Sunday, July 21, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाISIS से जुड़े AMU के 2 छात्रों पर यूपी एटीएस ने घोषित किया ₹25...

ISIS से जुड़े AMU के 2 छात्रों पर यूपी एटीएस ने घोषित किया ₹25 हजार का इनाम: भारत में युद्ध छेड़ने को थे तैयार, जिहाद की खाई थी कसम

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के छात्र रहे 2 फरार ISIS आतंकियों- अब्दुल समद मलिक और फैज़ान बख्तियार पर UP ATS ने घोषित किया इनाम। दोनों आतंकियों को पाकिस्तान से मिल रहे थे भारत में आतंकवाद फैलाने के निर्देश। साथ ही कर रहे थे अपने जैसे आतंकियों की भर्ती। दोनों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस कर रही है प्रयास

अलीगढ़ ISIS मॉड्यूल के 2 फरार आतंकियों पर उत्तर प्रदेश ATS (आतंकवाद निरोधक दस्ते) ने शुक्रवार (8 दिसंबर 2023) को इनाम घोषित कर दिया है। इनके नाम अब्दुल समद मालिक और फैज़ान बख्तियार हैं। इन दोनों की गिरफ्तारी में किसी भी प्रकार की मदद करने वाले को उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा 25-25 हजार रुपए का इनाम दिया जाएगा। अदुल समद और फैज़ान दोनों ही अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के SAMU नामक कट्टरपंथी संगठन से जुड़े थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अब्दुल समद मलिक और फैज़ान बख्तियार पर इनाम लम्बे समय तक उनकी गिरफ्तारी न होने के बाद रखा गया है। पुलिस लगातार इनकी लोकेशन ट्रेस करने का प्रयास कर रही है। इनके घर सहित कई अन्य ठिकानों पर कई बार दबिश भी दी जा चुकी है। 25 वर्षीय अब्दुल समद मलिक मूल रूप से सम्भल का निवासी है जबकि 24 साल का फैज़ान बख्तियार का घर प्रयागराज में है। ये दोनों ही अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी AMU के छात्र हैं। दोनों ही यहाँ से MSW (मास्टर्स इन सोशल वर्क) का कोर्स कर रहे थे। ऑपइंडिया ने 13 नवंबर 2023 की रिपोर्ट में अब्दुल समद मलिक और फैज़ान बख्तियार का जिक्र किया था।

फैज़ान और अब्दुल हैं मुल्जिम नंबर 7 और 8

फैज़ान बख्तियार और अब्दुल समद मलिक के खिलाफ UP ATS ने 3 अक्टूबर 2023 को लखनऊ में FIR दर्ज करवाई थी। इस FIR में 10 आरोपित नामजद हैं जबकि 11 वें नंबर पर अन्य दर्ज किया गया है। अब्दुल समद मलिक इस केस में 6 वे और फैज़ान बख्तियार 7 वें नंबर पर है। इन दोनों का पता अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के ‘वी एम हॉल’ का दिखाया गया है। इन सभी पर IPC की धारा 121- A , 122 के साथ विधि विरुद्ध क्रिया कलाप निवारण अधिनियम 1967 के तहत कार्रवाई की गई है। इन दोनों को शाहनवाज नाम के आतंकी ने जिहादी आतंकी गतिविधियों को पूरा करने के लिए बैयत (कसम) दिलाई थी।

ATS की FIR के मुताबिक फैज़ान बख्तियार और अब्दुल समद मलिक सोशल मीडिया के साथ कई अन्य माध्यमों से ISIS की विचारधारा का प्रचार-प्रसार कर रहे थे। ये दोनों अपने अन्य साथियों के साथ मिल कर कई युवाओं को कट्टरपंथ की राह पर धकेलने की कोशिशों में जुटे थे। इस गैंग की सक्रियता ख़ास कर अलीगढ़, संभल, प्रयागराज, लखनऊ, रामपुर और कौशाम्बी आदि जिलों में थी। अन्य आतंकियों के साथ अब्दुल समद और फैज़ान बख्तियार भी कई ऐप के माध्यम से पाकिस्तान में बैठे अपने आकाओं के फरमान पर भारत विरोधी काम कर रहे थे। ऑपइंडिया के पास FIR कॉपी मौजूद है।

ATS ने अपनी FIR में माना है कि फैज़ान और अब्दुल सहित इसके बाकी SAMU ग्रुप के साथ भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ने जैसी साजिश रच रहे थे। इस साजिश को अंजाम देने के लिए घातक हथियार भी जमा करने में जुटे हुए थे। इनके निशाने पर देश के कई हिस्से थे जहाँ ये अपनी आतंकी करतूतों को अंजाम दे सकें। अब तक UP ATS ने इस ग्रुप के कुल 9 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। इन से पूछताछ में मिली जानकारी के बाद बाकी आरोपितों को चिन्हित कर के उनकी गिरफ्तारी के भी प्रयास शुरू कर दिए गए है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

वामपंथी सरकार ने चलवाई गोली, मारे गए 13 कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता: जानें क्यों ममता बनर्जी मना रहीं ‘शहीद दिवस’, TMC ने हाईजैक किया कॉन्ग्रेस का...

कभी शहीद दिवस कार्यक्रम कॉन्ग्रेस मनाती थी, लेकिन ममता बनर्जी ने कॉन्ग्रेस पार्टी से अलग होने के बाद युवा कॉन्ग्रेस के 13 कार्यकर्ताओं की हत्या को अपने नाम के साथ जोड़ लिया और उसका इस्तेमाल कम्युनिष्टों की जड़ काटने में किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -