Wednesday, July 24, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षा56 कश्मीरी हिंदुओं के नाम, कहाँ पढ़ा रहे यह भी बताया... लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े...

56 कश्मीरी हिंदुओं के नाम, कहाँ पढ़ा रहे यह भी बताया… लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े TRF ने जारी की सूची, हमले की धमकी

कश्मीर में हिंदू अपनी सुरक्षा को लेकर लगातार माँग कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में उनकी जानकारियाँ टीआरएफ तक पहुँचने के बाद लोग सवाल उठा रहे हैं कि आखिर ये जानकारी वहाँ तक लीक कैसे हुई?

कश्मीरी हिंदुओं को एक बार फिर आतंकियों से धमकी मिली है। बताया जा रहा है कि कि आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े एक ग्रुप द रेसिस्टेंस फ्रंट ने हिंदुओं की लिस्ट जारी की है जिन्हें वो निशाना बनाने वाले हैं। उनका धमकी वाला पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

द कश्मीर फाइल्स के डायरेक्टर विवेक रंजन अग्निहोत्री ने भी इस पोस्ट को शेयर किया है। विवेक ने ट्वीट करते हुए कहा, “एक हफ्ते से भी कम में जब भारतीय सरकार के मंच IFFI 2022 से इस्लामी आतंकियों को समर्थन मिला, द रेसिस्टेंस फ्रंट (लश्कर ए तैयबा की ईकाई) ने लिस्ट जारी की है कि वो किन कश्मीरी हिंदुओं को निशाना बनाने वाले हैं।”

56 कश्मीरी पंडितों की पोस्टिंग की जानकारी साझा करते हुए अपनी चेतावनी में आतंकी संगठन ने कहा, “एक तरफ तो ये फासीवादी सरकार स्थानीयों की संपत्ति जब्त कर रही है और दूसरी ओर गैर कश्मीरियों को जमीन और नौकरी दी जा रही है। ये लिस्ट कुछ चंद तथाकथित कश्मीरी पंडितों की है जिन्हें पीएम स्कीम के तहत रोजगार दिया गया। इनमें वो लोग हैं जिन्हें दिल्ली का नैरेटिव और हिंदुत्व का एजेंडा फैलाने के लिए भेजा गया है।”

आगे पोस्ट में लिखा गया, “रेसिस्टेंस के लड़ाकों को उन कश्मीरी पंडितों और स्थानीय/विदेशियों की जानकारी मिल गई है जो फासीवादी हिंदूवादी विचारधारा फैलाकर घाटी का माहौल बिगाड़ रहे हैं। हमने अपने बिंदु और कारण बता दिए हैं कि ऐसे लोगों पर हम क्यों हमले करते हैं और ये जारी रखेंगे। हम ऐसे लोगों को एक दफा फिर से चेतावनी देते हैं कि दिल्ली के गुलाम न बनें और उनके एजेंडे के वाहक न बनें। रेसिस्टेंस के लड़ाके अपने हमलों के लिए स्पष्ट हैं।”

गौरतलब है कि कश्मीर में हिंदुओं को निशाना बनाने का सिलसिला जारी है। यही वजह है कि हिंदू अपनी सुरक्षा को लेकर लगातार माँग कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में उनकी जानकारियाँ टीआरएफ तक पहुँचने के बाद लोग सवाल उठ रहे हैं कि आखिर ये जानकारी वहाँ तक लीक कैसे हुई? भाजपा ने इस संबंध में जाँच की माँग की है। उनकी भी डिमांड है कि आखिर सोसल मीडिया पर कश्मीरी हिंदुओं की लिस्ट लीक कैसे हुई।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -