Wednesday, September 22, 2021
Homeरिपोर्टमीडियाशिया विरोधी दंगों की खबर ट्वीट करने पर ट्विटर ने दिया भारतीय सम्पादक को...

शिया विरोधी दंगों की खबर ट्वीट करने पर ट्विटर ने दिया भारतीय सम्पादक को ‘पाकिस्तानी कानून’ वाला नोटिस

‘ऑर्गनाइज़र’ के संपादक प्रफुल्ल केतकर ने ट्विटर पर पाकिस्तान में शिया समुदाय के विरोध में सुन्नी समुदाय के प्रदर्शन से सम्बन्धित एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी। ट्विटर का दावा है कि इसने पाकिस्तान के कानून का उलंघन किया है।

माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर पर विचारधारा को लेकर उसके पूर्वग्रह के कारण अनेकों बार आरोप लगते आए हैं। इस बार ट्विटर ने दक्षिणपंथी पोर्टल ‘ऑर्गनाइज़र’ के संपादक प्रफुल्ल केतकर की एक रिपोर्ट पर यह कहते हुए आपत्ति जताई है कि यह पाकिस्तानी कानून का उलंघन करती है।

दरअसल, ‘ऑर्गनाइज़र’ के संपादक प्रफुल्ल केतकर ने ट्विटर पर पाकिस्तान में शिया समुदाय के विरोध में सुन्नी समुदाय के प्रदर्शन से सम्बन्धित एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी। इस पर प्रफुल्ल केतकर ने एक ट्वीट करते हुए बताया – “दोस्तों, ट्विटर ने मुझे पाकिस्तान में सुन्नियों का शियाओं के खिलाफ विरोध प्रदर्शन की ‘ऑर्गनाइजर’ की एक तथ्यों पर आधारित कहानी शेयर करने के लिए नोटिस भेजा है। ट्विटर का दावा है कि इसने पाकिस्तान के कानून का उलंघन किया है। खुद देखिए और ट्विटर के पूर्वग्रहों पर विचार करिए।”

प्रफुल्ल केतकर ने ऑर्गनाइजर की जो रिपोर्ट शेयर की थी उसका शीर्षक था- “काफिर काफिर शिया काफिर, पाकिस्तान में शिया (समुदाय) का उत्पीड़न जारी है।”

यह रिपोर्ट सितम्बर माह में पाकिस्तान में भड़के शिया विरोधी प्रदर्शनों के सम्बन्ध में है। दरअसल, पाकिस्तान के कराची में हजारों लोग शिया-विरोधी प्रदर्शन के लिए सड़कों पर उतर आए थे। सोशल मीडिया पर लोग इससे जुड़े पोस्ट, फोटो और वीडियो शेयर कर रहे थे। इस दौरान ‘शिया काफिर हैं’ के नारे बुलंद किए गए और आतंकी संगठन सिपाह-ए-सहाबा पाकिस्तान के बैनर लहराए गए। यह संगठन शियाओं की हत्या के लिए ही कुख्यात है।

ऐसे में ट्विटर का एक भारत के नागरिक को पाकिस्तान के नियमों का हवाला देना ट्विटर की कार्यशैली के साथ ही उनकी मंशा पर भी सवाल खड़े करता है। यह ऐसा ही है जैसे स्विट्जरलैंड के कई इलाकों में रात के दस बजने के बाद टॉयलेट में फ्लश करना गैरकानूनी है और यदि भारत में बैठा कोई व्यक्ति ऐसा करता है तो उसे स्विट्जरलैंड के इस कानून का हवाला देकर धमकाया जा रहा हो।

नया नहीं है ट्विटर का दक्षिणपंथ के प्रति पूर्वग्रह

ट्विटर पर ऐसे आरोप कई बार लगते आए हैं जब उन्होंने किसी मजहब विशेष के लिए दक्षिणपंथियों को निशाना बनाया हो। हाल ही में ट्विटर ने लेह की ‘जियो लोकेशन’ जम्मू कश्मीर, पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ़ चाइना में दिखाई थी। यही नहीं, पेरिस में शिक्षक की गला काटकर हत्या करने की घटना की निंदा करने पर ट्विटर ने एक दक्षिणपंथी अकाउंट भी सस्पेंड कर दिया। ट्विटर ने उसे हेट स्पीच करार दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जो कौम अपने इतिहास व परंपराओं को भूला देती है, वह अपने भूगोल की भी रक्षा नहीं कर पाती’: दादरी में CM योगी

सीएम ने कहा, "राजा मिहिर भोज नौंवी सदी के एक महान धर्मरक्षक थे। जो कौम अपने इतिहास व परंपराओं को विस्मृत कर देती है, वह अपने भूगोल की भी रक्षा नहीं कर पाती।''

‘साड़ी स्मार्ट ड्रेस नहीं’- दिल्ली के अकीला रेस्टोरेंट ने महिला को रोका: ‘ओछी मानसिकता’ पर भड़के लोग, वीडियो वायरल

अकीला रेस्टोरेंट के स्टाफ ने महिला से कहा कि चूँकि साड़ी स्मार्ट आउटफिट नहीं है इसलिए वो उसे पहनने वाले लोगों को अंदर आने की अनुमति नहीं देते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,748FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe