Monday, July 15, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'सनातन विरोधी ताकतों ने हाथ मिला कर किया ऐसा': String चैनल को डिलीट किए...

‘सनातन विरोधी ताकतों ने हाथ मिला कर किया ऐसा’: String चैनल को डिलीट किए जाने के बाद YouTube पर भड़के बालाजी मंदिर के महंत

"ऐसी कंपनियों में नियम-कानून होते हैं, लेकिन अपनी इच्छानुसार कुछ भी कर देना या अपने कहे को ही सर्वोपरि मानना, बिना कारण बताए 'String' चैनल को डिलीट करना दुःखी करने वाला है।"

वीडियो प्लेटफॉर्म YouTube ने राष्ट्र एवं धर्म के विषयों को उठाते हुए कंटेंट बनाने वाले चैनल ‘String’ को डिलीट कर दिया है। न कोई चेतावनी दी गई और न ही बताया गया कि चैनल ने क्या गलती की है, सीधे इसे हटा दिया गया। YouTube ने एक सन्देश भेज कर कहा है कि चैनल ने प्लेटफॉर्म द्वारा तय किए गए दिशानिर्देशों का उल्लंघन किया है, इसीलिए इसे डिलीट किया जाता है। इसके बाद ‘String’ के संचालक विनोद कुमार ने पूछा है कि आखिर किसे खुश करने के लिए उनका चैनल डिलीट किया गया?

बता दें कि ये कार्रवाई तब की गई है, जब विनोद कुमार ने ‘The Vaccine War’ फिल्म के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री के साथ एक इंटरव्यू शूट किया था और इसे यूट्यूब पर पब्लिश किया ही जाने वाला था। अब चिलकुर बालाजी मंदिर के महंत रंगराजन ने इसके लिए यूट्यूब की निंदा की है। उन्होंने इस एक्शन को अवैधानिक करार दिया है। चिलकुर रंगराजन ने कहा कि बिना कोई कारण बताए या नोटिस दिए ‘String Reveals’ चैनल को अचानक से डिलीट कर दिया जाना YouTube के उपद्रवी व्यवहार को दर्शाता है।

उन्होंने कहा, “YouTube एक कमर्शियल प्लेटफॉर्म है। एक व्यापारिक कंपनी है। ऐसी कंपनियों में नियम-कानून होते हैं, लेकिन अपनी इच्छानुसार कुछ भी कर देना या अपने कहे को ही सर्वोपरि मानना, बिना कारण बताए ‘String’ चैनल को डिलीट करना दुःखी करने वाला है। मैं केंद्र सरकार से एक सीधा सवाल पूछता हूँ – YouTube को इस देश में इतनी आज़ादी क्यों है? इस देश में IT एक्ट लागू है भी या नहीं? यूट्यूब भारत के संविधान के हिसाब से काम कर रहा है या नहीं।”

उन्होंने कहा कि ‘String’ चैनल को तुरंत वापस लाया जाना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि जो ताकतें सनातन धर्म को खत्म करने के लिए उद्यत हैं, उन्होंने ही आपस में हाथ मिला कर ‘String’ चैनल को यूट्यूब से डिलीट करवाया है। चिलकुर बालाजी मंदिर के महंत ने ये भी कहा कि संविधान के अनुच्छेद-19 द्वारा दी गई अभिव्यक्ति की आज़ादी के अधिकार का YouTube ने उल्लंघन किया है। उन्होंने केंद्र सरकार से इस चैनल को रीस्टोर किए जाने के लिए कदम उठाने का निवेदन किया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -