Thursday, April 18, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाजिस रियाज नायकू के लिए पत्थरबाजी कर रहे थे लोग, उसे एक अन्य आतंकी...

जिस रियाज नायकू के लिए पत्थरबाजी कर रहे थे लोग, उसे एक अन्य आतंकी गुट ने फँसा कर मरवाया!

रियाज नायकू का साथी आतंकी मुठभेड़ के वक्त किसी से बात कर रहा था और उसको वाहिद भाई नाम से संबोधित करते हुए कह रहा था - "हम लोग पुलवामा के बेघपोरा में घिर गए हैं। मैं घायल हो गया हूँ और रियाज भाई लड़ रहा है। यह अपने लोगों की करतूत की वजह से हुआ है। इसके लिए टीआरएफ जिम्मेदार है। इससे दूर रहिए, क्योंकि..."

पुलवामा के अवंतिपुरा के बेगपोरा गाँव में बुधवार (6 मई,2020) को सुरक्षाबलों ने कश्मीर के मोस्ट वॉन्टेड आतंकवादी और हिज्बुल मुजाहिदीन के टॉप कमांडर रियाज नायकू को मार गिराया। नायकू के मारे जाने की खबर के बाद अवंतिपुरा में स्थानीय लोगों के द्वारा सुरक्षाबलों पर पत्थराबाजी की घटनाएँ भी सामने आई हैं। साथ ही इस आतंकी मुठभेड़ के दौरान घटनास्थल पर मौजूद एक आतंकी का फोन भी इंटरसेप्ट हुआ है। जिसमें हिज्बुल मुजाहिदीन और द रेजिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) के बीच दरार की बात सामने आई है। बता दें कि द रेजिस्टेंस फ्रंट एक आतंकी संगठन है, जो लश्कर-ए-तैय्यबा से जुड़ा हुआ है।

मिली जानकारी के अनुसार रियाज नायकू का साथी आतंकी मुठभेड़ के वक्त किसी से बात कर रहा था और उसको वाहिद भाई नाम से संबोधित करते हुए कह रहा था, “हम लोग पुलवामा के बेघपोरा में घिर गए हैं। मैं घायल हो गया हूँ और रियाज भाई लड़ रहा है। यह अपने लोगों की करतूत की वजह से हुआ है। इसके लिए टीआरएफ जिम्मेदार है। इससे दूर रहिए, क्योंकि यह हमारे कश्मीर को बर्बाद कर डालेगा।” इस बातचीत में यह बात साफ़ हो जाती है कि टीआरएफ और हिजबुल मुजाहिदीन के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है।

सूत्रों का कहना है अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि जिस आतंकी को फ़ोन पर बातचीत करते हुए इंटरसेप्ट किया गया है, वो रियाज नायकू के साथ मारा गया गया आतंकी है या कोई दूसरा शख्स है। हालाँकि बातचीत से यह बात तो साफ़ है कि यह आतंकी मुठभेड़ के दौरान घटनास्थल पर मौजूद था और घायल भी हुआ था।

वहीं आतंकी रियाज नायकू की मौत के बाद अवंतीपुरा के स्थानीय लोग उसके समर्थन में उतर आए और जिस जगह नायकू को मारा गया, वहाँ भीड़ ने सुरक्षाबल की बख्तरबंद गाड़ी को घेरकर पत्थरबाजी की। लोग बख्तरबंद गाड़ी पर चढ़ कर नुकसान पहुँचाने लगे और लाठी डंडों से उस पर मारते रहे। नायकू के मारे जान के बाद सीआरपीएफ के बयान के बाद यह बात सामने आयी थी कि सुरक्षाबल के जवान जब पुलवामा जिले के अवंतीपुरा के बेघपुरा इलाके में मुठभेड़ स्थल से लौट रहे थे, तब स्थानीय लोगों ने उन पर पथराव किया। इसके बाद भीड़ द्वारा की जा रही पत्थरबाज़ी की वीडियो भी सामने आई।

आपको बता दें कि आतंकी नायकू के मारे जाने के बाद अवंतीपुरा सहित पूरे कश्मीर के हालात पर केंद्रीय गृह मंत्रालय की कड़ी नजर है। गृह मंत्रालय कानून-व्यवस्था को लेकर जम्मू-कश्मीर पुलिस के संपर्क में है। सुरक्षा के हिसाब से अभी जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट और वॉयस कॉलिंग को बंद कर दिया गया है, ताकि किसी तरह की अफवाह न फैल पाए। साथ ही पुलिस ने यह जानकारी देते हुए बताया कि लोगों की आवाजाही पर भी सख्त पाबंदियाँ लगा दी गई हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ममता बनर्जी ने भड़काया, इसलिए मुर्शिदाबाद में हिंदुओं पर हुई पत्थरबाजी: रामनवमी हिंसा की BJP ने की NIA जाँच की माँग, गवर्नर को लिखा...

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में रामनवमी पर हुई हिंसा को लेकर भाजपा नेता सुवेंदु अधिकारी ने चुनाव आयोग और राज्यपाल को पत्र लिखा है।

सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य बने भारत: एलन मस्क की डिमांड को अमेरिका का समर्थन, कहा- UNSC में सुधार जरूरी

एलन मस्क द्वारा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता की दावेदारी का समर्थन करने के बाद अमेरिका ने इसका समर्थन किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe