Tuesday, October 26, 2021
Homeसोशल ट्रेंड'राहुल गाँधी नानी की सेवा करने गए हैं': कॉन्ग्रेस की पुष्टि के बाद सोशल...

‘राहुल गाँधी नानी की सेवा करने गए हैं’: कॉन्ग्रेस की पुष्टि के बाद सोशल मीडिया ट्रोल्स की हुई बेइज्जती

कॉन्ग्रेस समर्थक साकेत गोखले ने इसे 'कोरी बकवास' बताते हुए कहा कि क़तर और भारत उन देशों की सूची में ही नहीं हैं, जहाँ से लोगों को इटली में हवाई यात्रा की अनुमति हो।

अब कॉन्ग्रेस पार्टी ने भी इस बात की पुष्टि कर दी है कि राहुल गाँधी विदेश दौरे पर इटली गए हैं। कॉन्ग्रेस के कम्युनिकेशन डिपार्टमेंट के प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा है कि पूर्व पार्टी अध्यक्ष राहुल एक छोटे से ट्रिप पर विदेश गए हैं। वहीं अब पार्टी के महासचिव किसी वेणुगोपाल ने भी कहा है कि राहुल गाँधी अपनी नानी को देखने इटली गए हैं। उन्होंने कहा कि सभी को व्यक्तिगत रूप से यात्रा का अधिकार है।

इस मुद्दे पर वेणुगोपाल ने पूछा कि आखिर इसमें गलत क्या है? उन्होंने भाजपा पर निम्न स्तरीय राजनीति करने का आरोप लगाते हुए वो राहुल गाँधी के खिलाफ इसलिए बयान दे रही है, क्योंकि उसे सिर्फ एक नेता को निशाना बनाना है। कॉन्ग्रेस नेताओं की इस स्वीकारोक्ति से पार्टी के सोशल मीडिया पिट्ठुओं को गहरा धक्का लगा है, जो अब तक ये कह कर बचाव कर रहे थे कि वो विदेश नहीं गए हैं। सोमवार (दिसंबर 28, 2020) को कॉन्ग्रेस का स्थापना दिवस भी है।

कॉन्ग्रेस समर्थक साकेत गोखले ने इसे ‘कोरी बकवास’ बताते हुए कहा कि क़तर और भारत उन देशों की सूची में ही नहीं हैं, जहाँ से लोगों को इटली में हवाई यात्रा की अनुमति हो – ऐसे में राहुल गाँधी वहाँ जा ही नहीं सकते हैं। उन्होंने इटली सरकार के दस्तावेज का लिंक तक शेयर कर डाला और लोगों से कहा कि वो ‘झूठ’ फैलाने से पहले गूगल कर लें। साकेत गोखने ने ट्विटर पर घूम-घूम कर इसे फेक न्यूज़ बताया।

प्रशांत नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा कि लोग ‘क़तर एयरलाइन्स’ का नाम ले रहे हैं, ये व्हाट्सप्प यूनिवर्सिटी के ज्ञान पर निर्भर हैं। कुछ ने दावा किया कि ‘क़तर एयरलाइन्स’ नामक की कोई कम्पनी ही नहीं है। संघमित्रा नामक ट्विटर यूजर ने इसे ‘फेक न्यूज़ प्रोपेगंडा’ बताते हुए पूछा कि मोदी कहाँ हैं और वो किसानों से बातचीत करने क्यों नहीं आ रहे हैं? कुछ ट्विटर यूजरों ने इसकी तुलना पीएम मोदी के विदेश यात्राओं से कर डाली।

कॉन्ग्रेस नेता मणिकम टैगोर ने लिखा कि ‘किसानों की मौत’ को लेकर ‘अम्बानी-अडानी का मीडिया’ दुष्प्रचार फैला रहा है और साथ ही पूछा कि अपनी नानी की सेवा करना कोई गुनाह है क्या? पंजाब यूथ कॉन्ग्रेस भी इस बहस में कूद पड़ा और उसने कहा कि देश में 553 लोकसभा सांसद हैं, ऐसे में एक की ही ट्रेवल हिस्ट्री को निकाल कर क्यों हंगामा किया जा रहा है? साथ ही राहुल गाँधी को शक्तिशाली बताते हुए लिखा कि उनका हर कदम खबरों में आता है।

इधर राहुल गाँधी दूसरे विवाद में भी फँस गए हैं। ‘किसान आंदोलन’ के समर्थन में उन्होंने एक कविता ट्वीट की थी, जिसके बाद इस कविता की रचना करने वाले दिवंगत कवि द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी के परिजनों ने ही उनसे माफ़ी माँगने को कहा है। दिवंगत कवि के बेटे डॉक्टर विनोद माहेश्वरी ने कहा कि ऐसी रचना को पैरोडी के रूप में प्रस्तुत किए जाने से उन्हें और उनके परिवार को पीड़ा हुई है। साथ ही पूछा कि क्या यह कविता और कवि की आत्मा के साथ न्याय है?

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केरल में नॉन-हलाल रेस्तराँ खोलने वाली महिला को बेरहमी से पीटा, दूसरी ब्रांच खोलने के खिलाफ इस्लामवादी दे रहे थे धमकी

ट्विटर यूजर के अनुसार, बदमाशों के खिलाफ आत्मरक्षा में रेस्तराँ कर्मचारियों द्वारा जवाबी कार्रवाई के बाद केरल पुलिस तुशारा की तलाश कर रही है।

असम: CM सरमा ने किनारे किया दीवाली पर पटाखों पर प्रतिबंध का आदेश, कहा – जनभावनाओं के हिसाब से होगा फैसला

असम में दीवाली के मौके पर पटाखों पर पूर्ण प्रतिबंध का ऐलान किया गया था। अब मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा है कि ये आदेश बदलेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
131,815FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe