Tuesday, July 27, 2021
Homeराजनीतिहोटल में करने वाले थे मीटिंग, पुलिस ने मना कर दिया... अब घर पर...

होटल में करने वाले थे मीटिंग, पुलिस ने मना कर दिया… अब घर पर करेंगे: महबूबा मुफ्ती

पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने बताया कि राजनीतिक पार्टियों ने आज एक होटल में बैठक करने का फ़ैसला लिया, लेकिन पुलिस ने अडवाइजरी जारी की है कि होटल में कोई राजनीतिक बैठक न की जाए। इसलिए जो बैठक होटल में होने वाली थी वो आज शाम 6 बजे मेरे आवास पर बैठक होगी।

जम्मू-कश्मीर के हालात पर जहाँ अफ़रा-तफ़री का माहौल है, वहीं नेताओं और सियासी खेमें में एक अजीब सा बेचैनी का माहौल बना हुआ है। राज्य में 35 हज़ार अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती के बीच एक ही चर्चा निकलकर सामने आ रही है कि आख़िर कश्मीर में क्या होने वाला है। 

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) नेता महबूबा मुफ्ती ने बताया कि राजनीतिक पार्टियों ने आज एक होटल में बैठक करने का फ़ैसला लिया, लेकिन पुलिस ने अडवाइजरी जारी की है कि होटल में कोई राजनीतिक बैठक न की जाए। इसलिए जो बैठक होटल में होने वाली थी वो आज शाम 6 बजे मेरे आवास पर बैठक होगी

केंद्र पर निशाना साधते हुए पीडीपी नेता ने कहा कि हमने इस देश के लोगों समझाने का प्रयास किया था कि अगर 35A या 370 से छेड़छाड़ करेंगे तो इसके क्या परिणाम होंगे। हमने अपील भी की है, लेकिन केंद्र की तरफ से कोई आश्वासन नहीं मिला है। वो ये भी नहीं कह रहे हैं कि सब कुछ ठीक हो जाएगा।

इसके अलावा, महबूबा मुफ़्ती ने मोदी सरकार के ख़िलाफ़ कड़ा रुख़ अख़्तियार करते हुए कहा कि यात्रियों, पर्यटकों और छात्रों को कश्मीर से जाने को कहा गया है, कश्मीरियों को राहत देने की कोशिश नहीं की जा रही है। कहाँ गई इंसानियत, कश्मीरियत और जम्हूरियत?”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

6 साल के जुड़वा भाई, अगवा कर ₹20 लाख फिरौती ली; फिर भी हाथ-पैर बाँध यमुना में फेंका: ढाई साल बाद इंसाफ

मध्य प्रदेश स्थित सतना जिले के चित्रकूट में दो जुड़वा भाइयों के अपहरण और हत्या के मामले में 5 दोषियों को आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई गई है।

‘अपनी मौत के लिए दानिश सिद्दीकी खुद जिम्मेदार, नहीं माँगेंगे माफ़ी, वो दुश्मन की टैंक पर था’: ‘दैनिक भास्कर’ से बोला तालिबान

तालिबान प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने कहा कि दानिश सिद्दीकी का शव युद्धक्षेत्र में पड़ा था, जिसकी बाद में पहचान हुई तो रेडक्रॉस के हवाले किया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,381FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe