Friday, December 3, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षागढ़चिरौली में नक्सलियों से मुठभेड़ में वीरगति को प्राप्त हुए सब-इंस्पेक्टर और कॉन्स्टेबल, तीन...

गढ़चिरौली में नक्सलियों से मुठभेड़ में वीरगति को प्राप्त हुए सब-इंस्पेक्टर और कॉन्स्टेबल, तीन अन्य जवान घायल

पुलिस की घेराबंदी को देख नक्सलियों ने टीम पर फायरिंग फायरिंग शुरू कर दी और फायरिंग की आड़ में मौके से भागने की कोशिश की। इसके बाद जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए नक्सलियों का पीछा किया, लेकिन इसी बीच QRT के पुलिस उपनिरीक्षक धनाजी होमणे और जवान किशोर आत्राम वीरगति को प्राप्त हो गए।

इस बार खबर महाराष्ट्र के गढ़चिरौली से सामने आई है, जहाँ नक्सलियों से हुई मुठभेड़ में एक सब इंस्पेक्टर और कॉन्स्टेबल वीरगति को प्राप्त हो गए। इस मुठभेड़ में तीन जवान गंभीर रूप से घायल हुए हैं। दरअसल, पुलिस की एक टीम ने नक्सलियों के खिलाफ सर्च अभियान शुरू किया था।

खबर के मुताबिक महाराष्ट्र के नक्सल प्रभावित गढ़चिरौली जिले के भामरागढ़ तहसील में रविवार (17 मई, 2020) की सुबह को पुलिस की क्विक रेस्पॉन्स टीम (क्यूआरटी) को भामरागढ़ तहसील के पोरयकोटी-कोरपर्शी जंगलों में नक्सलियों के होने की सूचना मिली थी। इसकी जानकारी मिलते ही पुलिस की क्विक रेस्पॉन्स टीम ने नक्सलियों के खिलाफ सर्च अभियान शुरु कर दिया।

पुलिस की घेराबंदी को देख नक्सलियों ने टीम पर फायरिंग फायरिंग शुरू कर दी और फायरिंग की आड़ में मौके से भागने की कोशिश की। इसके बाद जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए नक्सलियों का पीछा किया, लेकिन इसी बीच QRT के पुलिस उपनिरीक्षक धनाजी होमणे और जवान किशोर आत्राम वीरगति को प्राप्त हो गए। नक्सलियों के साथ चली मुठभेड़ में गंभीर रूप से घायल तीन जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

अधिकारियों का कहना है कि नक्सली मुठभेड़ के बाद पोरयकोटी-कोरपर्शी जंगल में एक बड़ा तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। इसके अलावा इस इलाके में भारी संख्या में सुरक्षाबलों के जवानों को भेजा गया है। अधिकारियों के मुताबिक, जिन जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है उनकी हालत अभी स्थिर बनी हुई है।

आपको बता दें कि इससे पहले छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में 11 मई, 2020 दोपहर को छत्तीसगढ़ आर्म्स फोर्स, डीआरजी और सीआरपीएफ की कुछ टीमें जंगल में नक्सलियों के खिलाफ सर्च अभियान चला रही थी। इसी बीच उरीपाल गाँव के पास जंगलों में छिपे नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी थी। इस हमले में सीआरपीएफ के जवान मुन्ना यादव वीरगति को प्राप्त हो गए।

वहीं छत्तीसगढ़ के राजनांदगाँव जिले में 8 मई, 2020 को नक्सलियों और पुलिस के बीच घंटों चली मुठभेड़ में चार नक्सलियों को ढेर कर मदनवाड़ा थाना प्रभारी सब इंस्पेक्टर श्यामकिशोर शर्मा वीरगति को प्राप्त हो गए थे। पुलिस ने चारों नक्सलियों के शवों को बरामद कर उनके पास से बड़ी मात्रा में हथियार बरामद किए थे। बरामद किए गए चार नक्सलियों के शवों में दो महिलाओं के शव भी शामिल थे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सियासत होय जब ‘हिंसा’ की, उद्योग-धंधा कहाँ से होय: क्या अडानी-ममता मुलाकात से ही बदल जाएगा बंगाल में निवेश का माहौल

एक उद्योगपति और मुख्यमंत्री की मुलाकात आम बात है। पर जब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हों और उद्योगपति गौतम अडानी तो उसे आम कैसे कहा जा सकता?

पाकिस्तानी मूल की ऑस्ट्रेलियाई सीनेटर मेहरीन फारुकी से मिलिए, सुनिए उनकी हिंदू घृणा- जानिए PM मोदी से उनको कितनी नफरत

मेहरीन फारूकी ने ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के अच्छे दोस्त PM नरेंद्र मोदी को घेरने के बहाने संघीय सीनेट में घृणा के स्तर तक उतर आईं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,299FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe