Sunday, October 17, 2021
Homeसोशल ट्रेंडNDTV कर्मचारी ने बिना डाक्यूमेंट्स के फ्लाइट मिस होने का ठिकरा एयर इंडिया पर...

NDTV कर्मचारी ने बिना डाक्यूमेंट्स के फ्लाइट मिस होने का ठिकरा एयर इंडिया पर फोड़ा: लगाया अनाप-शनाप आरोप

NDTV कर्मचारी, जो पिछले दिनों 'द वायर' और 'द कारवाँ' जैसे वामपंथी मीडिया पोर्टल्स से जुड़ी थीं, ने मंगलवार को ट्वीट्स का थ्रेड पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने एयर इंडिया को गलत दस्तावेजों, बुरे इंटरनेट और नियमों का पालन न करने के लिए भी जिम्मेदार ठहराया।

NDTV की कर्मचारी शिबांगी सिन्हा रॉय ने सरकारी एयरलाइन्स कंपनी एयर इंडिया को उनके दस्तावेज उपलब्ध न कराने, खराब इंटरनेट और फ्लाइट मिस होने के लिए दोषी ठहराया। दरअसल, शिबांगी एयर इंडिया को उड़ान से पहले आवश्यक डॉक्यूमेंट्स नहीं दे पाई, जिसकी वजह से उनकी फ्लाइट मिस हो गई। इससे खफा NDTV कर्मचारी ने ट्विटर पर एयर इंडिया को निशाने पर लिया।

NDTV कर्मचारी, जो पिछले दिनों ‘द वायर’ और ‘द कारवाँ’ जैसे वामपंथी मीडिया पोर्टल्स से जुड़ी थीं, ने मंगलवार (फरवरी 9, 2021) को ट्वीट्स का थ्रेड पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने एयर इंडिया को गलत दस्तावेजों, बुरे इंटरनेट और नियमों का पालन न करने के लिए भी जिम्मेदार ठहराया।

NDTV के कर्मचारी शिबांगी सिन्हा रॉय द्वारा पोस्ट किए गए ट्वीट्स के थ्रेड का स्क्रीनशॉट
NDTV के कर्मचारी शिबांगी सिन्हा रॉय द्वारा पोस्ट किए गए ट्वीट्स के थ्रेड का स्क्रीनशॉट

शिबांगी सिन्हा रॉय ने एयर इंडिया से पूछा कि क्या वे ‘उत्पीड़न के लिए 500 रुपए अतिरिक्त लेते हैं?’ उन्होंने एयर इंडिया के कर्मचारियों पर आरोप लगाया कि वो उनसे ऐसे बात कर रहे थे जैसे वो ‘कोई वांटेड आतंकवादी’ हो। बौखलाई हुई NDTV कर्मचारी ने पूछा, “कौन आपको इस तरह से लोगों से बात करने की अनुमति देता है?”

अपने ’कष्टप्रद अनुभव’ को बयाँ करते हुए उन्होंने लिखा कि यह सब तब शुरू हुआ जब उन्होंने दस्तावेजों से भरा बैग खो दिया। वह कहती है कि उनके फोन पर सभी जरूरी दस्तावेज थे, लेकिन खराब इंटरनेट के कारण वह उन्हें एक्सेस नहीं कर पाई।

जब उसने एयरलाइन से मदद माँगी, तो कथित तौर पर एक एयर इंडिया स्टाफ उन पर ‘चिल्ला’ उठा। उन्हें उम्मीद थी कि एयर इंडिया का स्टाफ उन्हें अपना निजी मोबाइल वाईफाई उपलब्ध कराएगा, जिसे स्टाफ ने मना कर दिया। रॉय ने आरोप लगाया कि कर्मचारियों ने उन्हें यह कहते हुए जवाब दिया, “अपके जैसे बहुत लोग आते हैं।”

रॉय ने एयर इंडिया को टैग करते हुए लिखा, “एक सह-यात्री ने मुझे हॉटस्पॉट दिया, उसके बाद मैंने एयरपोर्ट के अंदर प्रवेश किया। प्रवेश करने पर, आपके कर्मचारियों ने मुझे 15 मिनट तक और इंतजार करवाया। और अब, आपके स्टाफ परवीन कौर और जितेंद्र ने मुझे बताया कि बोर्डिंग बंद हो गई है। टेक ऑफ से 1 घंटा पहले।”

यह हाइलाइट करने के लिए कि एयर इंडिया के स्टाफ ने उन्हें टेक ऑफ से 1 घंटा पहले उन्हें बताया कि बोर्डिंग बंद हो गया है, उन्होंने इसे कैपिटल लेटर में लिखा। वह एयर इंडिया के कर्मचारियों परवीन कौर और जितेंद्र की भर्त्सना की कि उन्होंने उसे फ्लाइट में चढ़ने नहीं दिया, जबकि टेक ऑफ होने में एक घंटा बाकी था।

शायद NDTV कर्मचारी, जो सोचती हैं कि भारत को ‘हिंदू आतंकवादियों से खतरा’ है, को एयरलाइन के नियमों के बारे में पता नहीं है। एयर इंडिया की आधिकारिक वेबसाइट पर उल्लिखित चेक-इन काउंटर क्लोजर समय स्पष्ट रूप से निर्दिष्ट करता है कि घरेलू और अंतरराष्ट्रीय दोनों उड़ानों के लिए काउंटर क्लोजिंग समय प्रस्थान से 60 मिनट पहले है।

एयर इंडिया के आधिकारिक वेब पेज पर दी गई जानकारी

रॉय को इसी के बारे में बताया गया था, जिससे यह स्पष्ट रूप से साफ हो गया कि एयर इंडिया के कर्मचारियों को उनसे कोई व्यक्तिगत शिकायत नहीं थी, वो सिर्फ प्रोटोकॉल का पालन कर रहे थे।

हालाँकि, एयर इंडिया एनडीटीवी कर्मचारी के पास पहुँची। उन्होंने उनको हुई असुविधा के लिए माफी माँगी और उनसे ई-मेल आईडी और फोन नंबर जैसी उनकी व्यक्तिगत जानकारी माँगी ताकि वे उनकी शिकायतों को दूर करने के लिए उनसे संपर्क कर सकें।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,125FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe