Sunday, July 14, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'गोबर खा लेते तो जीत पाते' : ब्रिटेन में ऋषि सुनक की हार से...

‘गोबर खा लेते तो जीत पाते’ : ब्रिटेन में ऋषि सुनक की हार से खुश भारत के वामपंथी, हिंदू धर्म का उड़ाया मजाक, गौ-पूजन की Video देख भड़के थे

हिंदूफोबिक अशोक स्वेन ने ऋषि द्वारा गौ-पूजन की तस्वीरों को शेयर करते  हुए कहा, "इन हथकंडों के बावजूद ऋषि सुनक को लिज ट्रस ने हरा दिया और वह ब्रिटेन की नई प्रधानमंत्री बन गईं। जरूरी है खुद के साथ ईमानदार रहना- ब्रिटेन कोई उत्तर प्रदेश नहीं है।"

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री चुनावों में भारतीय मूल के ऋषि सुनक पीएम बनने से जैसे ही चूके वैसे ही भारत के वामपंथी और कट्टरपंथी गिरोह में खुशी की लहर दौड़ गई। ट्विटर पर सुनक को तरह-तरह के ताने दिए जाने लगे। इसी क्रम में हिंदू धर्म का और हिंदुओं में पूजनीय गौ-माता का भी खुलकर मजाक बनाया गया। किसी ने ऋषि को इसलिए कोसा क्योंकि वो खुद को हिंदू दिखाकर मंदिर आदि जा रहे थे, तो किसी ने उन्हें याद दिलाया कि वो जो गौ-पूजन का ‘नाटक’ कर रहे थे, उससे ब्रिटेन में जीत नहीं मिल सकती।

ऋषि सुनक की हार से वामपंथी क्यों है खुश?

ट्विटर पर ऋषि सुनक की गाय के साथ फोटो शेयर कर करके दिखाया जा रहा है कि उन्हें चुनाव में जीत मिल सकती थी लेकिन जो उन्होंने ब्रिटेन में गौ पूजन किया उसके कारण उन्हें हार झेलनी पड़ी।

फेक न्यूज के लिए कुख्यात हिंदूफोबिक ट्विटर यूजर अशोक स्वेन ने ऋषि की वीडियो को शेयर करते हुए कहा, “इन हथकंडों के बावजूद ऋषि सुनक को लिज ट्रस ने हरा दिया और वह ब्रिटेन की नई प्रधानमंत्री बन गईं। जरूरी है खुद के साथ ईमानदार रहना- ब्रिटेन कोई उत्तर प्रदेश नहीं है।”

जिम्मी खान लिखता है, “ये जरूर दुख में होगा कि काश ये थोड़ा गौ मूत्र पी लेता तो शायद ब्रिटेन का प्रधानमंत्री बन जाता।”

एक कॉमरेड नाम की आईडी से कहा गया, “मुझे लगता है कि ये गाय का गोबर और गौमूत्र पीना भूल गया, इसलिए इसे हार मिली।”

शबीना हुसैन लिखती हैं, “गौ माता ने ऋषि सुनक को आशीर्वाद देने से मना कर दिया।”

एक यूजर ने ऋषि की पूजा पाठ पर तंज कसते हुए कहा, “ऋषि सुनक, ये मंदिर और गाय की राजनीति सिर्फ उत्तर प्रदेश में काम आती है ब्रिटेन में नहीं।”

निधि राजदान को ब्रिटिशरों ने लगाई लताड़

इसके अलावा मीडिया गिरोह की जानी-मानी सदस्य निधि राजदान ने भी इस जीत-हार के मुद्दे में ‘नस्लवाद’ के एंगल को घुसाया और पूछा कि कहीं और किसी वजह से तो ऋषि नहीं हारे। उन्होंने ट्वीट किया, “लिज ट्रस ने ऋषि सुनक को पीएम बनने की रेस में हरा दिया। क्या नस्लवाद के कारण ऋषि हारे या फिर इसके पीछे और कोई कारण है।”

निधि के ट्वीट के बाद कई ब्रिटिशर भड़क गए। उन्होंने निधि राजदान की ऐसी हरकत को एकदम घटिया करार दिया। ब्रिटिश पत्रकार टॉम हैरवुड ने कहा ये ओछेपन की भी हद्द है। शर्म आनी चाहिए।

गौरतलब है कि ब्रिटेन में प्रधानमंत्री चुनाव से पहले ऋषि सुनक की एक वीडियो सामने आई थी। उस वीडियो में वह अपनी पत्नी अक्षता के साथ गौ पूजन कर रहे थे। पूजा के दौरान सामने खड़े पुजारी उन्हें विधियों के बारे में बता रहे थे। इसी वीडियो को देख वामपंथी उनसे नाराज थे और चुनाव में जब नतीजे आए, ऋषि को हार का मुँह देखना पड़ा तो यही लोग सबसे पहले उन्हें इसलिए कोसने लगे क्योंकि वो चुनाव के दौरान मंदिर जाने का काम, गौ-पूजन का काम कर रहे थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -