Thursday, May 26, 2022

विषय

भारतीय संस्कृति

हिंदू की हवेली गिराने का था प्लान, पूरी जामा मस्जिद पर ही KC ब्रदर्स ने फेर दिया था हाथ: आजादी के बाद की घटना,...

अमदावाद की जामा मस्जिद। घटना 1964-65 की। KC ब्रदर्स की हवेली पर मस्जिद वालों की नजर। मामला कोर्ट में... आगे की कहानी किताब से लेकर प्रकाशित।

जननी जन्मभूमि भारत-माता ही आराध्य देवी… जब स्वामी विवेकानंद ने अन्य देवी-देवताओं को भूलने का किया था आह्वान

“निःसंदेह स्वामी विवेकानन्द धर्म महासभा के सर्वाधिक लोकप्रिय एवं प्रभावशाली। कट्टर से कट्टर ईसाई भी कहते हैं कि वे मनुष्य में महाराज हैं।”

60 साल पहले नालंदा से चोरी हो गई थी बोधिसत्व मैत्रेय की कांस्य प्रतिमा, अब अमेरिका ने किया वापस

बुद्ध शाक्यमुनि या बोधिसत्व की नक्काशीदार कांस्य प्रतिमा को अमेरिका में भारतीय वाणिज्य दूतावास को वापस कर दिया गया है। नालंदा से हुई थी चोरी।

73वें गणतंत्र दिवस पर पूरी दुनिया ने देखी भारतीय सेना की ताकत और भारत की सांस्कृतिक झलक: Photos

प्रधानमंत्री मोदी ने आज राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जाकर आजादी से लेकर अब तक वीरगति को प्राप्त हुए देश के सैनिकों को श्रद्धांजलि दी।

PM मोदी ने पंढरपुर को दी 2 नेशनल हाईवे की सौगात, भगवान विट्ठल से माँगे 3 आशीर्वाद

पंढरपुर की सेवा को पीएम ने साक्षात हरि की सेवा बताया और कहा कि ये वो भूमि है जहाँ भक्तों के लिए भगवान आज भी साक्षात विराजते हैं।

‘जन्माष्टमी पर अपनी हिंदू दोस्त को गोश्त खिला देती थी, मिलती थी शांति’: उर्दू लेखिका, अपनी आत्मकथा में

उर्दू नोवेलिस्ट इस्मत चुगतई लिखती हैं कि उनके घर में टट्टी का अहाता बनाकर उसके पीछे बकरे काटे जाते थे और उसे कई दिनों तक बाँटा जाता था।

45 साल में 54 विरासत देश लौटे, इनमें से 41 तो मोदी सरकार के 7 साल में आईं: 14 कलाकृतियाँ वापस करेगा ऑस्ट्रेलिया

साल 2014 में केंद्र में मोदी सरकार के आने के बाद विदेशों से 41 कलाकृतियों को वापस भारत लाया गया है। ये अब तक लौटाई गई कुल विरासतों का 75 फीसदी से भी अधिक है।

पोलैंड: लाइब्रेरी की दीवार पर उकेरे गए उपनिषद के छंद, यूजर्स बोले- दुनिया हिंदू धर्म अपना रही है

पोलैंड के पुस्तकालय की दीवार पर उकेरे गए उपनिषद के छंदों की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इसे भारतीय दूतावास ने ट्वीट किया है।

होली के रंग में जीवन का उल्लास: होलिका, होलाका, धुलेंडी, धुरड्डी, धुरखेल, धूलिवंदन… हर नाम में छिपा है कुछ बहुत खास

आध्यात्मिक रूप से होलिका दहन का मकसद पुराने कपड़ों या वस्तुओं को जलाना ही नहीं है, बल्कि पिछले एक साल की यादों को जलाना है ताकि...

काशी में क्यों खेली जाती है चिता-भस्म की होली, भूतभावन महादेव अब भी आते हैं महाश्मशान मणिकर्णिका?

बनारस की होली भी बनारस के मिजाज के अनुसार ही अड़भंगी है। दुनिया का इकलौता शहर जहाँ अबीर, गुलाल के अलावा धधकती चिताओं के बीच चिता भस्म की होली होती है।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,058FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe