Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजVIP नंबर की डिमांड करने वाली महिला ट्रेनी IAS का हुआ ट्रांसफर, अधिकारियों के...

VIP नंबर की डिमांड करने वाली महिला ट्रेनी IAS का हुआ ट्रांसफर, अधिकारियों के चैंबर पर कर रही थी कब्जा: परेशान होकर पुणे के DM को करनी पड़ी थी शिकायत

आधिकारिक पत्र में कहा गया है कि 2023 बैच की आईएएस अधिकारी पूजा खेडकर को उनके प्रशिक्षण की शेष अवधि पूरी करने के लिए वाशिम स्थानांतरित किया गया है और वह 30 जुलाई, 2025 तक वहाँ सुपरन्यूमेरी सहायक कलेक्टर के रूप में काम करेंगी।

पुणे में अपनी अनुचित माँगों को लेकर चर्चा में आई महिला ट्रेनी आईएस अधिकारी का प्रशिक्षण पूरा होने से पहले ही ट्रांसफर कर दिया गया। महिला ट्रेनी आईएएस का नाम पूजा खेडकर है। उनके खिलाफ पुणे के जिलाधिकारी ने मुख्य सचिव को शिकायत भेज एक्शन की माँग की थी।

फैसले में पूजा खेडकर को पुणे से वाशिम ट्रांसफर कर दिया गया। आधिकारिक पत्र में कहा गया है कि 2023 बैच की आईएएस अधिकारी पूजा खेडकर को उनके प्रशिक्षण की शेष अवधि पूरी करने के लिए वाशिम स्थानांतरित किया गया है और वह 30 जुलाई, 2025 तक वहाँ सुपरन्यूमेरी सहायक कलेक्टर के रूप में काम करेंगी।

बता दें कि पूजा खेडकर के खिलाफ मुख्य सचिव को भेजी गई शिकायत का खुलासा पुणे मिरर की रिपोर्ट से हुआ था। इस रिपोर्ट में अधिकारियों से बात करके बताया गया था कि कैसे पूजा खेडकर अपनी शक्तियों का गलत इस्तेमाल करने में लगी हैं। वो प्रोबेशन पीरियड में होते हुए वीआईपी नंबर प्लेट के साथ बत्ती वाली गाड़ी की डिमांड कर रही थीं।

इसके अलावा उन्हें एक चैंबर भी चाहिए था। जब उनकी सुनवाई नहीं हुई तो उन्होंने अतिरिक्त कलेक्टर अजय मोरे की अनुपस्थिति में उनका चैंबर कब्जा लिया। उन्होंने चैंबर पर अतिक्रमण कर वहाँ से सारे सामान हटवा दिए और अपना नाम उस जगह लगा दिया। साथ ही उनके नाम से लेटर हेड, विजिटिंग कार्ड, पेपरवेट, नेमप्लेट, इंटरकॉम लाने को कहा। वहीं उनके पिता तो खुद प्रशासनिक अधिकारी रहे हैं, उन्होंने इस मामले में बेटी को समझाने की बजाए अधिकारियों को धमकाया कि वो लोग उनकी बेटी की डिमांड मानें वरना अंजाम बुरा होगा। इन्हीं कारणों से तंग आकर पुणे कलेक्टर डॉ. सुहास दिवसे को मुख्य सचिव सुजाता सैनिक को पत्र लिखकर मदद माँगनी पड़ी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -