कॉन्ग्रेस से गठबंधन की भीख माँगते ‘आत्ममुग्ध बौने’ को मिली दुत्कार, ट्विटर पर मीम्स की बरसात

हमें विश्वास है कि उन्हें भविष्य में ऐसे झटके लगते रहेंगे और ट्विटर मजे लेता रहेगा। लोगों की क्रिएटिविटी को दाद देते हुए हम कामना करते हैं कि आख़िर कभी न कभी, केजरीवाल की ओर देखेगी कॉन्ग्रेस।

अभी हाल ही में अरविन्द केजरीवाल को आत्ममुग्ध बौना बताते हुए कुमार विश्वास ने उन पर तंज कसा था। अब ‘आत्ममुग्ध बौने’ का लोग भी मजा ले रहे हैं। दरअसल, कई महीनों से कॉन्ग्रेस के साथ एक अदद गठबंधन को तरस रहे दिल्ली के मुख्यमंत्री को निराशा हाथ लगी। जिस शीला दीक्षित के ख़िलाफ़ उनके पास हज़ारों पन्नों के सबूत हुआ करते थे, आज उन्हीं शीला दीक्षित के सामने हाथ जोड़ कर खड़े केजरीवाल को शीला ने ऐसी ठोकर मारी कि वो कहीं के न रहे। मिन्नतें की, सोशल मीडिया पर कॉन्ग्रेस को सराहा, मोदी को गालियाँ दी- लेकिन सब बेकार। ट्विटर पर लोग कैसे चुप रहते। उन्होंने भी ख़ूब मजे लिए।

ट्विटर पर लोगों ने केजरीवाल द्वारा कॉन्ग्रेस की मिन्नतें करने को फ़िल्मों से जोड़ा और केजरीवाल को राजपाल यादव तो कॉन्ग्रेस को तनुश्री दत्ता के रूप में दिखाया। आप भी देखिए ढोल फ़िल्म के इस दृश्य द्वारा कैसे केजरीवाल के मजे लिए गए। इसी क्रम में ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ के डायलॉग से केजरीवाल का स्वागत किया गया। बता दें कि केजरीवाल ‘फिल्म समीक्षक’ भी हैं।

लोगों ने इसी तरह इंसान से लेकर जानवर और पशु-पक्षियों तक के हावभाव को दर्शा कर केजरीवाल से मज़ाक किया। नीचे देखिए कैसे केजरीवला को कंगना रनौत के बहुचर्चित डायलॉग से जोड़ा गया। कॉन्ग्रेस द्वारा ठुकराने के बाद सरजी फिर अपने वही पुराने वाले जुमले पर लौट आए- ‘सब मिले हुए हैं जी!’

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

अरविन्द केजरीवाल धरना के लिए भी जाने जाते हैं। ऐसे में, कॉन्ग्रेस द्वारा ठुकराए गए केजरीवाल को उनके धरनों को लेकर भी हास्य ट्वीट किए गए। आप भी ऐसे ट्वीट्स के मजे लें।

मंगलवार (मार्च 5, 2019) को दिन में पहले तो ख़बर आई थी कि कॉन्ग्रेस और आम आदमी पार्टी की डील फाइनल होने वाली है और दोनों ही पार्टियाँ तीन-तीन सीटों पर चुनाव लड़ेगी। लेकिन दोपहर तक तस्वीर साफ़ हुई और कॉन्ग्रेस ने केजरी को ठेंगा दिखा दिया। ट्विटर ने केजरीवाल के जले पर नमक में नींबू मिला कर छिड़का गया।

आप ऊपर देख सकते हैं कि कैसे लोगों ने प्रसिद्ध संगीतकार हिमेश रेशमिया के गाने ‘दर्द दिलों के कम हो जाते…’ को लेकर केजरीवाल और राहुल का चित्रण किया। इसके बाद एक अन्य पुराने गाने को लेकर लोगों ने कुछ यूँ पंक्तियाँ जोड़ी- “दर्द ए दिल, दर्द ए गठबंधन, दिल में जगाया आपने।”

इसके बाद तो हद ही हो गई। एक यूजर ने केजरीवाल को उनके तन-बदन में आग लगा हुआ दिखाया।

भारतीय राजनीति को लेकर बात चल रही हो और नरेंद्र मोदी बीच में न आएँ- ऐसा कैसे हो सकता है। लोगों ने मोदी के ठहाके लगाते हुए चित्र लगा कर केजरीवाल को चिढ़ाया।

और अंत में- इस म्यूजिक के साथ आप भी केजरीवाल के मजे लीजिए ताकि आपका दिन भी मस्त हो जाए।

केजरी-कथा अनंत है और हमें विश्वास है कि उन्हें भविष्य में ऐसे झटके लगते रहेंगे और ट्विटर मजे लेता रहेगा। लोगों की क्रिएटिविटी को दाद देते हुए हम भी कामना करते हैं कि आख़िर कभी न कभी, केजरीवाल की ओर देखेगी कॉन्ग्रेस।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

चीफ़ जस्टिस रंजन गोगोई (बार एन्ड बेच से साभार)
"पारदर्शिता से न्यायिक स्वतंत्रता कमज़ोर नहीं होती। न्यायिक स्वतंत्रता जवाबदेही के साथ ही चलती है। यह जनहित में है कि बातें बाहर आएँ।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

112,346फैंसलाइक करें
22,269फॉलोवर्सफॉलो करें
116,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: