Tuesday, January 31, 2023
Homeरिपोर्टमीडियाभारत का, भारत के लिए समर्पित मीडिया समूह IDMA: ऑपइंडिया, रिपब्लिक समेत 9 ग्रुप...

भारत का, भारत के लिए समर्पित मीडिया समूह IDMA: ऑपइंडिया, रिपब्लिक समेत 9 ग्रुप लगाएँगे विदेशी हस्तक्षेप पर लगाम

मीडिया में विदेशी हस्तक्षेप और नियंत्रण को कम करना इसका उद्देश्य है। विदेशी स्वामित्व से देश के हितों के साथ समझौता होता है और इसे खत्म किया जाना चाहिए। 25+ डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म इससे जुड़ने वाले हैं और...

‘रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क’ और ‘ऑपइंडिया’ सहित 9 मीडिया संस्थानों ने मिल कर ‘इंडियन डिजिटल मीडिया असोसिएशन (IDMA)’ नामक प्लेटफॉर्म का गठन किया है। ये भारत में डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का सबसे बड़ा समूह है। ये भारत के स्वामित्व वाला, भारत का, और भारत के लिए समर्पित मीडिया समूह होगा। इसके सभी संस्थापक सदस्यों के 10 करोड़ यूजर्स हैं और ये सभी ‘इंडिया फर्स्ट’ की थ्योरी पर काम करेंगे।

इसमें रिपब्लिक, ऑपइंडिया, गोवा क्रॉनिकल, OTV डिजिटल, देश गुजरात, असम लाइव, न्यूज एक्स, संडे गार्जियन और इन खबर शामिल हैं। इसके साथ ही 25 से अधिक डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म इससे जुड़ने वाले भी हैं। ऑपइंडिया अंग्रेजी की संपादक नूपुर शर्मा ने इसका स्वागत करते हुए कहा कि डिजिटल मीडिया के पास राष्ट्रीय चर्चाओं को आकार देने की सामर्थ्य है। उन्होंने कहा कि पंचलाइंस और एजेंडा की जगह अब सच्चाई ने ले ली है।

भारतीय इतिहास के इस सबसे बड़े डिजिटल मीडिया समूह IDMA का उद्देश्य न सिर्फ सभी सदस्यों के हितों की रक्षा करना है, बल्कि इससे सम्बद्ध संगठनों से लेकर यूजरों तक से भी संपर्क स्थापित करना है। ये राष्ट्रवादी सिद्धांतों पर काम करेगा और इसके सभी सदस्य भारतीय होंगे, इसमें कोई विदेशी शामिल नहीं होगा। मीडिया में विदेशी हस्तक्षेप और नियंत्रण को कम करना भी इसका उद्देश्य है। समूह ने विदेशी स्वामित्व के खिलाफ सभी सम्पादकों को आगे आने की अपील की है।

लगातार बदलती दुनिया में डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का आगे आने वाली पत्रकारिता को आकार देने में एक बड़ा रोल होगा और इसे राष्ट्रवादी, नैतिक, पारदर्शी, डायनेमिक और भारतीय हितों की रक्षा के सिद्धांत के साथ IDMA को लॉन्च किया गया है। समूह का मानना है कि भारतीय मीडिया में विदेशी स्वामित्व से देश के हितों के साथ समझौता होता है और इसे खत्म किया जाना चाहिए। इससे जनता के ‘राइट टू इन्फॉर्मेशन’ की रक्षा भी करनी है।

रिपब्लिक और ऑपइंडिया सहित ये सभी 9 मीडिया प्लेटफॉर्म्स डिजिटल मीडिया समूह IDMA के संस्थापक सदस्य होंगे। ‘गोवा क्रॉनिकल’ के संपादक सेविओ रोड्रिगुएस ने कहा कि अगले कुछ दिनों में भारत डिजिटल मीडिया की तरफ एक बड़ा शिफ्ट देखने वाला है। उन्होंने कहा कि ‘वाइब्रेंट इंडिया’ की मुख्य आवाज़ के रूप में IDMA का गठन इन मीडिया प्लेटफॉर्म्स के साथ आने से हुआ है, जो ‘डिजिटल मीडिया स्पेस’ को सुरक्षित रखेंगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

9 महीने में GST से ₹13.40 लाख करोड़, 6.5% विकास दर का अनुमान: बजट से पहले मोदी सरकार ने पेश किया आर्थिक सर्वेक्षण

क्रय क्षमता के मामले में भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनकर उभरा है। विनिमय दर के मामले में 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है।

दुबई का 84 किमी इलाका कहलाएगा ‘हिंद सिटी’, इस्लामी मुल्क के PM शेख मोहम्मद ने ‘अल मिन्हाद’ का बदला नाम: क्या भारत से है...

कुछ लोगों ने दावा किया है कि भारतीयों के योगदान को स्वीकार करने के लिए दुबई के इन क्षेत्रों का नाम बदल दिया गया है। हालाँकि, नाम बदलने का कोई कारण नहीं बताया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
243,374FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe