Friday, January 21, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाभारत की एक इंच जमीन भी दुनिया की कोई ताकत छू नहीं सकती: लद्दाख...

भारत की एक इंच जमीन भी दुनिया की कोई ताकत छू नहीं सकती: लद्दाख से रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की दहाड़

लेह के लुकुंग चौकी पर पहुँचे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, "जो कुछ भी अब तक बातचीत की प्रगति हुई है, उससे मामला हल होना चाहिए। कहाँ तक हल होगा इसकी गारंटी नहीं दे सकता, लेकिन इतना यकीन मैं जरूर दिलाना चाहता हूँ कि भारत की एक इंच जमीन भी दुनिया की कोई ताकत छू नहीं सकती, उस पर कोई कब्ज़ा नहीं कर सकता।"

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार (17 जुलाई, 2020) को पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में LAC पर भारत की सैन्य तैयारियों का जायजा लेने व जमीनी स्थिति की समीक्षा करने पहुँचे। रक्षा मंत्री ने पहले लुकांग में बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे के साथ भारतीय सेना और आईटीबीपी के जवानों के साथ बातचीत की। यहाँ उन्होंने जवानों को मिठाईयाँ भी खिलाई। अपनी दो दिवसीय यात्रा पर राजनाथ सिंह ने लेह के स्ताकना में भारतीय सेना के एक खास कार्यक्रम में हिस्सा भी लिया।

राजनाथ सिंह ने यहाँ जवानों को संबोधित करते हुए उनका हौसला बढ़ाया। रक्षा मंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय स्वाभिमान सबसे ऊपर है और इसलिए इससे समझौता नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वाभिमान ने ही देश को आजादी दिलाई है।

लेह के लुकुंग चौकी पर पहुँचे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, “जो कुछ भी अब तक बातचीत की प्रगति हुई है, उससे मामला हल होना चाहिए। कहाँ तक हल होगा इसकी गारंटी नहीं दे सकता, लेकिन इतना यकीन मैं जरूर दिलाना चाहता हूँ कि भारत की एक इंच जमीन भी दुनिया की कोई ताकत छू नहीं सकती, उस पर कोई कब्ज़ा नहीं कर सकता।”

राजनाथ सिंह ने यह भी कहा, “सबसे बड़ा स्वाभिमान होता है राष्ट्रीय स्वाभिमान। हमारे राष्ट्र की सीमाओं पर अगर कोई आँख उठाकर देखने की कोशिश करता है तो हमारा राष्ट्रीय स्वाभिमान जाग उठता है। भारत स्वाभिमान से समझौता नहीं करेगा। यदि कोई चोट पहुँचाने की कोशिश करेगा तो उसे मुँहतोड़ जवाब देंगे। आप सभी पर पूरे देश को नाज है। आप सभी लोगों पर पूरे देश को भरोसा है। आपलोगों के बीच मैं खुद को गौरवान्वित महसूस करता हूँ।”

राजनाथ सिंह ने आगे कहा, “हमारे जवानों ने शहादत दी है। इसका ग़म 130 करोड़ भारतवासियों को भी है। यदि हम आज लद्दाख़ में खड़े हैं तो आज के दिन मैं कारगिल युद्द में भारत की सीमाओं की अपने प्राणों की बाज़ी लगाकर रक्षा करने वाले बहादुर सैनिकों को भी स्मरण एवं नमन करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ।”

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत दुनिया का एकमात्र ऐसा देश है जिसने समस्त विश्व में शांति का संदेश दिया है। हमने आज तक किसी भी देश पर आक्रमण नहीं किया और न ही किसी की जमीन पर कब्जा करने की कोशिश की है। भारत ने हमेशा वसुैधव कुटुम्बकम का संदेश दिया है। भारत हमेशा से शांति चाहता है।

वहीं राजनाथ सिंह ट्वीट के जरिए भी लोगों तक अपने दौरे की जानकारी दे रहे हैं। जहाँ उन्होंने लिखा, “आज सुबह लद्दाख़ पहुँच कर सीमावर्ती इलाक़ों का दौरा किया और लुकुंग चौकी पर जाकर भारतीय सेना के जाँबाज जवानों एवं अधिकारियों के दर्शन करते हुए उनसे बातचीत करने का अवसर मिला।” उन्होंने कहा कि भारत का नेतृत्व सशक्त है। हमें नरेंद्र मोदी जैसा प्रधानमंत्री मिला है। फ़ैसला लेने वाला प्रधानमंत्री मिला है।

गौरतलब है कि इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 3 जुलाई को एक दिवसीय मौके पर लेह-लद्दाख पहुँचे थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लद्दाख का अचानक दौरा कर चीन के साथ सीमा विवाद से निपटने में भारत की दृढ़ता का संकेत दिया था। मोदी ने उन जवानों से बातचीत की थी जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। उन्होंने बिना चीन का नाम लिए चीन को चेतावनी भी थी। साथ ही जवानों का हौसला भी बढ़ाया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हिजाब के लिए लड़कियों का प्रदर्शन राजनीति, शिक्षा का केंद्र मजहबी जगह नहीं’: बुर्के को मौलिक अधिकार बताने पर भड़के कर्नाटक के शिक्षा मंत्री

कर्नाटक के उडुपी के कॉलेज में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राओं को इस्लामिक संगठन कैम्पस फ्रंट ऑफ इंडिया अपना समर्थन दे रहा है।

‘मेरी पत्नी को मौलानाओं ने मारपीट कर घर से निकाल दिया, जिहादी उसकी हत्या भी कर सकते हैं’: जितेंद्र त्यागी (वसीम रिजवी) ने जेल...

जितेंद्र त्यागी उर्फ वसीम रिजवी ने आरोप लगाया है कि उनके परिवार को तंग किया जा रहा है और कुछ जिहादी उनकी पत्नी की हत्या करना चाहते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,584FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe