Saturday, October 24, 2020
Home हास्य-व्यंग्य-कटाक्ष RaGa और धोनी के भक्तों को हुआ एक समान कॉन्स्टिपेशन, हार को चुपचाप गए...

RaGa और धोनी के भक्तों को हुआ एक समान कॉन्स्टिपेशन, हार को चुपचाप गए डकार

धोनी फैंस घर से नंगे पाँव निकल पड़े। क्रांति का सैलाब सोशल मीडिया पर जमकर बहा। चारों ओर "नहीं धोनी, नहीं धोनी" की चीत्कार सुनाई देने लगी।

एक महान लेखक ने एक बार अपने एक फेसबुक पोस्ट में 3 हैशटैगों के साथ लिखा था- “एक पुराने और बड़े दुःख को भुलाने का सबसे आसान तरीका यह है कि किसी दूसरे बड़े दुःख को अपना लिया जाए।”

देश का कट्टर युवा जागा ही था कि युवराज के राज्याभिषेक में बाधा आ गई। बाधा क्या आई कि युवराज नाराज ही हो गए। फरमान जारी किया गया और गाँव-नगर में ढिंढोरा पिटवाने का राज-आदेश दे दिया गया कि युवराज नाराज हैं और कई दिनों से “कॉन्गलेच के छोना बाबू थाना नहीं था रहे।” तमाम विश्लेषकों के माथे बल पड़ गया। राजनीति के गलियारों में हलचल मच गई।

इस बाबू को थाना थिलाने के प्रयोजन से कॉन्ग्रेस के ‘दद्दावरों’ को मैदान में उतारा गया, क्योंकि उनकी रगों में अभी तक एक गुलाब के फूल वाले समाजवादी नेता का नमक बह रहा था। दद्दावरों को राज धर्म निभाने का वास्ता दिया गया, नेहरूघाटी सभ्यता के दौरान खाई गई अटूट कसम उन्हें आज भी याद थी। दद्दावरों ने दाँतुन के डॉक्टर से हाल ही में लगवाए नए दाँतों का सेट मुँह में डालते हुए कहा – “हाँ हमारी ही गलती थी, आप कहें तो परिवार समेत इस्तीफ़ा आपके चरणों में बिछा दें, लेकिन आप अपना इस्तीफ़ा रोक दीजिए।”

किन्तु, छोना बाबू नहीं डिगे। दल का मनोबल टूटने लगा, दद्दा अपनी टोपी राज दरबार में ही छोड़कर भारी मन से लौटने लगे। इन सब के बीच चुपचाप जो एक घटना दम तोड़ती रही, वो थी समानांतर रूप से डीएम तोड़ती हुई कॉन्ग्रेस की लोकसभा चुनाव में हार की जलालत!

इस इस्तीफे और युवराज को मनाने के खेल से कॉन्ग्रेस को चुनाव की हार का गम भुलाने में बड़ी राहत मिली। इस सारे ‘इस्तीफ़ा प्रकरण’ के बीच कॉन्ग्रेस की हार की घटना का दुःख एक कोने में चुपचाप अपनी मौत मरता रहा। तमाम दिन तैमूर के डायपर बदलने की खबर लिखने वाली गोदी मीडिया ने भी कॉन्ग्रेस की इस हार के दुःख को प्राथमिकता नहीं दी।

एकजुट होकर सबने लोकसभा चुनाव में कॉन्ग्रेस को मिली बड़ी हार के दुःख को युवराज के इस्तीफे के दुःख में तब्दील कर दिया और दिखा दिया कि नेहरू जी के बिस्कुट में वाकई में नमक था। अब पार्टी कार्यकर्ता और तमाम वरिष्ठ-बुजुर्ग नेतृत्व की जान में जान आ चुकी है। सब अपने नकली दाँतों का सेट वापस मुँह में ठूँसकर खूब खिलखिला रहे हैं। इस ख़ुशी के शोर का कारण कॉन्ग्रेस के पार्टी प्रवक्ता बता रहे हैं कि लोकसभा सीट नहीं बचा पाए तो क्या, राहुल गाँधी जी को तो बचा लिया है। ये स्वर सुनते ही स्वर्ग में नेहरू जी की आत्मा फूट-फूटकर मुस्कुराई है।

लेकिन राहुल गाँधी को आखिरकार एक तेज दौरा इस्तीफे का फिर आया और इसमें त्यागपत्र देने से उन्हें कोई नहीं बचा पाया। सबका मनोबल सड़क पर आ गया। अब जनता को इस सदमे से भी जूझना था। बहन प्रियंका के पति और राहुल गाँधी जी के जीजा जी भी आज अश्रुपूरित चिट्ठी लिखकर अपनी अभिव्यक्ति की आजादी का इस्तेमाल कर ही चुके हैं। राहुल गाँधी भी आज घोषणा कर चुके हैं कि वो खड़े रहेंगे।
यकीन ना हो तो अपनी आँखों से देख लो –

यूनेस्को द्वारा प्रमाणित ‘बेस्ट जीजाजी’ ने राहुल को क्या लिखा पत्र में?

क्रिकेट फैंस गहरी साँसें लेकर अपनी जिम्मेदारी पर ही आगे पढ़ें

इसी बीच विश्वविजय पर निकली BCCI की क्रिकेट टीम का कारवाँ भी इंद्रदेव ने सेमीफाइनल मुकाबले में रुकवा दिया। कुछ जानकारों का तो यह भी कहना है कि मोदी जी की सरकार आने के बाद ही भारतीय क्रिकेट टीम सेमीफाइनल मुकाबले में हारी है, वरना जब-जब इस देश में कॉन्ग्रेस का शासन था, तब कभी भारतीय टीम सेमीफाइनल में नहीं हारा करती थी। लेकिन कुछ फैक्ट चेकर्स ने इस दावे में ‘राइट एंगल’ तलाशते हुए पता लगाया कि कॉन्ग्रेस के शासन के दौरान तो अपनी टीम को सीधा बांग्लादेश जैसी अल्पविकसित टीम से हार मिली थी और उसके हाथों भारतीय क्रिकेट टीम को वर्ल्ड कप मुकाबले से बाहर होना पड़ा था। यह वर्तमान हार से कहीं ज्यादा ‘अपमानास्पद’ था।

सेमीफाइनल में मिली हार को पचाने के लिए फेसबुक के कुछ प्रगतिशील लेखक भी आगे आए। उन्होंने इस हार के बाद अपनी दिल की कलम से तुरंत पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक करते हुए यहाँ तक लिख दिया-

“सुन ले पाकिस्तान! कुछ तो बात है टीम इंडिया के फ़साने में
2 दिन लगते हैं तुम्हारे बाप को हराने में।”

खैर, अब नया चैलेंज वर्ल्ड कप से बाहर होने के गम से भी बाहर निकलने का था। इस बीच व्हाट्सएप्प यूनिवर्सिटी पर एक खबर आग की तरह फैला दी गई- “महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट को कहेंगे अलविदा।”

करुण रस में डूबी हुई इन पंक्तियों को पढ़ते ही कट्टर फैन के कानों से लहू दौड़ने लगा। धोनी फैंस घर से नंगे पाँव निकल पड़े। क्रांति का सैलाब सोशल मीडिया पर जमकर बहा। चारों ओर “नहीं धोनी, नहीं धोनी” की चीत्कार सुनाई देने लगी। हालाँकि, अब तक तो कम से कम धोनी को क्रिकेट से इस्तीफा देने से रोक लिया गया है। क्रिकेट के यूट्यूब पर रन बनाने वाले कुछ विश्लेषकों का तो यहाँ तक भी कहना है कि धोनी के आखिरी ओवरों के स्ट्राइक रेट को ध्यान में रखते हुए उन्हें अपने इस्तीफे पर दोबारा विचार करना चाहिए।

फैंस, चाहे राहुल गाँधी के हों या फिर धोनी के, हर जगह जीतते नजर आ रहे हैं। ‘वो’ युवराज को कॉन्ग्रेस में बने रहने के लिए मना चुके हैं और ‘ये’ धोनी को जमे रहने के लिए! इस बीच ख़ुशी की एक बात यह है कि इस्तीफे की आड़ में हम लोग 2 बड़ी हारों को चुपके से डकार गए। उस लेखक की कालजयी पंक्तियाँ बरबस याद आ रही हैं जिसने कहा था- “एक पुराने और बड़े दुःख को भुलाने का…”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

आशीष नौटियाल
पहाड़ी By Birth, PUN-डित By choice

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार में NDA बनाएगी सरकार, BJP जीत सकती है अधिकतम सीटें: ABP-CVoter ओपिनियन पोल के नतीजे

ओपिनियन पोल के अनुसार, नीतीश के नेतृत्व वाले NDA को 47%, महागठबंधन को 29% और पासवान को 4% अंग प्रदेश में वोट मिल सकते हैं।

गुपकार गठबंधन के लीडर बने फारूक अब्दुल्ला: 370 की बहाली के लिए महबूबा, सज्जाद के साथ मिलकर खाई कसम

गुपकार गठबंधन का उद्देश्य अनुच्छेद 370 और 35A की बहाली के साथ ही जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा वापस दिलाने का है।

दाढ़ी कटाकर ड्यूटी पर ‘चकाचक’ होकर लौटे सब इंस्पेक्टर इंतसार अली, एसपी ने लिया सस्पेंशन वापस

निलंबित SI इंतसार अली ने दाढ़ी कटवा ली है। दाढ़ी कटवाने के बाद उन्हें बहाल कर दिया गया है। इंतसार अली को दाढ़ी रखने के मामले में निलंबित कर दिया गया था।

दिल्ली की जनता को मुफ्त कोरोना वैक्सीन देने को लेकर केजरीवाल ने नहीं दिखाया ‘इंट्रेस्ट’, कहा- ‘सोचेंगे’

दिल्ली के लोगों को मुफ्त टीके उपलब्ध कराने के बारे में केजरीवाल ने कहा कि टीका विकसित होने के बाद सरकार इस पर निर्णय करेगी।

मुंबई: अस्पताल के शौचालय में मिला 14 दिन से लापता कोरोना मरीज का सड़ा हुआ शव

14 दिन तक शौचालय में पडे़ रहने की वजह से मरीज का शव इतना खराब हो चुका था, कि उसके लिंग की पहचान करना भी मुश्किल हो गया।

फैक्ट चेक: शिवसेना मुखपत्र ‘सामना’ का आरोप- सरकार सिर्फ बिहार को देगी मुफ्त COVID-19 वैक्सीन

'सामना' ने यह झूठ बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी द्वारा किए गए वादों में बिहार के लोगों के लिए मुफ्त कोरोना की वैक्सीन की घोषणा को लेकर फैलाया है।

प्रचलित ख़बरें

Video: मजार के अंदर सेक्स रैकेट, नासिर उर्फ़ काले बाबा को लोगों ने रंगे-हाथ पकड़ा

नासिर उर्फ काले बाबा मजार में लंबे समय से देह व्यापार का धंधा चला रहा था। स्थानीय लोगों ने वहाँ देखा कि एक महिला और युवक आपत्तिजनक हालत में लिप्त थे।

वो इंडस्ट्री का डॉन है.. कितनों की जिंदगी बर्बाद की, भाँजा ड्रग्स-लड़कियाँ सप्लाई करता है: महेश भट्ट की रिश्तेदार का आरोप

लवीना लोध ने वीडियो शेयर करके दावा किया है महेश भट्ट और उनका पूरा परिवार गलत कामों में लिप्त रहता है। लवीना ने महेश भट्ट को इंडस्ट्री का डॉन बताया है।

नवरात्र के अपमान पर Eros Now के ख़िलाफ़ FIR दर्ज, क्षमा माँगने से भी लोगों का गुस्सा नहीं हुआ शांत

क्षमा पत्र जारी करने के बावजूद सोशल मीडिया पर कई ऐसी एफआईआर की कॉपी देखने को मिल रही हैं जिसमें Eros Now के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज हैं।

फ्रांस के राष्ट्रपति ने इस्लाम के बारे में जो कहा, वही बात हर राष्ट्राध्यक्ष को खुल कर बोलनी चाहिए

इमैनुअल मैक्राँ ने वह कहा जो सत्य है। इस्लाम को उसके मूल रूप में जानना और समझना, उससे घृणा करना कैसे हो गया!

पैगंबर मोहम्मद के ढेर सारे कार्टून… वो भी सरकारी बिल्डिंग पर: फ्रांस में टीचर के गला काटने के बाद फूटा लोगों का गुस्सा

गला काटे गए शिक्षक सैम्युएल पैटी को याद करते हुए और अभिव्यक्ति की आजादी का समर्थन करने के लिए पैगम्बर मोहम्मद के कार्टूनों का...

मजार के अंदर सेक्स रैकेट, मौलाना नासिर पकड़ाया भी रंगे-हाथ… लेकिन TOI ने ‘तांत्रिक’ (हिंदू) लिख कर फैलाया भ्रम

पूरी खबर में एक बात शुरू से ही स्पष्ट है कि आरोपित मजार में रहता है और उसका नाम नासिर है। लेकिन टाइम्स ऑफ इंडिया उसे तांत्रिक लिख कर...
- विज्ञापन -

बिहार में NDA बनाएगी सरकार, BJP जीत सकती है अधिकतम सीटें: ABP-CVoter ओपिनियन पोल के नतीजे

ओपिनियन पोल के अनुसार, नीतीश के नेतृत्व वाले NDA को 47%, महागठबंधन को 29% और पासवान को 4% अंग प्रदेश में वोट मिल सकते हैं।

गुपकार गठबंधन के लीडर बने फारूक अब्दुल्ला: 370 की बहाली के लिए महबूबा, सज्जाद के साथ मिलकर खाई कसम

गुपकार गठबंधन का उद्देश्य अनुच्छेद 370 और 35A की बहाली के साथ ही जम्मू-कश्मीर को राज्य का दर्जा वापस दिलाने का है।

दाढ़ी कटाकर ड्यूटी पर ‘चकाचक’ होकर लौटे सब इंस्पेक्टर इंतसार अली, एसपी ने लिया सस्पेंशन वापस

निलंबित SI इंतसार अली ने दाढ़ी कटवा ली है। दाढ़ी कटवाने के बाद उन्हें बहाल कर दिया गया है। इंतसार अली को दाढ़ी रखने के मामले में निलंबित कर दिया गया था।

दिल्ली की जनता को मुफ्त कोरोना वैक्सीन देने को लेकर केजरीवाल ने नहीं दिखाया ‘इंट्रेस्ट’, कहा- ‘सोचेंगे’

दिल्ली के लोगों को मुफ्त टीके उपलब्ध कराने के बारे में केजरीवाल ने कहा कि टीका विकसित होने के बाद सरकार इस पर निर्णय करेगी।

मुंबई: अस्पताल के शौचालय में मिला 14 दिन से लापता कोरोना मरीज का सड़ा हुआ शव

14 दिन तक शौचालय में पडे़ रहने की वजह से मरीज का शव इतना खराब हो चुका था, कि उसके लिंग की पहचान करना भी मुश्किल हो गया।

फैक्ट चेक: शिवसेना मुखपत्र ‘सामना’ का आरोप- सरकार सिर्फ बिहार को देगी मुफ्त COVID-19 वैक्सीन

'सामना' ने यह झूठ बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी द्वारा किए गए वादों में बिहार के लोगों के लिए मुफ्त कोरोना की वैक्सीन की घोषणा को लेकर फैलाया है।

हाथरस कांड में SIT के सदस्य DIG चंद्र प्रकाश की पत्नी ने लगाई फाँसी, तहकीकात में जुटी पुलिस

यूपी पुलिस के DIG चंद्र प्रकाश की पत्नी पुष्पा प्रकाश ने सुशांत गोल्फ सिटी इलाके में आज सुबह करीब 11 बजे घर में फाँसी के फंदे से लटककर आत्महत्या कर ली।

गाली-गलौज करने पर महिला ने की मुंबई पुलिस की बीच सड़क पर पिटाई, संजय राउत ने कहा- प्रतिष्ठा का सवाल

कालबादेवी इलाके में ड्यूटी पर मौजूद मुंबई ट्रैफिक पुलिस कॉन्सटेबल की एक महिला ने जमकर पिटाई कर दी। महिला का कहना है कि उनके साथ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गया।

महबूबा मुफ्ती को भगा-भगा कर पाकिस्तान क्यों भेजना चाहते हैं कश्मीर के जावेद कुरैशी, देखें Video

वीडियो में जावेद कुरैशी कपड़े फाड़ते हुए महबूबा मुफ़्ती से कहते हैं, "ये कपड़े फाड़ के देख, हिंदुस्तान कहाँ पर बसता है, दिल में। तिरंगे की इज्जत इस दिल में है।"

दहेज़ के लिए शौहर जफ़र ने पीटकर घर से निकाला, देवर इमरान और जेठ ने किया रेप का प्रयास

महिला ने बताया कि देवर इमरान उस पर पहले से ही बुरी नजर रखता था। वो और उसका जेठ भी अक्सर उसके साथ छेड़छाड़ किया करता था। उसने रेप का प्रयास भी किया।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
79,142FollowersFollow
337,000SubscribersSubscribe