Sunday, July 12, 2020
Home बड़ी ख़बर EXCLUSIVE: दो और ज़मीन सौदे के दस्तावेज़, गाँधी-वाड्रा परिवार व दलाली के रिश्तों का...

EXCLUSIVE: दो और ज़मीन सौदे के दस्तावेज़, गाँधी-वाड्रा परिवार व दलाली के रिश्तों का खुलासा पार्ट-2

राहुल गाँधी ने ज़मीन ख़रीदने की बात तो स्वीकार कर ली लेकिन वह एचएल पाहवा, सीसी थम्पी और संजय भंडारी के साथ अपने संबंधों के बारे में कुछ नहीं बोल रहे हैं। इस से शक और गहरा होता जा रहा है।

ये भी पढ़ें

Nupur J Sharma
Editor, OpIndia.com since October 2017

ऑपइंडिया ने कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी और हथियार दलाल संजय भंडारी के बीच संबंधों का ख़ुलासा कर बताया था कि एचएल पाहवा ने राहुल गाँधी को काफ़ी कम दाम कर ज़मीन बेची। पाहवा को वित्त उपलब्ध कराने वाले व्यक्ति का नाम सीसी थम्पी था। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने ऑपइंडिया की रिपोर्ट को आधार बना कर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस किया और राहुल गाँधी पर सवाल दागे। रिपोर्ट के प्रकाशित होने और रिपब्लिक भारत पर इस पर चर्चा होने के साथ खड़ा हुए राजनीतिक तूफ़ान में गाँधी परिवार बुरी तरह फँसता नज़र आ रहा है।

हमारे ख़ुलासे का आधार राहुल गाँधी और एचएल पाहवा के बीच हुआ भूमि सौदा था। राहुल ने पाहवा से ज़मीन ख़रीदी, जिसके रॉबर्ट वाड्रा और प्रियंका गाँधी से भी अच्छे सम्बन्ध हैं। सबसे बड़ी बात तो यह कि पाहवा से ख़रीदी गई ज़मीन को फिर वापस उसे ही काफ़ी ज्यादा क़ीमतों पर बेच दिया गया। प्रवर्तन निदेशालय (ED) द्वारा एचएल पाहवा के ठिकानों पर छापेमारी के दौरान कई महत्वपूर्ण दस्तावेज मिले, जिनमें इस लैंड डील का विवरण था।

इन दस्तावेजों से पता चलता है कि पाहवा के पास इतने अधिक मूल्य में ज़मीन ख़रीदने के लिए मुद्रा भंडार ही नहीं था। पाहवा को इस कार्य के लिए सीसी थम्पी द्वारा वित्त उपलब्ध कराया गया। सीसी थम्पी और संजय भंडारी के बीच रुपयों का कई बार लेन-देन हुआ है। दोनों के बीच कई ट्रांजैक्शंस हुए हैं। ये दोनों वाड्रा से भी जुड़े हुए हैं। थम्पी ने वाड्रा के लिए बेनामी संपत्ति की ख़रीद की थी और भंडारी ने उस करार के दौरान सेतु का कार्य किया था। ऑपइंडिया द्वारा जारी किए गए तीन दस्तावेज राहुल गाँधी, एचएल पाहवा और रॉबर्ट वाड्रा के बीच रिश्तों को उजागर करते हैं।

अब हमारे पास दो अतिरिक्त दस्तावेज भी हैं जो गाँधी-वाड्रा परिवार को एचएल पाहवा से जोड़ते हैं। वही पाहवा, जो संजय भंडारी और सीसी थम्पी से अटूट रूप से जुड़ा हुआ है। हमने जो प्रॉपर्टी डील के काग़ज़ात जारी किए थे, वो हसनपुर स्थित ज़मीन के थे। अब हमें और भी काग़ज़ात मिले हैं, जो रॉबर्ट वाड्रा और एचएल पाहवा के बीच हुए ज़मीन के सौदे से जुड़े हैं। यह हरियाणा के अमीपुर में हुए ज़मीन सौदे से जुड़ा है। इसमें एचएल पाहवा से रॉबर्ट वाड्रा को ट्रांजैक्शन किए गए हैं।

ज़मीन सौदे का एक और दिलचस्प पहलू यह है कि वही महेश नागर जिसने रॉबर्ट वाड्रा और राहुल गाँधी की ओर से पिछले कागजात पर हस्ताक्षर किए थे, उसने इस ज़मीन के सौदे के लिए वाड्रा की ओर से भी हस्ताक्षर किए थे।

रॉबर्ट वाड्रा, प्रियंका गाँधी वाड्रा और राहुल गाँधी के सौदों के बीच में HL पाहवा है।

इसके अलावा हमने एक और भूमि सौदे के कागज़ात खोजे हैं, जिसमें इस बात का स्पष्टीकरण मौजूद है कि रॉबर्ट वाड्रा ने HL पाहवा को भी ज़मीन बेची थी।

HL पाहवा, CC थम्पी और संजय भंडारी के बीच सांठगांठ के साथ कुछ ऐसे सवाल भी हैं जिनसे राहुल गाँधी का बच पाना लगभग न के बराबर है।

1. राहुल गाँधी ने HL पाहवा से जो ज़मीन ख़रीदी उसका संबंध संजय भंडारी और CC थम्पी से था। अब सवाल यह उठता है कि क्या ज़मीन ख़रीदने से पहले राहुल गाँधी को इस अवैध सांठगांठ के बारे में पहले से पता था?

2. HL पाहवा ने रॉबर्ट वाड्रा और प्रियंका गाँधी वाड्रा को ज़मीन बेची है और उसके बाद ज़मीन को वापस बढ़े हुए दामों पर ख़रीदा, जबकि उसके पास ऐसा करने के लिए पर्याप्त नकद धन भी नहीं थी। इस प्रक्रिया में, उसने इन भुगतानों के लिए CC थम्पी से पैसे लिए। क्या राहुल गाँधी को अपनी बहन प्रियंका गाँधी वाड्रा और बहनोई रॉबर्ट वाड्रा के इस अवैध भूमि सौदों के बारे में पता था?

3. HL पाहवा अपने परिवार के लेन-देन में क्या भूमिका निभाते हैं और वह एकमात्र सूत्रधार क्यों है जिसके माध्यम से ऐसे भूमि सौदे संचालित होते हैं? HL पाहवा ने CC थम्पी से पैसे क्यों लिए और जब उसके पास नकद धन नहीं था, बावजूद इसके उसने ज़मीन फिर से क्यों खरीदी?

4. इसका सीधा लिंक हथियार डीलर संजय भंडारी से है, जो राफ़ेल सौदे पर कॉन्ग्रेस शासन की वार्ता के दौरान दसौं के लिए एक ऑफसेट भागीदार बनना चाहता था। अधिकांश भूमि ख़रीद और बिक्री कॉन्ग्रेस शासन के दौरान हुई जबकि उस समय राफ़ेल वार्ता चल रही थी। क्या राहुल गाँधी को कॉन्ग्रेस के राफ़ेल सौदे में संजय भंडारी की भागीदारी के बारे में पहले से पता था?

5. न्यूज रिपोर्टें इस बात को सुनिश्चित करती हैं कि MMRCA डील समझौते में रक्षा मंत्रालय से MMRCA की कई फाइलें गायब हुई थीं। ये फाइलें संजय भंडारी द्वारा फोटोकॉपी कराई गई थी। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या जब राहुल गाँधी और उनका परिवार  HL PAHWA के साथ डील कर रहे थे, जो कि सीसी थम्पी और संजय भंडारी से जुड़ा हुई था, तो उन्हें पता था कि संजय भंडारी क्या कर रहे है?

6. इसके अलावा एयरबस के लिए भी संजय भंडारी बिचौलिया की भूमिका में थे। एयरबस कॉन्सॉर्टियम का एक पार्ट है जिससे यूरोफाइटर तैयार होता है, जो कि  MMRCA सौदे के दौरान राफेल के साथ सीधे प्रतिस्पर्धा में था। क्या राहुल गाँधी जानते थे कि एच एल पाहवा जिनके संबंध थंपी के जरिए संजय भंडारी से थे वो एयरबस के लिए बिचौलिए रह चुके हैं?

7. क्या राहुल गाँधी बार-बार राफेल मुद्दे को इसीलिए उठा रहे हैं क्योंकि राफेल MMRCA करार में उनके क़रीबी संजय भंडारी को कोई हिस्सा नहीं मिल पाया। या हो सकता है उन्हें अब यूरोफाइटर ज्यादा लाभप्रद नज़र आ रहा हो।

8. एबीपी के एक पत्रकार ने बताया कि राहुल गाँधी जर्मनी में यूरोफाइटर प्रतिनिधियों से मिले। क्या वर्तमान राफेल सौदे में उनकी निंदा में कोई भूमिका थी? क्या संजय भंडारी इन कथित बैठकों में शामिल थे?

9.क्या ‘चौकीदार चोर है’ के नारे इसलिए लगाए जाते हैं ताकि हथियारों के सौदागर के साथ राहुल की अपनी सांठगांठ का खुलासा न हो?

10 मौजूदा राफेल सौदे को सुप्रीम कोर्ट से क्लीन चिट मिलने के बाद भी राहुल गाँधी तमाम कुतर्कं से राफेल के पीछे पड़े हुए हैं क्योंकि अगर राफेल डील नाकाम नहीं साबित होती तो यूरोफाइटर पर विचार वापस नहीं किया जा सकता?

चूँकि, राहुल गाँधी राफेल डील के खिलाफ़ हाथ-धो कर पड़ चुके हैं तो राष्ट्रीय सुरक्षा के लिहाज से यह भी महत्तवपूर्ण हो जाता है कि वह केवल जमीन की खरीद-बिक्री पर बात न करते हुए एचएल पाहवा, सीसी थंपी और संजय भंडारी जैसे लोगों से अपने संबंधों के बारे में भी खुलकर बात करें, जिसके कारण उन पर सवालों की पकड़ और गहराती जा रही है।


  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Nupur J Sharma
Editor, OpIndia.com since October 2017

ख़ास ख़बरें

कानून-व्यवस्था बिगड़ने से रोकना है तो ‘मुहम्मद: द मैसेंजर ऑफ गॉड’ पर लगाओ रोक: रजा अकादमी की धमकी

रजा अकादमी ने ईरान के विख्यात फिल्मकार माजिद माजिदी की फिल्म 'मुहम्मद: मैसेंजर ऑफ गॉड' पर प्रतिबंध लगाने की माँग की है।

मध्य प्रदेश के 2 मिशनरी संस्थाओं को दी मान्यता: CARA सीईओ रहे दीपक और हनीट्रैप में फँसे अधिकारियों की जुगलबंदी

इन संस्थाओं में आने वाले बच्चों को शुरू से ही ईसाई बनाने की प्रक्रिया में डाल दिया जाता है। वे गले में क्रॉस लटकाते हैं। परिसर में ही चर्च में प्रेयर्स करते हैं।

माना, ठाकुर के हाथ नजर नहीं आते, पर ये हाथ न होता तो जय-वीरू आजाद न होते

मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कॉन्ग्रेस जब सरकार बनाई थी, तब से ही सिंधिया, पायलट और सिंहदेव को लेकर कयास लगने शुरू हो गए थे।

गहलोत सरकार पर बढ़ा संकट: दिल्ली में पायलट-सिंधिया की मुलाकात, राहुल गाँधी से बातचीत अभी तय नहीं

अशोक गहलोत सरकार पर संकट गहराता जा रहा है। अपने गुट के विधायकों सहित बागी सुर लेकर दिल्ली पहुँचे उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने...

22 लोगों के लिए नौकरी, सब सीट पर मुस्लिमों की भर्ती: पश्चिम बंगाल या पाकिस्तान का ऑफिस? – Fact Check

22 के 22 सीटों पर जिन लोगों का चयन हुआ है, वो सब मुस्लिम हैं। पश्चिम बंगाल के नाडिया जिले में हुई चयन प्रक्रिया को लेकर सोशल मीडिया में...

‘BJP के संपर्क में सचिन पायलट’ और कपिल सिब्बल ने की ‘घोड़े’ की बात: कॉन्ग्रेस में भारी नुकसान की आशंका

गहलोत सरकार पर संकट मंडराते देख कपिल सिब्बल ने चिंता जाहिर की है। उन्होंने ट्विटर पर राजस्थान सरकार का जिक्र किए बगैर...

प्रचलित ख़बरें

मैं हिंदुओं को सबक सिखाना चाहता था, दंगों से पहले तुड़वा दिए थे सारे कैमरे: ताहिर हुसैन का कबूलनामा

8वीं तक पढ़ा ताहिर हुसैन 1993 में अपने पिता के साथ दिल्ली आया था और दोनों पिता-पुत्र बढ़ई का काम करते थे। पढ़ें दिल्ली दंगों पर उसका कबूलनामा।

व्यंग्य: विकास दुबे एनकाउंटर पर बकैत कुमार की प्राइमटाइम स्क्रिप्ट हुई लीक

आज सुबह खबर आई कि एनकाउंटर हो गया। स्क्रिप्ट बदलनी पड़ी। जज्बात बदल गए, हालात बदल गए, दिन बदल गया, शाम बदल गई!

टीवी और मिक्सर ग्राइंडर के कचरे से ‘ड्रोन बॉय’ प्रताप एनएम ने बनाए 600 ड्रोन: फैक्ट चेक में खुली पोल

इन्टरनेट यूजर्स ऐसी कहानियाँ साझा कर रहे हैं कि कैसे प्रताप ने दुनिया भर के विभिन्न ड्रोन एक्सपो में कई स्वर्ण पदक जीते हैं, 87 देशों द्वारा उसे आमंत्रित किया गया है, और अब पीएम मोदी के साथ ही डीआरडीपी से उन्हें काम पर रखने के लिए कहा गया है।

कांगड़ा में रातोरात अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों ने तोड़ा मंदिर, हिन्दुओं में भड़का आक्रोश: तनाव को देखते हुए जाँच में जुटी पुलिस

इंदौरा थाना क्षेत्र में समुदाय विशेष के कुछ लोगों ने मंदिर को तहस-नहस कर दिया। जिसके चलते हिन्दू समुदाय के लोग भड़क गए और माहौल तनावपूर्ण हो गया।

‘पाकिस्तान और बांग्लादेश का राष्ट्रगान याद करो’ – शिक्षिका शैला परवीन ने LKG और UKG के बच्चों को दिया टास्क

व्हाट्सप्प ग्रुप में पाकिस्तान और बांग्लादेश का राष्ट्रगान पोस्ट किया गया। बच्चों के लिए उन मुल्कों के राष्ट्रगान का यूट्यूब वीडियो डाला गया।

कॉन्ग्रेस नेता उदित राज के संगठन ने किया ब्राह्मणों और न्यायपालिका का अपमान: जनेऊधारी ‘सूअर’ से की तुलना

उदित राज के इस परिसंघ ने न केवल ब्राह्मणो के खिलाफ घृणित टिप्पणी की बल्कि उनकी तुलना सूअर से कर डाली। इसके साथ ही उन्होंने अपने ट्वीट में देश की न्यायपालिका के खिलाफ भी अपमानजनक टिप्पणी की।

क्या रूस ने बना ली कोरोना की वैक्सीन? इंसानों पर ट्रायल पूरा करने का किया दावा

दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन का वालंटियर्स पर ट्रायल पूरा हो गया है। रूस की यूनिवर्सिटी ने यह दावा किया है।

कानून-व्यवस्था बिगड़ने से रोकना है तो ‘मुहम्मद: द मैसेंजर ऑफ गॉड’ पर लगाओ रोक: रजा अकादमी की धमकी

रजा अकादमी ने ईरान के विख्यात फिल्मकार माजिद माजिदी की फिल्म 'मुहम्मद: मैसेंजर ऑफ गॉड' पर प्रतिबंध लगाने की माँग की है।

शूट टू किल: अमेरिका से आएँगे 72000 असॉल्ट राइफल, 1.5 लाख जवान इसी हथियार का करेंगे इस्तेमाल

भारतीय सेना ने 72 हजार अमेरिकन असॉल्ट राइफल खरीदने का फैसला लिया है। इसके लिए सेना की तरफ से ऑर्डर भी दे दिया गया है।

हाफिज सईद का बैंक अकाउंट फिर से चालू, लश्कर और जमात के 4 और आतंकियों पर भी मेहरबानी

पाकिस्तान ने 2008 के मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद सहित 5 आतंकियों का बैंक अकाउंट फिर से चालू कर दिया है।

मध्य प्रदेश के 2 मिशनरी संस्थाओं को दी मान्यता: CARA सीईओ रहे दीपक और हनीट्रैप में फँसे अधिकारियों की जुगलबंदी

इन संस्थाओं में आने वाले बच्चों को शुरू से ही ईसाई बनाने की प्रक्रिया में डाल दिया जाता है। वे गले में क्रॉस लटकाते हैं। परिसर में ही चर्च में प्रेयर्स करते हैं।

एक तिहाई बहुमत से बनाएँगे सरकार: गुजरात कॉन्ग्रेस का कार्यकारी अध्यक्ष बनते ही गणित भूले हार्दिक पटेल, हुई किरकिरी

गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को कॉन्ग्रेस ने राज्य में पार्टी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया है। लेकिन, नियुक्ति के बाद किए गए ट्वीट में वह गणित ही भूल बैठे।

अब आकार पटेल ने अभिताभ बच्चन और सचिन तेंदुलकर के लिए दिखाई घृणा

अमिताभ बच्चन के कोरोना संक्रमित होने के बाद हर कोई उनकी सलामती की दुआ कर रहा है। पर आकार पटेल जैसों की न तो मानसिकता आम है और न तौर-तरीके।

राजस्थान में सियासी संकट के बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर कॉन्ग्रेस और अशोक गहलोत पर साधा निशाना

"यह देखकर दुखी हूँ कि मेरे पुराने सहयोगी सचिन पायलट को भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा दरकिनार कर दिया गया। यह दिखाता है कि कॉन्ग्रेस में प्रतिभा और क्षमता पर कम ही भरोसा किया जाता है।"

माना, ठाकुर के हाथ नजर नहीं आते, पर ये हाथ न होता तो जय-वीरू आजाद न होते

मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कॉन्ग्रेस जब सरकार बनाई थी, तब से ही सिंधिया, पायलट और सिंहदेव को लेकर कयास लगने शुरू हो गए थे।

गहलोत सरकार पर बढ़ा संकट: दिल्ली में पायलट-सिंधिया की मुलाकात, राहुल गाँधी से बातचीत अभी तय नहीं

अशोक गहलोत सरकार पर संकट गहराता जा रहा है। अपने गुट के विधायकों सहित बागी सुर लेकर दिल्ली पहुँचे उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने...

हमसे जुड़ें

238,779FansLike
63,437FollowersFollow
273,000SubscribersSubscribe