Sunday, January 24, 2021
Home फ़ैक्ट चेक मीडिया फ़ैक्ट चेक राहुल-प्रियंका की उल्टी समेटने के चक्कर में मोहम्मद जुबैर-प्रतीक सिन्हा के ऑल्टन्यूज ने फिर...

राहुल-प्रियंका की उल्टी समेटने के चक्कर में मोहम्मद जुबैर-प्रतीक सिन्हा के ऑल्टन्यूज ने फिर रायता फैलाया

इंडिया टुडे की मक्कारी की हद यहीं तक सीमित थी लेकिन ऑल्टन्यूज़ ने जो कारनामा किया है उसने साबित कर दिया है कि कॉन्ग्रेस को अपनी लाज बचाने के लिए और बड़े स्तर के धूर्त अब मिल चुके हैं।

सोशल मीडिया पर राहुल-प्रियंका के ठहाकों का वीडियो के वायरल होते ही सबसे पहले ‘इंडिया टुडे’ अपने आकाओं को ‘क्लीनचिट’ देने के लिए मैदान में उतरा तो कुछ ही दिन बाद उसी सामंतशाही विचारधारा से जन्मे गैंग ऑल्टन्यूज वाले ‘आतापी-वातापी’ यानी, प्रतीक-जुबैर की जोड़ी भी अब भाई-बहन की जोड़ी की बची हुई इमेज बचाने मैदान में उतर पड़ी।

इस प्रतीक-जुबैर की ‘ऑल्टन्यूज़ ब्रदर्स’ वाली जोड़ी की उपलब्धि ये है कि इन्होंने फैक्टचेक में भी धूर्तता की गुंजाइश तलाश की थी। इस तरह से इन्हें वैज्ञानिक फैक्टचेकर्स भी कह सकते हैं।

नाबालिग बच्ची की जानकारी और तस्वीर सार्वजानिक कर उसे लोगों की घृणा का शिकार बनाने के आरोप के चलते NCW की फटकार खाने वाले ऑल्टन्यूज़ का सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर सोशल मीडिया पर वापस लौटा और लौटकर उसने ‘धमाकेदार वापसी’ की। वास्तव में, इस बात से शायद ही कोई इनकार करेगा कि कुख्यात और ‘नौटी’ होना ही ऑल्टन्यूज के लिए ‘धमाकेदार वापसी’ हो सकता है।

हाथरस मामले पर हो रही राजनीति के बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी को कार से हाथरस जाते हुए देखा जा सकता है, जहाँ वह कथित तौर पर पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करने के लिए जा रहे थे। वीडियो में दोनों भाई-बहनों के ठहाके की आवाज सुनाई देती है।

इंडिया टुडे के बाद अब ऑल्टन्यूज़ ने कुछ साबित नहीं, बल्कि सीधा क्लीनचिट करने का करिश्मा किया है। इस बार राहुल गाँधी और प्रियंका वाड्रा के ठहाकों का ‘फैक्ट-चेक’ करने की जिम्मेदारी ऑल्टन्यूज़ ने उठाई।

फीचर फोटो में ‘हाथरस वाले ठहाके’ और फैक्टचेक लोकसभा चुनाव का

ऑल्टन्यूज़ ने ‘इंडिया टुडे’ से एक कदम आगे जाते हुए पूरी धूर्तता के साथ शीर्षक तो ‘हाथरस जाते हुए वीडियो’ का रखा लेकिन अपने आकाओं की जिस तस्वीर का फैक्टचेक किया है वह राहुल-प्रियंका के हाथरस जाते समय की नहीं बल्कि 2019 के आम चुनावों से पहले की है। जबकि इस कथित फैक्टचेक की फीचर फोटो में प्रियंका और राहुल गाँधी की वही विवादित तस्वीर इस्तेमाल की है, जिसमें उन्हें हाथरस जाते समय ठहाके लगते देखा गया था और जिसमें फैक्टचेक की कोई गुंजाइश ही मौजूद नहीं है।

ऑल्टन्यूज़ के इस कथित फैक्टचेक में यह समस्या है कि यदि वह प्रियंका गाँधी वाड्रा और राहुल गाँधी के हाथरस जाते वक्त सामने आए वीडियो का फैक्टचेक करने का दावा कर रहे हैं तो उन्हें उन दोनों भाई बहनों यानी राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी की 2019 के लोकसभा चुनावों की तस्वीर का फैक्ट चेक करने की आवश्यकता क्यों हुई?

राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी के हाथरस जाते समय कार में हँसने वाले वीडियो की सच्चाई से पूरी दुनिया वाकिफ है कि वह फेक वीडियो नहीं था लेकिन ‘ऑल्टन्यूज़ ब्रदर्स’ उसके बजाय पुरानी और ऐसी तस्वीर का फैक्टचेक क्यों कर रहे हैं जिस तस्वीर का लोगों को ध्यान तक नहीं? असल में यहाँ पर मंशा सिर्फ और सिर्फ राहुल-प्रियंका को यह क्लीनचिट देने की ही थी कि हाथरस की घटना में पीड़ित परिवार को मिलने जाते समय दोनों बेहद शालीन और दुःख के सागर में डूबे हुए थे।

निष्कर्ष तो यही निकलता है कि दोनों कथित गाँधियों को हाथरस के पीड़ित परिवार से कोई सहानुभूति थी नहीं, लेकिन ऑल्टन्यूज को इनके डूबते करियर से जरुर सहानुभूति है।

इस बार ऑल्टन्यूज़ ने किसी ‘वायरल’ दावे का इन्तजार करना भी जरुरी नहीं समझा बल्कि मात्र एक ट्वीट (जो कि इसलिए संदेहास्पद है क्योंकि वह भी अब डिलीट कर दिया गया है) के आधार पर इसका फैक्ट चेक करना जरुरी समझा। अब इस रिपोर्ट में कहीं दावे नहीं बल्कि सिर्फ एक यूआरएल और कुछ धूर्तता के प्रमाणपत्र ही शेष हैं।

हाथरस पीड़ित परिवार से मिलने जाते वक्त प्रियंका-राहुल के वीडियो की सच्चाई उनके मास्क और कुर्ते बयाँ कर ही रहे हैं –

‘India Today’ ने इस बात से इनकार नहीं किया था कि राहुल गाँधी और प्रियंका गाँधी वाड्रा, दोनों ही कार में सबसे आगे बैठे हैं, लेकिन उनका कहना था कि चूँकि दोनों के चेहरे नहीं दिख रहे थे इसलिए यह नहीं बताया जा सकता है कि कौन हँस रहा है।

इंडिया टुडे की मक्कारी की हद यहीं तक सीमित थी लेकिन ऑल्टन्यूज़ ने जो कारनामा किया है उसने साबित कर दिया है कि कॉन्ग्रेस को अपनी लाज बचाने के लिए और बड़े स्तर के धूर्त अब मिल चुके हैं। इनके टेलेंट पर शक करना और उसे कम समझना उचित भी नहीं है क्योंकि ये वही लोग हैं जो दिल्ली दंगों के प्रमुख आरोपित ताहिर हुसैन के वीडियो में ‘फैक्ट्स’ तलाश रहे थे, जामिया में पत्थरों को बटुआ बता रहे थे।

ऐसा क्यों करता है ऑल्टन्यूज

ऑल्टन्यूज धूर्त तो है लेकिन इंटरनेट के समय में धूर्तता कई बार मूर्खता में परिवर्तित हो जाती है। इसमें कोई दो राय नहीं कि राहुल और प्रियंका गाँधी के ऊपर हाथरस जाते हुए ‘कार में हँसने’ की बातें सामने आई थी, जो कि सबने देखा और सुना।

ऑल्टन्यूज ने चालाकी से मुद्दा तो हँसने का उठाया, लेकिन फैक्टचेक किसी और फोटो का किया जो एक दो लोग, इस कारण ही शेयर कर रहे थे कि उन्हें भी पता चला राहुल-प्रियंका हँसते हुए जा रहे थे।

ऐसे में, सत्य यही है कि दोनों नकली गाँधियों को हाथरस के पीड़ित परिवार से कोई सहानुभूति थी नहीं, लेकिन ऑल्टन्यूज को इन दोनों के डूबते करियर से बहुत सहानुभूति है। हो भी क्यों नहीं, ऑल्टन्यूज के कुख्यात जुबैर-सिन्हा का जोड़ा भी राहुल-प्रियंका के जोड़े की ही तरह गायब होने की कगार पर है।

बाहरहाल, चालाकी यह की गई कि ऑल्टन्यूज के दो-चार-दस पाठकों को यह जताने के लिए राहुल और प्रियंका हँस नहीं रहे थे, पत्रकारिता के साथ यह दुष्कर्म किया गया। फैक्टचेकिंग सत्य को सामने लाने के लिए किया जाता है, शेयर करने वाले की मंशा भी देखी जाती है। यहाँ राहुल-प्रियंका के हँसने की भी बात सही है, और वो वीडियो भी सबके सामने है।

इतना ही नहीं, ऑल्टन्यूज ने अपने नासा वाले सॉफ्टवेयर से यह पता लगा लिया कि ये फोटो गलत है, लेकिन मंगल ग्रह पर दिमाग रख कर भूल आए जुबैर-सिन्हा की जोड़ी से यह पूछा जाना चाहिए कि फीचर्ड इमेज में वीडियो का स्क्रीनशॉट किस आधार पर लगाया है?

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

आशीष नौटियाल
पहाड़ी By Birth, PUN-डित By choice

 

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

चुनने की आजादी बेटियों का अधिकार, समानता की हकीकत को पुरुषों को स्वीकार करना होगा

24 जनवरी को 'राष्ट्रीय बालिका दिवस' (National Girl Child Day) मनाया जाता है। इसका उद्देश्य लड़कियों के सम्मान और महत्व को बढ़ावा देना है।

UP देश का पहला राज्य, IAF के लिए सड़क पर बना दी 3 एयर स्ट्रिप: पूर्वांचल Expressway पर भी उतरेंगे लड़ाकू विमान

उत्तर प्रदेश अब 3-3 एयरस्ट्रिप वाला देश का पहला राज्य। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर भी एयरस्ट्रिप बनकर तैयार। यहाँ वायुसेना के विमानों की...

5-10-100 रुपए वाले पुराने नोट अगले महीने से बंद, RBI ने खुद बताया, मीडिया में भी छपी खबर – Fact Check

RBI अधिकारियों के हवाले से कई मीडिया संस्थानों ने खबर चलाई कि अब 100, 10 और 5 रुपए के पुराने नोट चलन में नहीं रहेंगे और बंद हो जाएँगे।

जो बायडेन के राष्ट्रपति बनते ही कैपिटल हिल के सामने हजारों मुस्लिमों ने पढ़ी जुमे की नमाज, फोटो वायरल – Fact Check

सोशल मीडिया पर कैपिटल हिल के सामने जुमे की नमाज पढ़ते हजारों मुस्लिमों की तस्वीरें वायरल हो गईं। इस तस्वीर की सच्चाई क्या है, आइए जानते हैं।

‘शबरी के राम’ से लेकर ट्रांसजेंडर समुदाय की कलाओं तक: UP दिवस में इस बार ‘आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश’

4 वर्ष पूर्व 2017 में योगी आदित्यनाथ सरकार ने निर्णय लिया कि जनवरी 24 को उत्तर प्रदेश दिवस के रूप में मनाया जाएगा। 3 दिनों का होगा कार्यक्रम।

घोटालेबाज लालू के लिए लिबरल गैंग का रूदन चालू, पेड ट्वीट्स की बाढ़: सैकड़ों चंदा बाबू जैसे पीड़ितों का दोषी ‘मसीहा’ कैसे?

अब सजायाफ्ता लालू यादव के बीमार होने पर उसे 'सामाजिक न्याय' का मसीहा बताने वाले फिर से सामने आ गए हैं। ट्वीट पर ट्वीट किए जा रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

नकाब हटा तो ‘शूटर’ ने खोले राज, बताया- किसान नेताओं ने टॉर्चर किया, फिर हत्या वाली बात कहवाई: देखें Video

"मेरी पिटाई की गई। मेरी पैंट उतार कर मुझे पीटा गया। उलटा लटका कर मारा गया। उन्होंने दबाव बनाया कि मुझे उनका कहा बोलना पड़ेगा। मैंने हामी भर दी।"

मदरसा सील करने पहुँची महिला तहसीलदार, काजी ने कहा- शहर का माहौल बिगड़ने में देर नहीं लगेगी, देखें वीडियो

महिला तहसीलदार बार-बार वहाँ मौजूद मुस्लिम लोगों को मामले में कलेक्टर से बात करने के लिए कह रही है। इसके बावजूद लोग उसकी बात को दरकिनार करते हुए उसे धमकाते हुए नजर आ रहे हैं।

मटन-चिकेन-मछली वाली थाली 1 घंटे में खाइए, FREE में ₹1.65 लाख की बुलेट ले जाइए: पुणे के होटल का शानदार ऑफर

पुणे के शिवराज होटल ने 'विन अ बुलेट बाइक' नामक प्रतियोगिता के जरिए निकाला ऑफर। 4 Kg की थाली को ख़त्म कीजिए और बुलेट बाइक घर लेकर जाइए।

‘नकाब के पीछे योगेंद्र यादव’: किसान नेताओं को ‘शूट करने’ आए नकाबपोश की कहानी में लोचा कई

किसान नेताओं ने एक नकाबपोश को मीडिया के सामने पेश किया, जिसने दावा किया कि उसे किसान नेताओं को गोली मारने के लिए रुपए मिले थे।

‘कोहली के बिना इनका क्या होगा… ऑस्ट्रेलिया 4-0 से जीतेगा’: 5 बड़बोले, जिनकी आश्विन ने लगाई क्लास

अब जब भारत ने ऑस्ट्रेलिया में जाकर ही ऑस्ट्रेलिया को धूल चटा दिया है, आइए हम 5 बड़बोलों की बात करते हैं। आश्विन ने इन सबकी क्लास ली है।

शाहजहाँ: जिसने अपनी हवस के लिए बेटी का नहीं होने दिया निकाह, वामपंथियों ने बना दिया ‘महान’

असलियत में मुगल इस देश में धर्मान्तरण, लूट-खसोट और अय्याशी ही करते रहे परन्तु नेहरू के आदेश पर हमारे इतिहासकारों नें इन्हें जबरदस्ती महान बनाया और ये सब हुआ झूठी धर्मनिरपेक्षता के नाम पर।
- विज्ञापन -

 

चुनने की आजादी बेटियों का अधिकार, समानता की हकीकत को पुरुषों को स्वीकार करना होगा

24 जनवरी को 'राष्ट्रीय बालिका दिवस' (National Girl Child Day) मनाया जाता है। इसका उद्देश्य लड़कियों के सम्मान और महत्व को बढ़ावा देना है।

UP देश का पहला राज्य, IAF के लिए सड़क पर बना दी 3 एयर स्ट्रिप: पूर्वांचल Expressway पर भी उतरेंगे लड़ाकू विमान

उत्तर प्रदेश अब 3-3 एयरस्ट्रिप वाला देश का पहला राज्य। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर भी एयरस्ट्रिप बनकर तैयार। यहाँ वायुसेना के विमानों की...

राधे के मर्डर में सास साबिरा और साला जावेद गिरफ्तार: शौचालय में मिला था गला रेता शव, 6 महीने पहले शहनाज से की थी...

मृतक के साले और सास को सेक्टर-37 के पास से दबोचा गया। इनकी पहचान भाटिया मोड़ दौलतपुरा गाजियाबाद निवासी जावेद और साबिरा के रूप में हुई है।

जाह्नवी कपूर की फिल्म की शूटिंग में ‘किसान प्रदर्शनकारियों’ का फिर अड़ंगा, कहा- बाहर निकलो और हमारा समर्थन करो

किसान प्रदर्शनकारियों ने एक बार फिर पंजाब में जाह्नवी कपूर की फिल्म 'गुड लक जेरी' की शूटिंग में व्यवधान डाला है।

5-10-100 रुपए वाले पुराने नोट अगले महीने से बंद, RBI ने खुद बताया, मीडिया में भी छपी खबर – Fact Check

RBI अधिकारियों के हवाले से कई मीडिया संस्थानों ने खबर चलाई कि अब 100, 10 और 5 रुपए के पुराने नोट चलन में नहीं रहेंगे और बंद हो जाएँगे।

’69 साल की महिला सेक्स कर सकती है, लेकिन शादी नहीं’ – जज ने सुनाया फैसला, लेकिन क्यों?

जज ने कहा, "इस मुद्दे पर फैसला सुनाने में देरी अफ़सोसजनक है क्योंकि महिला उस युवक के साथ प्रेम संबंध नहीं बना पा रही।"

जो बायडेन के राष्ट्रपति बनते ही कैपिटल हिल के सामने हजारों मुस्लिमों ने पढ़ी जुमे की नमाज, फोटो वायरल – Fact Check

सोशल मीडिया पर कैपिटल हिल के सामने जुमे की नमाज पढ़ते हजारों मुस्लिमों की तस्वीरें वायरल हो गईं। इस तस्वीर की सच्चाई क्या है, आइए जानते हैं।

‘शबरी के राम’ से लेकर ट्रांसजेंडर समुदाय की कलाओं तक: UP दिवस में इस बार ‘आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश’

4 वर्ष पूर्व 2017 में योगी आदित्यनाथ सरकार ने निर्णय लिया कि जनवरी 24 को उत्तर प्रदेश दिवस के रूप में मनाया जाएगा। 3 दिनों का होगा कार्यक्रम।

इमरान की अवन्तिका से शादी और बेटी भी… अब दोस्त की बीवी लेखा से ‘रिश्ते’ के लिए किराए का घर: आमिर की राह पर...

इमरान और लेखा के रिश्ते की भनक मीडिया रिपोर्टों में छप गई है। अवन्तिका ने घर छोड़ दिया। ने लेखा का परिचय अपने जान-पहचान वालों से...

घोटालेबाज लालू के लिए लिबरल गैंग का रूदन चालू, पेड ट्वीट्स की बाढ़: सैकड़ों चंदा बाबू जैसे पीड़ितों का दोषी ‘मसीहा’ कैसे?

अब सजायाफ्ता लालू यादव के बीमार होने पर उसे 'सामाजिक न्याय' का मसीहा बताने वाले फिर से सामने आ गए हैं। ट्वीट पर ट्वीट किए जा रहे हैं।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,695FollowersFollow
385,000SubscribersSubscribe