Friday, January 21, 2022
Homeदेश-समाज2 मुस्लिम नाम, जिनको लेकर मो. कैफ ने किया राम मंदिर पर ट्वीट और...

2 मुस्लिम नाम, जिनको लेकर मो. कैफ ने किया राम मंदिर पर ट्वीट और हो गया Viral

"ऐसा केवल भारत में ही हो सकता है। जहाँ एक जस्टिस अब्‍दुल नज़ीर सर्वसम्‍मति से लिए फ़ैसले में शामिल थे और एक केके मोहम्‍मद ने ऐतिहासिक दस्‍तावेज़ दिए। भारत की संकल्‍पना सबको शामिल करने वाली विचारधारा से बड़ी है।"

सदियों से चल रहे राम मंदिर मामले पर विराम लगाते हुए देश की शीर्ष अदालत ने शनिवार (9 नवंबर) को ऐतिहासिक फ़ैसला सुनाया। इस फ़ैसले के तहत पाँच जजों की पीठ द्वारा पूरी ज़मीन को सर्वसम्मति से राम लला विराजमान को देने का फ़ैसला किया गया। बता दें कि इस फ़ैसले पर हर ओर से तमाम प्रतिक्रियाएँ आईं, जिसमें कोर्ट के इस फ़ैसले का स्वागत किया गया।

इसी बीच, पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ़ ने अयोध्या फ़ैसले पर ऐसा बयान दिया है जिस पर हर भारतीय को नाज़ होना चाहिए। दरअसल, उन्होंने एक ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने लिखा, “ऐसा केवल भारत में ही हो सकता है। जहाँ एक जस्टिस अब्‍दुल नज़ीर सर्वसम्‍मति से लिए फ़ैसले में शामिल थे और एक केके मोहम्‍मद ने ऐतिहासिक दस्‍तावेज़ दिए। भारत की संकल्‍पना सबको शामिल करने वाली विचारधारा से बड़ी है। सभी ख़ुश रहें, मैं शांति, प्रेम और सद्भाव की दुआ करता हूँ।”

अयोध्या फ़ैसले के सन्दर्भ में किया गया कैफ़ का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर तेज़ी के साथ वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया के यूज़र्स इस ट्वीट की जमकर तारीफ़ कर रहे हैं। साकेत कुमार ने ट्विटर पर लिखा, “कैफू भैया इंडिया में सिर्फ कुछ तबक़ों ने माहौल बिगाड़ दिया है वर्ना इंडिया जैसे हिंदू बहुसंख्यक देश में कैफ और जहीर खान जैसे क्रिकेटर हीरो के श्रेणी में आते हैं और शाहरुख, सलमान और आमिर खान सुपरस्टार हैं। ये एक पूरे हिंदुस्तानी का प्यार है। बाकी आपका मैसेज बहुत ही अच्छा है।”

ख़बर लिखे जाने तक कैफ़ के ट्वीट को 13.4 हज़ार लोग रीट्वीट कर चुके हैं और 65.3 हजार लोग लाइक कर चुके हैं। बता दें कि कैफ़ से पहले भी खेल जगत की कई हस्तियों ने भी सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले का स्वागत करते हुए ट्वीट किए थे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हिजाब के लिए लड़कियों का प्रदर्शन राजनीति, शिक्षा का केंद्र मजहबी जगह नहीं’: बुर्के को मौलिक अधिकार बताने पर भड़के कर्नाटक के शिक्षा मंत्री

कर्नाटक के उडुपी के कॉलेज में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राओं को इस्लामिक संगठन कैम्पस फ्रंट ऑफ इंडिया अपना समर्थन दे रहा है।

‘मेरी पत्नी को मौलानाओं ने मारपीट कर घर से निकाल दिया, जिहादी उसकी हत्या भी कर सकते हैं’: जितेंद्र त्यागी (वसीम रिजवी) ने जेल...

जितेंद्र त्यागी उर्फ वसीम रिजवी ने आरोप लगाया है कि उनके परिवार को तंग किया जा रहा है और कुछ जिहादी उनकी पत्नी की हत्या करना चाहते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,584FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe