ज़ाहिद और असलम के अपराधों को धोने-सुखाने के कुछ ज़्यादा तेजी से प्रयास किए और क्लेम कर दिया कि कोई रेप नहीं हुआ है। इसे साबित करने का आधार इन्होनें यह निकाला कि ऐसा उत्तर-प्रदेश पुलिस के कुछ अधिकारियों का वैसा कहना है।

6 जून को प्रकाशित अपने रिपोर्ट में AltNews ने SSP आकाश कुल्हारी को कोट करते हुए लिखा-

“एसएसपी अलीगढ़ के मुताबिक पीड़िता का रेप नहीं हुआ है, पोस्ट मार्टम रिपोर्ट के अनुसार गला घोंटने से उसकी हत्या हुई है। सोशल मीडिया पर जो दावा किया जा रहा है कि उसकी आँखें बाहर आ गई थी और उसकी बाँह उखड़ी हुई थी, भी गलत है। उसके शरीर पर एसिड डाला गया था यह भी गलत है, ऐसा कुछ नहीं हुआ था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट पीड़िता के परिवार से भी साझा किया गया है।”

ऑपइंडिया ने घटना के बाद से ही एसएसपी से बात करने की कोशिश की और आज जब उनसे संपर्क हुआ तो AltNews के झूठ की कई और परतें खुल गई। हालाँकि, ऑपइंडिया ने पहले भी कई बार AltNews को बेनकाब किया है और AltNews के अलीगढ़ वाली रिपोर्ट और फैक्ट चेक का भी हमने फैक्ट चेक कर उनके अजेंडे का खुलासा किया था। इसी घटना के सम्बन्ध में जब ऑपइंडिया ने एसएसपी आकाश कुल्हारी से बात की तो उन्होंने साफ कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रेप हुआ या नहीं ऐसा कोई दावा नहीं किया गया। उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस ने अभी दो हॉस्पिटल को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट भेजी है, इस रिपोर्ट पर अपनी विस्तृत रिपोर्ट देने के लिए।

ऑपइंडिया ने एसएसपी आकाश कुल्हारी से यह भी पूछा कि क्या उन्होंने AltNews को कोई ऐसा स्टेटमेंट दिया था जिसमें यह दावा हो कि पीड़िता बच्ची की आँख बाहर नहीं निकली थी या उसकी बाँह उखड़ी हुई नहीं थी? एसएसपी कुल्हारी ने ऐसे किसी भी बयान से इनकार किया जो उनके नाम से AltNews ने ऊपर कोट किया है।

(नीचे दिए गए यूट्यूब लिंक पर आप एसएसपी आकाश कुल्हारी से हमारी बातचीत सुन सकते हैं)

ऑपइंडिया: सर, There is a website called AltNews where they have quoted you… कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में लिखा है कि रेप नहीं हुआ है ?

SSP कुल्हारी : नहीं, ऐसा मैंने कुछ नहीं कहा

ऑपइंडिया: विक्टिम की जो आँखे gouged की थी, amputation of right arm क्या ऐसा नहीं है कुछ पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में ?

SSP कुल्हारी: रिपोर्ट में ऐसा लिखा हुआ है

ऑपइंडिया : तो क्या उन्होंने आपको गलत कोट किया ?

SSP कुल्हारी : Yes, obviously. I think so.

एसएसपी कुल्हारी ने इस घटना के सम्बन्ध में यह भी कहा कि अगले 3-4 दिन में नए अपडेट्स आएँगे।

यहाँ यह साफ देखा जा सकता है कि कैसे AltNews ने ज़ाहिद और असलम के अपराध को कम करके दिखाने के लिए, स्वघोषित फैक्ट चेकर होते हुए भी तथ्यों से छेड़छाड़ की। झूठ का पर्दाफाश करने का झूठा दावा करने वाली AltNews जैसी वेबसाइट खुद ही एसएसपी के नाम से भी झूठ परोसती नज़र आ रही है।

AltNews ने यहाँ तक दावा कर दिया था कि Opindia की इस घटना पर पहली रिपोर्ट जिसमें बच्ची के शरीर के क्षत होने और बर्बरता की बात कही गई थी ‘फेक’ है। यहाँ उनका पूरा दावा इस आधार पर था कि आँख बाहर नहीं आई थी। जिसके बारे में हमनें डॉक्टर से बात की जिन्हे हमने पोस्टमार्टम रिपोर्ट दिखाया था। उन्होंने साफ कहा और यहाँ तक कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी यही कह रही है कि आँखे भी क्षतिग्रस्त थी।


अलीगढ़ मामले में AltNews की रिपोर्ट से


AltNews के रिपोर्ट जिसका टाइटल था, “Murder of a child in Aligarh: Fact-checking social media claims”, जिसमें AltNews ने दावा किया था कि OpIndia ने ‘झूठा दावा’ किया है कि पीड़िता की आँख बाहर आ गई थी। जिसके लिए झूठ इम्प्लान्ट करने का ठेका लेने वाले फैक्ट चेकर ने एसएसपी आकाश कुल्हारी के नाम से कुछ दावे भी किए जबकि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में साफ मेंशन है कि ‘eye tissue absent, orbital socket intact’.


अलीगढ़ मामले की पोस्ट मार्टम रिपोर्ट (image courtesy: journalist @anjanaomkashyap on Twitter)

ऑपइंडिया ने इस पोस्टमार्टम रिपोर्ट को कई डॉक्टरों को दिखाया। उन्होंने बताया कि बच्ची की मौत उसे लगने वाली कई गंभीर चोटों की वजह से हुई है। एक डॉक्टर ने यह भी स्पष्ट किया, “जख्म इतने गहरे और घातक हैं कि उससे शॉक और मौत निश्चित है। शॉक की पुष्टि वेसल्स के कोलैप्स होने से हो जाती है (ऐंटेमार्टम साइन) मृत्यु से पहले बहुत ज़्यादा ब्लड लॉस भी हुआ था।”

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर डॉक्टर्स का कहना है, “सबसे महत्पूर्ण बात यहाँ यह है कि उस बच्ची के गर्भाशय और जेनिटल सहित एब्डॉमिनल ऑर्गन भी गायब हैं। जो इस बात का सबूत है कि उसे वीभत्स तरीके से टार्चर किया गया था जिससे उसकी शरीर से अत्यधिक रक्तस्राव हुआ हो और जो उसके ब्लड वेसेल्स के कोलैप्स होने की वजह भी हो। बाकी दूसरे घातक जख्म, जैसे पाँव का घुटने के नीचे से फैक्चर होना और हाथ की एक हड्डी ह्यूमरस का उखड़ जाना, का वर्णन ही बर्बरता की पूरी कहानी कह रहा है। रेप की पुष्टि के लिए हालाँकि वेजाइनल स्वैब जाँच के लिए भेजा गया है लेकिन बॉडी डिकम्पोज होने की वजह से शायद ही इस जाँच के लिए उपयोगी हो। वैसे यहाँ यह जानना ज़रूरी है कि स्वैब का परिणाम नेगेटिव आना सेक्सुअल एक्ट के न होने का सबूत होता है।”

डॉक्टर ने आगे कहा, “उसकी दाहिने भुजा की हड्डी का उखड़ना और बाएँ पाँव का फ्रैक्चर निश्चित रूप से उसके मौत के पहले की घटना है। उसके एब्डॉमिनल अंगों का गायब होना भी उसके साथ हुई बर्बरता का सबूत है।”

यहाँ गौरतलब है कि ऐसे स्वघोषित एक्टिविस्ट के लिए पुलिस का स्टेटमेंट ही अंतिम सत्य की तरह है क्योंकि यह इनके एजेंडे और नैरेटिव को आगे बढ़ा रहा है। यदि इनके एजेंडे को शूट नहीं कर रहा है तो यह गिरोह कोर्ट के निर्णय को भी मानने से इनकार कर देगा। AltNews के इसी तर्क से सवाल यहाँ यह भी है कि क्या AltNews के संस्थापक इशरत जहाँ के मामले में यह स्वीकार सकते हैं कि वह एक आतंकी थी क्योंकि कई पुलिस वालों ने ऐसा कहा है। हम सब को उनका जवाब पता है।

दूसरे आरोपित असलम को भी AltNews ने बचाने की कोशिश की थी, जिस पर पहले से अपनी बेटी और एक और बच्ची के साथ रेप का आरोप है। उसे पहले भी पॉक्सो के तहत गिरफ्तार किया जा चुका है।

हालाँकि, AltNews ने सोशल मीडिया पर लम्बी फजीयत के बाद और पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट से उसके हर झूठ की कलई खुलने के बाद, AltNews ने अपनी ऑरिजिनल रिपोर्ट को अपडेट किया, यह कहते हुए कि हमने एक बार फिर एसएसपी आकाश कुल्हारी से संपर्क किया, जिन्होंने कन्फर्म किया कि हाँ, बच्ची की बाँह उखड़ी हुई थी। सिर्फ इतना जिक्र कर भी AltNews ने उस क्रूरता से इनकार ही किया जिसका जिक्र पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में है।

अब यहाँ आश्चर्य की बात यह है कि जब एसएसपी खुद ही इनकार कर रहे हैं तो फैक्ट चेकर ने जब जज बनकर पूरी घटना की गंभीरता को कम करना चाहा और सारे निष्कर्ष बिना किसी परिणाम के थोप दिए तो आखिर वह अपने उस निर्णय तक पहुँचे कैसे? ना सही स्टेटमेंट और न ही पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट? क्या महज अजेंडा सेटिंग ही नहीं था वह फैक्ट चेक क्योंकि यहाँ आरोपित दूसरे मजहब है और पीड़िता एक हिन्दू?

इस पूरे प्रकरण से कई और सवाल उभर कर सामने आते हैं–

  1. AltNews ने सोशल मीडिया पर अफवाहों के फैक्टचेक के लिए पुलिस के बयान पर ज़्यादा यकीन किया बनिस्बत पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के।
  2. AltNews अपने एक पॉइंट को सिद्ध करने के लिए पुलिस अधिकारी का ट्विस्टेड बयान का प्रयोग किया न कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का।
  3. AltNews ने यहाँ मात्र अपने अजेंडा सेटिंग के लिए तथ्यों की जगह अपनी कल्पनाओं और झूठ का प्रयोग कर आरोपितों के अपराध को कम कर दिखाना चाहा।
  4. AltNews को यह भी नहीं पता कि प्राइमरी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट क्या होती है। जिसमे इस बात का जिक्र नहीं होता कि रेप हुआ है या नहीं। वास्तव में पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट या ऑटोप्सी केवल यह पता करने के लिए होता है कि मौत का कारण क्या था और जख्मों की विस्तृत जाँच पड़ताल की जाती है जो मृत्यु की वजह बने। ऑपइंडिया ने जब इस सम्बन्ध में डॉक्टर से बात की तो उन्होंने बताया कि रेप की पुष्टि वजाइनल स्वैब की रिपोर्ट आने के बाद ही होती है। अलीगढ़ मामले में भी अभी तक रिपोर्ट का इंतज़ार है जिसमें आमतौर पर 1 सप्ताह से 1 महीने तक का भी समय लग सकता है। प्राइमरी रिपोर्ट वास्तव में अंतिम निष्कर्ष नहीं होती।
  5. AltNews ने शायद अपने प्रोपेगेंडा और अपनी धूर्तता से विवश होकर सोशल मीडिया फैक्ट चेक के नाम पर इस पूरे मामले की गंभीरता को कम करके दिखाने की कोशिश की, क्योंकि यहाँ आरोपित दूसरे विशेष मजहब से थे और यह घटना रमजान के पाक महीने में हुई थी।

इतनी सारी विसंगतियों को देखते हुए अब तो AltNews को कायदे से मेमे चेक करने के व्यवसाय में आ जाना चाहिए क्योंकि गंभीर और अतिसंवेदनशील मसले में फैक्ट चेक के नाम पर टाँग घुसा कर पाठकों को गुमराह करना भी गुनाह है। लेकिन, क्या करें AltNews! अजेंडा और प्रोपेगेंडा भी तो कोई चीज होती है और उसके बल जब फैक्ट चेक एक धंधा बन जाए तो सत्य के प्रति जिम्मेदारी हमारी-आपकी और बढ़ जाती है। ऑपइंडिया अपनी सत्य के प्रति प्रतिबद्धता हर बार ऐसे छद्म स्वघोषित फैक्ट चेकरों को बेनकाब कर करेगी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘झूठ फैलाना कुछ लोगों का पेशा’: PM मोदी ने कहा- विरोध का आधार फैसला नहीं, बल्कि आशंकाओं को बनाया जा रहा है

वाराणसी से किसानों को भरोसा दिलाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कृषि बिलों पर दुष्प्रचार किया जा रहा है।

किसान कहीं भी डायरेक्ट बेचे Vs किसान खेत के बाहर कैसे बेचेगा: 6 साल में वीडियो से समझें राहुल गाँधी की हालत

अप्रैल 2014 में राहुल गाँधी ने 'नेटवर्क 18' के अशीत कुणाल के साथ इंटरव्यू में कृषि और किसान पर बात की थी। आज वो कृषि कानून के विरोध में हैं।

गोलियों से भूना, मन नहीं भरा तो बम विस्फोट किया: 32 परिवारों के खून से अबोहर में खालिस्तानियों ने खेली थी होली

पूरी घटना में 22 लोग मौके पर खत्म हो गए, 10 ने अस्पताल में दम तोड़ा, कइयों ने पसलियाँ गँवा दीं, कुछ की अंतड़ियाँ बाहर आ गईं, किसी के पाँव...

केरल का सिंह, जिससे काँपते थे टीपू और ब्रिटिश: अंग्रेजों ने बताया स्वाभाविक सरदार, इतिहासकारों ने नेपोलियन से की तुलना

केरल में उन्हें सिंह कहा जाता है। इतिहासकार उनकी तुलना नेपोलियन से करते हैं। दुश्मन अंग्रेजों ने उन्हें 'स्वाभाविक नेता' बताया। मैसूर की इस्लामी सत्ता उनसे काँपती थी।

जिस गर्भवती महिला के पेट में लात मारी थी वामपंथी नेता ने, अब वो BJP के टिकट पर लड़ रहीं चुनाव

ज्योत्स्ना जोस ने बीच-बचाव करना चाहा तो उनके हाथ बाँध दिए गए और मारने को कहा गया। उनके पेट पर हमला करने वालों में एक CPIM नेता...

जो बायडेन की टीम में एक और भारतीय: नीरा टंडन को बजट प्रबंधन की जिम्मेदारी मिलनी तय, बनेंगी OMB की निदेशक

प्रशासन के बजट का पूरा प्रबंधन OMB ही देखता है। 50 वर्षीय नीरा टंडन इस पद को संभालने वाली पहली महिला होंगी। जो बायडेन जल्द करेंगे घोषणा।

प्रचलित ख़बरें

दिवंगत वाजिद खान की पत्नी ने अंतर-धार्मिक विवाह की अपनी पीड़ा पर लिखा पोस्ट, कहा- धर्मांतरण विरोधी कानून का राष्ट्रीयकरण होना चाहिए

कमलरुख ने खुलासा किया कि कैसे इस्लाम में परिवर्तित होने के उनके प्रतिरोध ने उनके और उनके दिवंगत पति के बीच की खाई को बढ़ा दिया।

‘बीवी सेक्स से मना नहीं कर सकती’: इस्लाम में वैवाहिक रेप और यौन गुलामी जायज, मौलवी शब्बीर का Video वायरल

सोशल मीडिया में कनाडा के इमाम शब्बीर अली का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें इस्लाम का हवाला देते हुए वह वैवाहिक रेप को सही ठहराते हुए देखा जा सकता है।

‘जय हिन्द नहीं… भारत माता भी नहीं, इंदिरा जैसा सबक मोदी को भी सिखाएँगे’ – अमानतुल्लाह के साथ प्रदर्शनकारियों की धमकी

जब 'किसान आंदोलन' के नाम पर प्रदर्शनकारी द्वारा बयान दिए जा रहे थे, तब आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक अमानतुल्लाह खान वहीं पर मौजूद थे।

मंदिर में जबरन घुस गया मंजूर अली, देवी-देवताओं और पुजारियों को गाली देते हुए किया Facebook Live

मंदिर के पुजारियों और वहाँ मौजूद लोगों ने मंजूर अली को रोकने का प्रयास किया, तब उसने उन लोगों से भी गाली गलौच शुरू कर दिया और...

दिल्ली दंगों के दौरान मुस्लिमों को भड़काने वाला संगठन ‘किसान’ प्रदर्शनकारियों को पहुँचा रहा भोजन: 25 मस्जिद काम में लगे

UAH के मुखिया नदीम खान ने कहा कि मोदी सरकार के खिलाफ आंदोलन कर रहे लोगों को मदद पहुँचाने के लिए हरसंभव प्रयास किया जा रहा है।

साग खोंट रही दलित ‘प्रीति साहनी’ को अपने पास बुलाया, फिर गला रेत मार डाला: सैयद को UP पुलिस ने किया अरेस्ट

उत्तर प्रदेश के बलिया में अपने ननिहाल गई दलित समुदाय की एक युवती की मुस्लिम समुदाय के एक युवक सैयद ने हत्या कर दी। आरोपित हुआ गिरफ्तार।

‘झूठ फैलाना कुछ लोगों का पेशा’: PM मोदी ने कहा- विरोध का आधार फैसला नहीं, बल्कि आशंकाओं को बनाया जा रहा है

वाराणसी से किसानों को भरोसा दिलाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कृषि बिलों पर दुष्प्रचार किया जा रहा है।

PM मोदी की तारीफ करने वाले सीनियर कॉन्ग्रेसी नेता ने मारी पलटी, कहा – ‘लाइन मिसप्लेस हो गई’

आनंद शर्मा ने कोरोना की वैक्सीन बना रही कंपनी में किए जा रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दौरे को लेकर एक ट्वीट किया था। इस ट्वीट में...

अजान पाठ करवाएगी शिवसेना: पार्टी नेता ने महाआरती के समान बताया, कहा- यह अद्भुत और मनभावन

उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना ने ‘अज़ान पाठ प्रतियोगिता’ का आयोजन करने का फैसला किया है। इसकी घोषणा शिवसेना दक्षिण मुंबई डिवीजन के प्रमुख पांडुरंग सकपाल ने की।

हैदराबाद चुनावों से पहले ओवैसी ने खुद को बताया ‘लैला’, बिहार चुनावों के बाद कहा था- फँस गई रजिया गुंडो में

हैदराबाद निकाय चुनावों से पहले असदुद्दीन ओवैसी ने अजीबोगरीब बयान देते हुए खुद को कई मजनू से घिरी लैला बताया है।

AAP की कैंडिडेट या पानी की बोतल: हैदराबाद निकाय चुनावों में आसरा फातिमा की बुर्के वाली पोस्टर वायरल

हैदराबाद निकाय चुनाव में AAP की उम्मीदवार आसरा फातिमा का एक पोस्टर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें वह पहचान में ही नहीं आ रहीं।

गाने पर मेरे समुदाय के लोग मुझे दुत्कारते थे: सितारा परवीन ने इंडियन आइडल में बताया, खानदान के लोगों ने भी नहीं दिया साथ

बिहार के एक छोटे से गाँव से आई इंडियन आइडल की सितारा परवीन ने अपने संघर्षों पर बात करते हुए बताया है कि कैसे उन्हें समुदाय का विरोध झेलना पड़ा।

किसान कहीं भी डायरेक्ट बेचे Vs किसान खेत के बाहर कैसे बेचेगा: 6 साल में वीडियो से समझें राहुल गाँधी की हालत

अप्रैल 2014 में राहुल गाँधी ने 'नेटवर्क 18' के अशीत कुणाल के साथ इंटरव्यू में कृषि और किसान पर बात की थी। आज वो कृषि कानून के विरोध में हैं।

13 साल की बच्ची, 65 साल का इमाम: मस्जिद में मजहबी शिक्षा की क्लास, किताब के बहाने टॉयलेट में रेप

13 साल की बच्ची मजहबी क्लास में हिस्सा लेने मस्जिद गई थी, जब इमाम ने उसके साथ टॉयलेट में रेप किया।

गोलियों से भूना, मन नहीं भरा तो बम विस्फोट किया: 32 परिवारों के खून से अबोहर में खालिस्तानियों ने खेली थी होली

पूरी घटना में 22 लोग मौके पर खत्म हो गए, 10 ने अस्पताल में दम तोड़ा, कइयों ने पसलियाँ गँवा दीं, कुछ की अंतड़ियाँ बाहर आ गईं, किसी के पाँव...

‘हिंदू लड़की को गर्भवती करने से 10 बार मदीना जाने का सवाब मिलता है’: कुणाल बन ताहिर ने की शादी, फिर लात मार गर्भ...

“मुझे तुमसे शादी नहीं करनी थी। मेरा मजहब लव जिहाद में विश्वास रखता है, शादी में नहीं। एक हिंदू को गर्भवती करने से हमें दस बार मदीना शरीफ जाने का सवाब मिलता है।”

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,493FollowersFollow
358,000SubscribersSubscribe