Wednesday, June 16, 2021
Home हास्य-व्यंग्य-कटाक्ष गहलोत ने सचिन पायलट को कहा हैंडसम: धरने पर बैठे नाराज साइंटिस्ट सिसोदिया, युवा...

गहलोत ने सचिन पायलट को कहा हैंडसम: धरने पर बैठे नाराज साइंटिस्ट सिसोदिया, युवा राहुल का भी छलका दर्द

सचिन पायलट को हैंडसम बताने से मनीष सिसोदिया इतने गुस्से में थे कि उन्होंने धरने पर बैठने के लिए केजरीवाल से भी रणनीति बनानी जरूरी नहीं समझी। उधर 'हैंडसम' विवाद के बीच शशि थरूर ने सिर्फ इतना कहा कि 'हजारों जवाबों से अच्छी है मेरी खामोशी।'

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सचिन पायलट को हैंडसम बोलते ही राजस्थान की राजनीति में तो कोई ख़ास बदलाव नहीं आया, लेकिन इसके व्यापक परिणामों ने दिल्ली में उथल-पुथल मचा दी है। दरअसल, अशोक गहलोत ने गरमा-गरमी में आज अपने बागी विधायक और राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट को हैंडसम तो कह दिया लेकिन ऐसा कहकर वो दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को नाराज कर बैठे।

अशोक गहलोत ने कहा है कि सचिन पायलट हैंडसम हैं, अंग्रेजी बोलते हैं लेकिन अगर वो थोड़ा और रगड़े जाते तो पार्टी में अच्छा कर सकते थे। रगड़े जाने की बात पर पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने स्पष्ट किया कि वह अनुभव की बात कर रहे थे।

गुप्त सूत्रों के अनुसार, अरविन्द केजरीवाल का दायाँ हाथ कहे जाने वाले मनीष सिसोदिया ने आरोप लगाया है कि इस देश में एक समय में सिर्फ एक ही हैंडसम व्यक्ति हो सकता था और वो निर्विवाद रूप से स्वयं मनीष सिसोदिया हैं।

‘साइंटिस्ट’ सिसोदिया उर्फ़ एसएस किसी और राजनेता को हैंडसम कहे जाने से इतने नाराज हुए हैं कि उन्होंने धरने पर बैठने का निश्चय कर लिया है। जब उनसे पूछा गया कि वो धरना कहाँ देंगे तो उन्होंने धरने की जगह अरविन्द केजरीवाल के ड्रीम प्रोजेक्ट मोहल्ला क्लिनिक का जिक्र किया।

सिसोदिया ने कहा है कि ऐसा कर के दो काम आसान हो जाएँगे; पहला तो ये कि उन्हें धरना देने के लिए खाली जगह आराम से मिल जाएगी और दूसरा ये कि कोरोना वायरस के दौरान लोग अरविन्द केजरीवाल के दूरदर्शी एवं वर्ल्ड क्लास सुविधाओं से युक्त मोहल्ला क्लिनिक को भूल ही गए हैं, और धरना के बहाने मोहल्ला क्लिनिक को एक बार फिर मीडिया में आने का कारण मिल जाएगा।

सचिन पायलट को हैंडसम बताने से मनीष सिसोदिया इतने गुस्से में थे कि उन्होंने धरने पर बैठने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल से भी इस धरने की रणनीति बनानी जरूरी नहीं समझी। इस पर अरविन्द केजरीवाल ने उन्हें प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव प्रकरण की भी याद दिलानी चाही, लेकिन साइंटिस्ट सिसोदिया ने एक नहीं सुनी और वहाँ से चलते बने।

राहुल गाँधी ने भी जताई नाराजगी

लेकिन अशोक गहलोत के सचिन पायलट को हैंडसम बताने से सिर्फ आम आदमी पार्टी ही नहीं, बल्कि कॉन्ग्रेस के भीतर चल रहे कलह से अब तक बेखबर पार्टी के भूतपूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी भी नाराज नजर आ रहे हैं।

राहुल गाँधी ने आपत्ति जताई है कि अगर किसी को हैंडसम कहना ही था तो फिर एक बागी के बजाए अशोक गहलोत ने उन्हें क्यों नहीं चुना? राहुल गाँधी ने अपनी आस्तीनें ऊपर सरकाते हुए कठोर सवाल करते हुए कहा – “क्या मैं यहाँ बस मनोरंजन के लिए अपनी… उपस्थिति लगा रहा हूँ।”

राहुल गाँधी के गुस्सा होते ही पूर्वी सूडान की पहाड़ियों में हल्के भूकम्प के झटके भी महसूस किए गए हैं और रिक्टर स्केल पर उसकी तीव्रता नापने के लिए कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह को भेज दिया गया है।

राजस्थान की राजनीति में आए भूचाल को सफलतापूर्वक दबाने वाले अशोक गहलोत अब पार्टी युवराज के नाराज होने से कुछ ना कह पाने की स्थिति में चले गए हैं। उनका कहना है कि जिस युवराज की शाबासी का उन्हें इन्तजार था, उनके बयान ने उन्हें ही दुःख पहुँचाया है, जिससे उन्हें बहुत कष्ट हुआ है।

अशोक गहलोत के करीबियों का कहना है कि कॉन्ग्रेस में उनकी स्थिति मजबूत बने रहने के लिए सचिन पायलट के विद्रोह को दबाने से ज्यादा महत्वपूर्ण उनकी जगह राहुल गाँधी को हैंडसम बताना था।

पार्टी के अंदरूनी सूत्रों ने पार्टी से निकाल दिए जाने के भय से चुपके से यह बात कही है कि राहुल गाँधी ने अशोक गहलोत को अगली प्रेस वार्ता में अपनी भूल को सुधारने का एक अवसर दिया है। उन्होंने कहा है कि राजस्थान में सरकार किसी की भी रहे, कॉन्ग्रेस में बस एक ही हैंडसम नेता होना चाहिए, और वो आप जानते हैं कि कौन है।

हालाँकि, हैंडसम से उपजे इस पूरे विवाद के प्रकरण के बीच शशि थरूर ने सिर्फ इतना कहा कि ‘हजारों जवाबों से अच्छी है मेरी खामोशी।’

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

आशीष नौटियाल
पहाड़ी By Birth, PUN-डित By choice

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘राजदंड कैसा होना चाहिए, महाराज ने दिखा दिया’: लोनी घटना के ट्वीट पर नहीं लगा ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ टैग, ट्विटर सहित 8 पर FIR

"लोनी घटना के बाद आए ट्विट्स के मद्देनजर योगी सरकार ने ट्विटर के विरुद्ध मुकदमा दायर किया है और कहा है कि ट्विटर ऐसे ट्वीट पर मैनिपुलेटेड मीडिया का टैग नहीं लगा पाया। राजदंड कैसा होना चाहिए, महाराज ने दिखा दिया है।"

आप और कॉन्ग्रेस के झूठ की खुली पूरी तरह पोल, श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट ने भूमि सौदों पर जारी किया विस्तृत स्पष्टीकरण

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से ठीक पहले विपक्ष एक गैर जरूरी मुद्दे को उठाने की कोशिश कर रहा है। राम मंदिर के निर्माण में बाधाएँ पैदा करने के लिए कई राजनीतिक दल घटिया राजनीति कर रहे हैं।

राहुल गाँधी का ‘बकवास’ ट्वीट देख भड़के CM योगी, दिया करारा जवाब, कहा- ‘सच आपने कभी बोला नहीं, जहर फैलाने में लगे हैं’

राहुल गाँधी ने ट्वीट में लिखा था, “मैं ये मानने को तैयार नहीं हूँ कि श्रीराम के सच्चे भक्त ऐसा कर सकते हैं। ऐसी क्रूरता मानवता से कोसों दूर है और समाज व धर्म दोनों के लिए शर्मनाक है।"

पाठकों तक हमारी पहुँच को रोक रही फेसबुक, मनमाने नियमों को थोप रही… लेकिन हम लड़ेंगे: ऑपइंडिया एडिटर-इन-चीफ का लेटर

हमें लगता है कि जिस ताकत का सामना हमें करना पड़ रहा है, वह लगभग हर हफ्ते हम पर पूरी ताकत के साथ हमला बोलती है। हम लड़ेंगे। लेकिन हम अपनी मर्यादा के साथ लड़ेंगे और अपने सम्मान को बरकरार रखेंगे।

‘जो मस्जिद शहीद कर रहे, उसी के हाथों बिक गए, 20 दिलवा दूँगा- इज्जत बचा लो’: सपा सांसद ST हसन का ऑडियो वायरल

10 मिनट 34 सेकंड के इस ऑडियो में सांसद डॉ. एस.टी. हसन कह रहे हैं, "तुम मुझे बेवकूफ समझ रहे हो या तुम अधिक चालाक हो... अगर तुम बिक गए हो तो बताया क्यों नहीं कि मैं भी बिक गया।

सूना पड़ा प्रोपेगेंडा का फिल्मी टेम्पलेट! या खुदा शर्मिंदा होने का एक अदद मौका तो दे 

कितने प्यारे दिन थे जब हर दस-पंद्रह दिन में एक बार शर्मिंदा हो लेते थे। जब मन कहता नारे लगा लेते। धमकी दे लेते थे कि टुकड़े होकर रहेंगे, इंशा अल्लाह इंशा अल्लाह।

प्रचलित ख़बरें

राम मंदिर में अड़ंगा डालने में लगी AAP, ट्रस्ट को बदनाम करने की कोशिश: जानिए, ‘जमीन घोटाले’ की हकीकत

राम मंदिर जजमेंट और योगी सरकार द्वारा कई विकास परियोजनाओं की घोषणाओं के कारण 2 साल में अयोध्या में जमीन के दाम बढ़े हैं। जानिए क्यों निराधार हैं संजय सिंह के आरोप।

‘हिंदुओं को 1 सेकेंड के लिए भी खुश नहीं देख सकता’: वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप से पहले घृणा की बैटिंग

भारत के पूर्व तेज़ गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद ने कहा कि जीते कोई भी, लेकिन ये ट्वीट ये बताता है कि इस व्यक्ति की सोच कितनी तुच्छ और घृणास्पद है।

सिख विधवा के पति का दोस्त था महफूज, सहारा देने के नाम पर धर्मांतरण करा किया निकाह; दो बेटों का भी करा दिया खतना

रामपुर जिले के बेरुआ गाँव के महफूज ने एक सिख महिला की पति की मौत के बाद सहारा देने के नाम पर धर्मांतरण कर उसके साथ निकाह कर लिया।

केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस में फिर होने वाली थी पिटाई? लोगों से पहले ही उतरवा लिए गए जूते-चप्पल: रिपोर्ट

केजरीवाल पर हमले की घटनाएँ कोई नई बात नहीं है और उन्हें थप्पड़ मारने के अलावा स्याही, मिर्ची पाउडर और जूते-चप्पल फेंकने की घटनाएँ भी सामने आ चुकी हैं।

6 साल के पोते के सामने 60 साल की दादी को चारपाई से बाँधा, TMC के गुंडों ने किया रेप: बंगाल हिंसा की पीड़िताओं...

बंगाल हिंसा की गैंगरेप पीड़िताओं ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। बताया है कि किस तरह टीएमसी के गुंडों ने उन्हें प्रताड़ित किया।

‘मुस्लिम बुजुर्ग को पीटा-दाढ़ी काटी, बुलवाया जय श्री राम’: आरोपितों में आरिफ, आदिल और मुशाहिद भी, ज़ुबैर-ओवैसी ने छिपाया

ओवैसी ने लिखा कि मुस्लिमों की प्रतिष्ठा 'हिंदूवादी गुंडों' द्वारा छीनी जा रहीहै । इसी तरह ज़ुबैर ने भी इस खबर को शेयर कर झूठ फैलाया।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
104,122FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe