Thursday, June 13, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'त्रिपुरा में हमारे मुसलमान भाइयों पर क्रूरता हो रही है': राहुल गाँधी के ट्वीट...

‘त्रिपुरा में हमारे मुसलमान भाइयों पर क्रूरता हो रही है’: राहुल गाँधी के ट्वीट पर लोगों ने घेरा, पूछा- ‘बांग्लादेश पर फेविकोल पी लिया था क्या?’

बता दें कि त्रिपुरा पुलिस ने पानीसागर में मस्जिद पर हमले, तोड़फोड़ और आगजनी की घटनाओं को अफवाह बताया है। इस संबंध में सोशल मीडिया पर फेक वीडियो डालने वालों पर FIR भी दर्ज की गई है।

त्रिपुरा पुलिस ने राज्य के पानीसागर स्थित एक मस्जिद में आगजनी और तोड़फोड़ के दावों को झूठा करार दिया है। पुलिस ने स्पष्ट किया है कि इस संबंध में सोशल मीडिया में शेयर की जा रहीं तस्वीरों और वीडियो का राज्य में हुई घटना से कोई संबंध नहीं है। 

पुलिस द्वारा स्पष्टीकरण जारी करने के बावजूद कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी ने इस मसले पर ट्वीट कर कहा, “त्रिपुरा में हमारे मुसलमान भाइयों पर क्रूरता हो रही है। हिंदू के नाम पर नफरत व हिंसा करने वाले हिंदू नहीं, ढोंगी हैं। सरकार कब तक अंधी-बहरी होने का नाटक करती रहेगी?”

बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने राहुल गाँधी पर तंज कसते हुए लिखा, “सिर्फ मुस्लिमों के लिए ट्वीट क्यों? सभी धर्मों के लिए क्यों नहीं? बांग्लादेश पर फेविकोल पी लिया था क्या? कश्मीर पर? लखबीर पर? त्रिपुरा पुलिस कह रही है कुछ नहीं हुआ और आप पूरे देश में झूठ फैलाने लग गए। कॉन्ग्रेस पार्टी में कभी कोई ‘हमारे हिन्दू भाई’ क्यों नहीं लिखता?”

वहीं, एक यूजर ने इस पर कमेंट करते हुए लिखा, “फिरोज खान के पोते होकर भी तुम कभी फिरोज जहाँगीर खान को याद नहीं करते।”

शिवम विश्वकर्मा ने लिखा, “अकेले मुसलमान ही तो भाई हैं, बाकी हिन्दू तो दुश्मन हैं आपके। हिन्दू विरोधी राहुल गाँधी जी।”

शशिकांत यादव ने लिखा, “बांग्लादेश के हिंदू याद नहीं आए…”

वहीं, भूषण लाल भट्ट लिखते हैं, “पश्चिम बंगाल में, कश्मीर में जब हिंदुओं को मारा जा रहा था, काटा जा रहा था, लोग पलायन कर रहे थे तो क्या मुँह में दही जमी थी। कैसे-कैसे जानवर हैं कॉन्ग्रेस में।”

आयुषी राणा लिखती हैं, “हे इंदिराजी के पौत्र ओर सोनिया जी के सुपुत्र, केवल एक कम्युनिटी से इतना प्यार? अभी कश्मीर में हिन्दुओं की आईडी कार्ड देख देखकर कर हत्याएँ हो रही थीं, तब आप लोग फेवीकोल पीकर बैठे थे?”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “दिखा दिया औकात राहुल मियां। हिन्दू होने का नाटक करते हो तुम। तुम कभी भी हिन्दू नहीं हो सकता है। कश्मीर का हिन्दू या बंगाल का हिन्दू याद नहीं आया तुमको। कितना जुल्म किया मुसलमान सब हमारे हिन्दू भाइयों पर। कहाँ थे तब तुम।”

गुलशन भारद्वाज ने लिखा, “अबे पप्पू भैया ये मुसलमान अपनी बहन के तो भाई हो नहीं पाते तो तेरे कैसे हो सकते हैं। चल कोई नहीं, तुम छोटा भीम पर ध्यान लगाओ।”

एक यूजर ने लिखा, “चुनावी हिन्दू आख़िर तुम्हारी असलियत सामने आ गई।”

ट्विटर यूजर सुनील लिखते हैं, “यही तुम्हारे असली भाई हैं। जब हिंदुओं पर अत्याचार होता है तो तुम्हारे जैसे लोग फेवीकोल पी लेते हैं। नकली हिंदू के नाते भी तुमसे एक ट्वीट नहीं किया जाता, चाहे बंगाल की घटनाएँ हों चाहे हाल में ही हुई जम्मू कश्मीर की घटनाएँ और दलितों की चिंता तो केवल बीजेपी शासित राज्यों में ही होती है।”

बता दें कि त्रिपुरा पुलिस ने पानीसागर में मस्जिद पर हमले, तोड़फोड़ और आगजनी की घटनाओं को अफवाह बताया है। इस संबंध में सोशल मीडिया पर फेक वीडियो डालने वालों पर FIR भी दर्ज की गई है। यह जानकारी त्रिपुरा पुलिस के IGP (लॉ एन्ड आर्डर) सौरभ त्रिपाठी ने 28 अक्टूबर 2021 (गुरुवार) को दी। यहाँ बांग्लादेश में हिंदुओं के खिलाफ हुई हालिया हिंसा के विरोध में विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने रैली निकाली थी। इसके बाद से मस्जिद को निशाना बनाए जाने का दावा किया जा रहा था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोई कर रहा था ड्राइवरी, कोई इंजीनियर बनकर कमाने गया था… कुवैत के अग्रिकांड में 40+ भारतीयों की गई जान, PM मोदी ने विदेश...

कुवैत के फोरेंसिक विभाग के महानिदेशक ने भी कहा है कि मरने वाले में अधिकांश केरल, तमिलनाडु और उत्तर भारतीय राज्य के लोग हैं। इनकी उम्र 20 से 50 साल थी।

जम्मू-कश्मीर में 4 दिनों के अंदर चौथा आतंकी हमला… डोडा में सुरक्षा बलों पर फिर चली गोलियाँ: 1 जवान घायल, पूरे इलाके की घेराबंदी

जम्मू-कश्मीर में 4 दिनों के अंदर चौथा आतंकी हमला हुआ है। वहीं डोडा जिले में 2 दिन में दूसरी बार आतंकियों द्वारा फायरिंग करके सुरक्षाबलों को निशाना बनाया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -