Tuesday, July 16, 2024
Homeरिपोर्टमीडियाअडानी समूह के हुए 'The Quint' के प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर, गौतम अडानी के...

अडानी समूह के हुए ‘The Quint’ के प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर, गौतम अडानी के भतीजे के अंतर्गत करेंगे काम

मजे की बात तो ये है कि 'The Quint' जिस मीडिया गिरोह का हिस्सा है, वो हमेशा से मुकेश अंबानी और गौतम अडानी के खिलाफ लिखता रहा है और अडानी को मोदी का करीबी बताते हुए उनकी आलोचना करता रहा है।

प्रोपेगंडा पोर्टल ‘The Quint’ में बतौर प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर कार्यरत रहे संजय पुगलिया अब अडानी समूह का हिस्सा बन गए हैं। अडानी समूह ने संजय पुगलिया को अपने नए मीडिया वेंचर में बतौर CEO और मुख्य संपादक (Editor In Chief) नियुक्त किया है। डिजिटल, टेलीविजन और प्रिंट में दशकों से काम कर रहे संजय पुगलिया राजनीतिक और बिजनेस पत्रकारिता में सक्रिय रहे हैं

अडानी समूह ने अपने बयान में कहा कि वो वरिष्ठ पत्रकार संजय पुगलिया का स्वागत करते हुए खुश है, जो ‘अडानी इंटरप्राइजेज’ की मीडिया इनिशिएटिव्स में CEO के साथ-साथ मुख्य संपादक का पद संभालेंगे। अडानी समूह ने लिखा कि वो भारत में कई बड़े वेंचर्स का हिस्सा रहे हैं और उन्होंने ‘CNBC Awaaz’ नामक चैनल की स्थापना के बाद 12 वर्षों तक इसका नेतृत्व किया। वो ‘स्टार न्यूज़’ और ‘जी न्यूज़’ का नेतृत्व भी कर चुके हैं।

संजय पुगलिया ‘आज तक’ के संस्थापकों में से एक रहे हैं। प्रिंट में वो ‘नवभारत टाइम्स’ और ‘बिजनेस स्टैण्डर्ड’ का हिस्सा रहे हैं। अडानी समूह ने जानकारी दी कि संजय पुगलिया ने 2000-01 में ऑस्ट्रेलियाई मीडिया संस्थान ‘नाइन नेटवर्क’ के ‘इंडियन JV’ में प्रेजिडेंट के अलावा ‘हेड ऑफ स्ट्रेटेजिक प्लानिंग एंड फिल्म बिजनेस’ का पद संभाला था। अडानी समूह ने लिखा कि उसके उत्पादों की ब्रांडिंग और राष्ट्र निर्माण के लिए संजय पुगलिया का किरदार महत्वपूर्ण होगा।

मजे की बात तो ये है कि ‘The Quint’ जिस मीडिया गिरोह का हिस्सा है, वो हमेशा से मुकेश अंबानी और गौतम अडानी के खिलाफ लिखता रहा है और अडानी को मोदी का करीबी बताते हुए उनकी आलोचना करता रहा है। अडानी की संपत्ति में वृद्धि के लिए वामपंथी व विपक्षी नेताओं के अलावा प्रोपेगंडा पत्रकार भी मोदी सरकार पर उनका समर्थन करने के आरोप लगाते रहे हैं। अब ‘The Quint’ के एडिटोरियल डायरेक्टर ने ही अडानी का रुख कर लिया है। वो प्रणव अडानी को रिपोर्ट करेंगे, जो गौतम अडानी के छोटे भाई विनोद अडानी के बेटे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -