Monday, March 8, 2021

विषय

शीला दीक्षित

जो शीला दीक्षित से लेना चाहते थे बदला, उनके गले लगकर भी दिन नहीं बदल पाई कॉन्ग्रेस

आज जब दिवगंत शीला दीक्षित के मत्थे हार का दोष मढने की कोशिश हो रही यह जानना जरूरी है कि इस बार दिल्ली की सत्ता में वापसी के लिए सोनिया गॉंधी ने हर उस शख्स को गले लगाया था जिससे पूर्व मुख्यमंत्री के मतभेद थे, जो उनसे कभी बदला लेना चाहते थे।

आखिरकार लौट आए राहुल गाँधी, एक हफ्ते बाद सांत्वना देने पहुँचे शीला दीक्षित के घर

रिपोर्ट्स के अनुसार जब शीला दीक्षित का देहांत हुआ और कर्नाटक में कॉन्ग्रेस-जेडीएस की सरकार गिरी, उस समय राहुल गाँधी यूएस में छुट्टी मना रहे थे।

लम्बी बीमारी के बाद दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित का निधन

81 वर्षीय शीला दीक्षित लंबे समय से बीमार चल रही थी। कॉन्ग्रेस की दिग्गज नेता दीक्षित दिल्ली में सबसे लम्बे समय तक काम करने वाली मुख्यमंत्री रही थीं। उन्होंने 1998 से 2013 तक दिल्ली में मुख्यमंत्री पद सम्भाला था।

चुनाव से पहले दिल्ली कॉन्ग्रेस में फूट: शीला दीक्षित-पीसी चाको के मतभेद आए सामने

पीसी चाको ने शीला दीक्षित को पत्र लिखकर कहा कि पार्टी संगठन का फैसला वो अकेले नहीं कर सकती हैं। इसलिए शुक्रवार (जुलाई 12, 2019) को जो उन्होंने ब्लॉक पर्यवेक्षकों की नियुक्ति की थी, उसे महासचिव प्रभारी के तौर पर वे (पीसी चाको) अयोग्य करार देते हैं।

Fact Check: क्या शीला दीक्षित ने कहा कि केजरीवाल वोटों के लिए अपनी माँ को भी बेच सकता है?

वायरल हो रही इस पोस्ट में दावा किया गया है कि केजरीवाल वोट हासिल करने के लिए किसी भी स्तर तक जा सकते हैं। इसमें यह सन्देश दिया जा रहा है कि शीला दीक्षित ने केजरीवाल के बारे में ये कहा है कि ‘केजरीवाल वोट के लिए अपनी माँ तक को बेच सकते हैं’।

निर्भया गैंगरेप को मीडिया ने बढ़ा-चढ़ाकर दिखाया था: शीला दीक्षित

दिल्ली में महिला सुरक्षा की स्थिति पर उनकी राय के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि जहाँ तक पुलिस के दखल की बात है, उसमें पूरा रोल केंद्र सरकार का रहता है क्योंकि दिल्ली सरकार एक पुलिसकर्मी की ड्यूटी तक नहीं लगा सकती है।

दिल्ली कॉन्ग्रेस में भूचाल: शीला के विरोध में 12 नेताओं का इस्तीफा, मनोज तिवारी से मिले

कॉन्ग्रेस ने भीष्म शर्मा को नज़रअंदाज़ करते हुए शीला दीक्षित को उतार दिया। शीला और भीष्म में पुरानी प्रतिद्वंद्विता है और इसीलिए शीला ने प्रदेश अध्यक्ष का कार्यभार संभालते ही सबसे पहले भीष्म शर्मा पर गाज गिराई। उन्हें 6 वर्षों के लिए पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया।

AAP से गठबंधन को लेकर कॉन्ग्रेस में मची चिल्ल-पों

इस पूरे प्रकरण में एक ओर शीला दीक्षित तो दूसरी ओर राहुल गाँधी, पीसी चाको, अजय माकन और आम आदमी पार्टी दिख रही है। शीला दीक्षित का कहना है कि उन्हें सर्वे के दौरान जानकारी नहीं दी गई।

आतंकवाद से लड़ने में PM मोदी जितने कठोर नहीं थे मनमोहन सिंह: शीला दीक्षित

एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में शीला दीक्षित ने स्वीकार करते हुए कहा कि मनमोहन सिंह आतंकवाद से लड़ने में उतने कठोर नहीं थे, जितने कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं।

‘दिल्ली के लिए पूर्ण राज्य पर केजरीवाल की बातें खोखली’

"सिर्फ संसद की कार्यवाही से ही दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाया जा सकता है और अभी कोई संसद सत्र तो है नहीं, तो वह ऐसा क्यों कर रहे हैं?"

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

292,339FansLike
81,975FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe