Wednesday, September 29, 2021

विषय

Mahatma Gandhi

उपद्रवियों ने महात्मा गाँधी की प्रतिमा तोड़ी, 2016 में भारत सरकार ने अमेरिकी शहर को भेंट में दी थी

अमेरिका के कैलिफोर्निया प्रान्त के एक पार्क में लगी महात्मा गाँधी की प्रतिमा क्षतिग्रस्त कर दी गई है।

खालिस्तानी भीड़ ने तोड़ी महात्मा गाँधी की प्रतिमा: कृषि कानूनों के खिलाफ कर रहे थे वाशिंगटन DC में प्रदर्शन

कई खालिस्तानी झंडों के साथ पहुँची भीड़ ने स्थानीय पुलिस और सुरक्षा बलों के सामने ही राष्ट्रपति महात्मा गाँधी की प्रतिमा के साथ छेड़छाड़ कर के अपमान किया और फिर तोड़फोड़ भी मचाई।

जब महात्मा गाँधी ने अपने बेटे मणिलाल को कहा: फातिमा से विवाह अधर्म है, तुम्हारे बच्चों का धर्म क्या होगा?

मणिलाल फातिमा से विवाह करना चाहते थे लेकिन एमके गाँधी ने उन्हें पत्र में लिखा कि जिस शादी के बारे में वो सोच रहा है, वो धर्म नहीं बल्कि अधर्म है।

PM मोदी ने महात्मा गाँधी और शास्त्री जी को दी श्रद्धांजलि, कहा- बापू के आदर्श समृद्ध, दयालु भारत बनाने में मदद करेंगे

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राजघाट जाकर महात्मा गाँधी को, विजयघाट पर लाल बहादुर शास्त्री को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी के साथ गृहमंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत अन्य नेता भी मौजूद थे।

पूना पैक्ट: समझौते के बावजूद अंबेडकर ने गाँधी जी के लिए कहा था- मैं उन्हें महात्मा कहने से इंकार करता हूँ

अंबेडकर ने गाँधी जी से कहा, “मैं अपने समुदाय के लिए राजनीतिक शक्ति चाहता हूँ। हमारे जीवित रहने के लिए यह बेहद आवश्यक है।"

अंग्रेजों की करेंसी पर भी अब दिखेंगे महात्मा गाँधी, वहाँ की मुद्रा में छपने वाले पहले (अश्वेत) व्यक्ति बने बापू

महात्मा गाँधी दुनिया के पहले ऐसे व्यक्ति (अश्वेत) बनने वाले हैं, जो ब्रिटिश मुद्रा में नज़र आएँगे। ब्रिटिश राज कोष विभाग ने इस ऐतिहासिक कदम...

महात्मा गाँधी की प्रतिमा को दंगाइयों ने किया खंडित: भारतीय दूतावास के समाने हुई घटना, जाँच में जुटी पुलिस

भारतीय दूतावास के बाहर महात्‍मा गाँधी की प्रतिमा को कुछ दंगाई लोगों द्वारा क्षति पहुँचाई गई। यूनाइटेड स्टेट्स पार्क पुलिस ने जाँच शुरू कर...

…जब जेल में महात्मा गाँधी का बेटा और नाथूराम गोडसे की हुई मुलाकात, और फिर लिखना पड़ा उन्हें एक पत्र

"महात्मा गाँधी के बेटे देवदास शायद इस उम्मीद में नाथूराम गोडसे से मिलने गए कि कोई डरावनी शक्ल वाला, खून का प्यासा कातिल दिखेगा, लेकिन..."

कोर्ट में बैठी जनता अगर न्याय करती तो गोडसे निर्दोष घोषित होते: याचिका की सुनवाई करने वाले जज खोसला

"गोडसे सिरफिरे इन्सान बिल्कुल भी नहीं थे। वो पुणे में रहते थे जहाँ देश विभाजन का कोई असर नहीं हुआ था। वो फिर भी गाँधी को मारने गए क्योंकि..."

महात्मा गाँधी किसी मस्जिद में गीता पाठ कर सकते हैं क्या? आखिर क्यों नाथूराम गोडसे ने पूछा था यह सवाल

नेहरू सरकार नाथूराम गोडसे के बहाने सावरकर पर निशाना साधना चाहती थी। गाँधीजी की हत्या के बाद इस प्रयास पर पानी फेरते हुए गोडसे ने...

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
125,014FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe