Saturday, September 26, 2020
Home रिपोर्ट राष्ट्रीय सुरक्षा 'गोली का सामना करना जानते हैं?' - जिस IAF ऑफिसर ने शुरू किया लद्दाख...

‘गोली का सामना करना जानते हैं?’ – जिस IAF ऑफिसर ने शुरू किया लद्दाख एयरस्ट्रिप, कॉन्ग्रेसी नेता को यूँ कराया था चुप

"अगर हम पाकिस्तान पर स्ट्राइक करते तो यह 100 प्रतिशत सफल होता, बिना किसी दुर्घटना के साथ। मगर बिना सरकार की अनुमति के हम इसको अंजाम नहीं दे सकते थे। हमने यूपीए सरकार के सामने कई प्रस्ताव रखे और उनसे हार्ड इंटेलीजेंस के लोगों के साथ की डिमांड रखी। लेकिन..."

भारत-चीन के बीच लद्दाख में चल रहे तनाव के दौरान दौलत बेग ओल्डी हवाई पट्टी का इस्तेमाल हुआ है। चीन के साथ हालिया तनाव के बीच इसी स्ट्रिप का इस्तेमाल कर इलाके में सैनिकों की तैनाती की गई। सेना को लॉजिस्टिक्स सपोर्ट समय से पहुॅंचाने के लिहाज से यह बेहद महत्वपूर्ण एयरस्ट्रिप है।

लद्दाख का दौलत बाग ओल्डी (DBO) दुनिया की सबसे ऊँची एयरस्ट्रिप है। यह 16,614 फीट की ऊँचाई पर स्थित है। इसे एडवांस लैंडिंग ग्राउंड भी कहा जाता है। मगर यह एयरस्ट्रिप 1965 से 2008 के बीच नॉन-ऑपरेशनल रहा था।

इसकी दोबारा से शुरुआत मई 2008 में वायु सेना के तत्कालीन वाइस चीफ एयर मार्शल (सेवानिवृत) प्रणब कुमार बारबोरा ने किया था। वो भी बिना तत्कालीन सरकार को बताए।

कौन है प्रणब कुमार बारबोरा

एयर मार्शल प्रणब कुमार बारबोरा ने 01 जून 09 को एयर हेडक्वार्टर में एयर मार्शल के तौर पर 26वें उप-प्रमुख के रूप में पदभार संभाला था। एयर मार्शल प्रणव को एक फाइटर पायलट के रूप में जून 1970 में कमीशन दिया गया था। बतौर पायलट उन्होंने 3500 घंटे फाइटर प्लेन उड़ाया है। उन्होंने 1971 में बांग्लादेश के विभाजन के वक्त हुए युद्ध में भी हिस्सा लिया था। प्रणब एक क्वालिफाइड फ्लाइंग इंस्ट्रक्टर और फाइटर कॉम्बैट लीडर हैं।

- विज्ञापन -

अपने करियर में उन्होंने कई चुनौतीपूर्ण दायित्वों का निर्वहन किया। जैसे – मिग-21 स्क्वाड्रन के कमांडिंग ऑफिसर, एयर कॉम्बैट सिम्युलेटर यूनिट और फाइटर विंग के मुख्य संचालन अधिकारी। वह टैक्टिक्स और एयर कॉम्बैट डेवलपमेंट एस्टेब्लिशमेंट में डायरेक्टिंग स्टाफ के रूप में तैनात थे।

उन्हें कई प्रतिष्ठित पदों के लिए भी चुना गया। जैसे – फाइटर बेस के एयर ऑफिसर कमांडिंग, भारत के दूतावास में एयर अतैशे (air attache), मॉस्को, इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ के सहायक प्रमुख और वायु सेना के सहायक प्रमुख।

वह उत्तर-पूर्व के पहले ऐसे अधिकारी थे, जिन्हें एयर मार्शल के पद पर प्रोमोट किया गया था। एयर मार्शल के पद पर प्रोमोट होने के बाद, उन्हें वरिष्ठ एयर स्टाफ अधिकारी के रूप में नियुक्त किया गया और बाद में उन्होंने पूर्वी एयर कमान संभाली। वह पश्चिमी एयर कमान और एयर अफसर कमांडिंग इन चीफ अधिकारी भी थे। देश सेवा में किए गए कार्यों के लिए परम विशिष्ट सेवा पदक और वायु सेना पदक भी उन्हें मिला है।

प्रणब कुमार बारबोरा की खासियत रही है – बिना लाग-लपेट के अपनी बात रखना। 26/11 में हुए आतंकी हमले को लेकर प्रणब कुमार बारबोरा ने पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक नहीं करने के फैसले को लेकर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह पर नाराजगी जताई थी। 26/11 के हमले को लेकर बौखलाई भारतीय वायु सेना ने कॉन्ग्रेस की मनमोहन सरकार को पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक करने का विकल्प दिया था।

टाइम्स नाउ को दिए एक इंटरव्यू में बारबोरा ने कहा था, “अगर हम पाकिस्तान पर स्ट्राइक करते तो यह 100 प्रतिशत सफल होता, बिना किसी दुर्घटना के साथ। मगर बिना सरकार की अनुमति के हम इसको अंजाम नहीं दे सकते थे। हमने यूपीए सरकार के सामने कई प्रस्ताव रखे और उनसे हार्ड इंटेलीजेंस के लोगों के साथ की डिमांड रखी। क्योंकि ये इंटेलिजेंस एजेंसी की जिम्मेदारी है। क्योंकि अगर हम बिना तैयारी के स्ट्राइक करते और हम उसमें सफल नहीं होते तो हम लोगों के सामने हँसी का पात्र होते।”

अक्टूबर 2016 में एक TV डिबेट के दौरान प्रणब कुमार बारबोरा ने कॉन्ग्रेस प्रवक्ता को यह कह कर चुप करा दिया था कि क्या वो गोली का सामना करना जानते हैं? या क्या वो यह जानते हैं कि सर्जिकल स्ट्राइक किसे कहते हैं और आइसोलेटेड स्ट्राइक किसे कहते हैं?

पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक को लेकर एक इंटरव्यू में पूर्व वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल फली होमी मेजर ने भी कहा था कि भारतीय वायुसेना युद्ध के लिए पूरी तरह तैयार थी लेकिन सरकार ने इस विषय में अपना मन नहीं बनाया। वायुसेना प्रमुख होमी ने कहा था:

“किसी ने युद्ध को लेकर अपना मन नहीं बदला (26/11 के बाद) बल्कि सरकार ही अपना मन नहीं बना सकी। मैं जनता के क्रोध और नाराज़गी की भावना को समझता हूँ। भारतीय वायु सेना पाकिस्तान पर हमला करने के लिए तैयार थी। हालाँकि, सरकार क्या चाहती थी? हम तो किसी भी तरह की कार्रवाई के लिए तैयार थे।”

एयर चीफ मार्शल ने यह भी कहा कि सीमा पार जिहादी कैम्पों को तबाह करने के लिए एयर स्ट्राइक की भी योजना थी लेकिन भारत सरकार इसके पक्ष में नहीं थी क्योंकि उसे डर था कि सीमा पार आतंकियों पर की गई कोई भी कार्रवाई ‘पूर्ण युद्ध’ का रूप धारण कर सकती है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘यही लोग संस्थानों की प्रतिष्ठा को ठेस पहुँचाने का मौका नहीं छोड़ते’: उमर खालिद के समर्थकों को पूर्व जजों ने लताड़ा

दिल्ली दंगों में उमर खालिद की गिरफ्तारी के बाद पुलिस और सरकारी की मंशा पर सवाल उठाने वाले लॉबी को पूर्व जजों ने लताड़ लगाई है।

‘मारो, काटो’: हिंदू परिवार पर हमला, 3 घंटे इस्लामी भीड़ ने चौथी के बच्चे के पोस्ट पर काटा बवाल

कानपुर के मकनपुर गाँव में मुस्लिम भीड़ ने एक हिंदू घर को निशाना बनाया। बुजुर्गों और महिलाओं को भी नहीं छोड़ा।

चीन ने शिनजियांग में 3 साल में 16000 मस्जिद ध्वस्त किए, 8500 का तो मलबा भी नहीं बचा

कई मस्जिदों को सार्वजनिक शौचालयों में बदल दिया गया। मौजूदा मस्जिदों में से 75% में ताला जड़ा है या आज उनमें कोई आता-जाता नहीं है।

‘मुझे सोफे पर धकेला, पैंट खोली और… ‘: पुलिस को बताई अनुराग कश्यप की सारी करतूत

अनुराग कश्यप ने कब, क्या और कैसे किया, यह सब कुछ पायल घोष ने पुलिस को दी शिकायत में विस्तार से बताया है।

ड्रग्स चैट वाले ग्रुप की एडमिन थी दीपिका पादुकोण, दो नंबरों का करती थी इस्तेमाल

ड्रग्स मामले में दीपिका पादुकोण से एनसीबी शनिवार को पूछताछ करने वाली है। उससे पहले यह बात सामने आई है कि ड्रग चैट वाले ग्रुप की वह ए​डमिन थीं।

छद्म नारीवाद और हिंदू घृणा का जोड़: भारतीय संस्कृति पर हमला बोल कर कहा जाएगा- ‘ब्रेक द स्टिरियोटाइप्स’

यह स्टिरियोटाइप हर पोशाक की कतरनों के साथ क्यों नहीं ब्रेक किए जाते? हिंदुओं के पहनावे पर ही ऐसा प्रहार क्यों? क्यों नन की ड्रेस में मॉडल आदर्श होती है? क्यों बुर्के को स्टिरियोटाइप का हिस्सा नहीं माना जाता? क्यों केवल रूढ़िवाद की परिभाषा साड़ी और घूँघट तक सीमित हो जाती है?

प्रचलित ख़बरें

‘मुझे सोफे पर धकेला, पैंट खोली और… ‘: पुलिस को बताई अनुराग कश्यप की सारी करतूत

अनुराग कश्यप ने कब, क्या और कैसे किया, यह सब कुछ पायल घोष ने पुलिस को दी शिकायत में विस्तार से बताया है।

पूना पैक्ट: समझौते के बावजूद अंबेडकर ने गाँधी जी के लिए कहा था- मैं उन्हें महात्मा कहने से इंकार करता हूँ

अंबेडकर ने गाँधी जी से कहा, “मैं अपने समुदाय के लिए राजनीतिक शक्ति चाहता हूँ। हमारे जीवित रहने के लिए यह बेहद आवश्यक है।"

‘काफिरों का खून बहाना होगा, 2-4 पुलिस वालों को भी मारना होगा’ – दिल्ली दंगों के लिए होती थी मीटिंग, वहीं से खुलासा

"हम दिल्ली के मुख्यमंत्री पर दबाव डालें कि वह पूरी हिंसा का आरोप दिल्ली पुलिस पर लगा दें। हमें अपने अधिकारों के लिए सड़कों पर उतरना होगा।”

नूर हसन ने कत्ल के बाद बीवी, साली और सास के शव से किया रेप, चेहरा जला अलग-अलग जगह फेंका

पानीपत के ट्रिपल मर्डर का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने नूर हसन को गिरफ्तार कर लिया है। उसने बीवी, साली और सास की हत्या का जुर्म कबूल कर लिया है।

एजाज़ ने प्रिया सोनी से कोर्ट मैरिज के बाद इस्लाम कबूल करने का बनाया दबाव, मना करने पर दोस्त शोएब के साथ रेत दिया...

"एजाज़ ने प्रिया को एक लॉज में बंद करके रखा था, वह प्रिया पर लगातार धर्म परिवर्तन का दबाव बनाता था। जब वह अपने इरादों में कामयाब नहीं हुआ तो उसने चोपन में दोस्त शोएब को बुलाया और उसके साथ मिल कर प्रिया का गला रेत दिया।"

‘मारो, काटो’: हिंदू परिवार पर हमला, 3 घंटे इस्लामी भीड़ ने चौथी के बच्चे के पोस्ट पर काटा बवाल

कानपुर के मकनपुर गाँव में मुस्लिम भीड़ ने एक हिंदू घर को निशाना बनाया। बुजुर्गों और महिलाओं को भी नहीं छोड़ा।

‘यही लोग संस्थानों की प्रतिष्ठा को ठेस पहुँचाने का मौका नहीं छोड़ते’: उमर खालिद के समर्थकों को पूर्व जजों ने लताड़ा

दिल्ली दंगों में उमर खालिद की गिरफ्तारी के बाद पुलिस और सरकारी की मंशा पर सवाल उठाने वाले लॉबी को पूर्व जजों ने लताड़ लगाई है।

नूर हसन ने कत्ल के बाद बीवी, साली और सास के शव से किया रेप, चेहरा जला अलग-अलग जगह फेंका

पानीपत के ट्रिपल मर्डर का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने नूर हसन को गिरफ्तार कर लिया है। उसने बीवी, साली और सास की हत्या का जुर्म कबूल कर लिया है।

‘मारो, काटो’: हिंदू परिवार पर हमला, 3 घंटे इस्लामी भीड़ ने चौथी के बच्चे के पोस्ट पर काटा बवाल

कानपुर के मकनपुर गाँव में मुस्लिम भीड़ ने एक हिंदू घर को निशाना बनाया। बुजुर्गों और महिलाओं को भी नहीं छोड़ा।

चीन ने शिनजियांग में 3 साल में 16000 मस्जिद ध्वस्त किए, 8500 का तो मलबा भी नहीं बचा

कई मस्जिदों को सार्वजनिक शौचालयों में बदल दिया गया। मौजूदा मस्जिदों में से 75% में ताला जड़ा है या आज उनमें कोई आता-जाता नहीं है।

‘मुझे सोफे पर धकेला, पैंट खोली और… ‘: पुलिस को बताई अनुराग कश्यप की सारी करतूत

अनुराग कश्यप ने कब, क्या और कैसे किया, यह सब कुछ पायल घोष ने पुलिस को दी शिकायत में विस्तार से बताया है।

‘नशे में कौन नहीं है, मुझे बताओ जरा?’: सितारों का बचाव कर संजय राउत ने ‘शराबी’ वाले अमिताभ की याद दिलाई

ड्रग्स मामले में दीपिका पादुकोण से पूछताछ से पहले संजय राउत ने बॉलीवुड सितारों का बचाव करते हुए NCB पर साधा निशाना है।

कानुपर में रिवर फ्रंट: ऐलान कर बोले योगी- PM मोदी ने की थी यहाँ गंगा स्वच्छता की प्रशंसा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर में गंगा तट पर खूबसूरत रिवर फ्रंट बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इसे पीएम मोदी को उपहार बताया।

अतीक अहमद से अवैध प्रॉपर्टी को जमींदोज करने पर हुआ खर्च भी वसूलेगी योगी सरकार

बाहुबली अतीक अहमद की अवैध प्रॉपर्टी पर कार्रवाई के बाद अब उससे इस पर आया खर्च भी वसूलने की योगी सरकार तैयारी कर रही है।

पैगंबर पर कार्टून छापने वाली ‘शार्ली एब्दो’ के पुराने कार्यालय के पास चाकू से हमला: 4 घायल, 2 गंभीर

फ्रांस की व्यंग्य मैग्जीन 'शार्ली एब्दो' के पुराने ऑफिस के बाहर एक बार फिर हमले की खबर सामने आई है। हमले में 4 लोग घायल हो गए।

मोइनुद्दीन चिश्ती पर अमीश देवगन की माफी राजस्थान सरकार को नहीं कबूल, कहा- धार्मिक भावनाएँ आहत हुई है

जिस टिप्पणी के लिए पत्रकार अमीश देवगन माफी माँग चुके हैं, उस मामले में कार्रवाई को लेकर राजस्थान सरकार ने असाधारण तत्परता दिखाई है।

हमसे जुड़ें

264,935FansLike
78,031FollowersFollow
324,000SubscribersSubscribe
Advertisements