Thursday, March 4, 2021
Home विविध विषय कला-साहित्य फैज थे कट्टर पाकिस्तानी, हजारों साल पुराना इतिहास बताते थे Pak का: हरिशंकर परसाई...

फैज थे कट्टर पाकिस्तानी, हजारों साल पुराना इतिहास बताते थे Pak का: हरिशंकर परसाई की किताब से खुली पोल

"पाकिस्तान का इतिहास 1947 से शुरू नहीं होता है बल्कि ये तो हज़ारों वर्ष पुराना है।" - फैज़ के इस कुतर्क पर भारतीय लेखक ने उन्हें 1947 और आजादी के संदर्भ में समझाना चाहा तो फैज़ तमतमा गए। फिर फैज़ ने कहा- "नहीं। यह हरगिज़ नहीं हो सकता।"

फैज़ अहमद फैज़ की कविता ‘हम देखेंगे’ को लेकर आजकल देश में एक नई जंग छिड़ी हुई है। आईआईटी कानपुर ने एक समिति बना कर कैम्पस में इस कविता के पाठ, यूनिवर्सिटी के नियम-कायदे और कविता पाठ के बाद सोशल मीडिया पर देश-विरोधी बातों संबंधी जाँच करने का फ़ैसला लिया। जाँच की बात आने के बाद से ही वामपंथियों ने फैज़ को ‘भारत का राष्ट्रभक्त’ साबित करने के लिए पूरा जोर लगा दिया। ट्विटर पर जावेद अख्तर सरीखे लोगों ने फैज़ के गुणगान में ट्वीट्स किए। फैज़ की कविताएँ शेयर की जाने लगीं।

ऐसे में, दैनिक जागरण के पत्रकार अनंत विजय ने हरिशंकर परसाई की एक रचना का जिक्र किया, जिससे साफ़ पता चलता है कि फैज़ किस सोच वाले व्यक्ति थे और कैसे वो भारत के प्रति घृणा से भरे हुए थे। ‘मार्क्सवाद का अर्धसत्य’ के लेखक अनंत विजय ने ‘हरिशंकर परसाई: चुनी हुई रचनाएँ’ नामक पुस्तक से उद्धरण लेकर फैज़ की सोच के बारे में बताया। उन्होंने लिखा कि फैज़ को ‘भारत-भक्त’ मानने वालों को ये ज़रूर देखना चाहिए। परसाई की इस रचनावली में एक घटना का जिक्र है, जो ताशकंद की है।

दरअसल, इस घटना का अनुभव मलयाली लेखक तकषि शिवशंकर पिल्लई ने साझा की थी। दर्जनों उपन्यास और 600 से भी अधिक कहानियाँ लिख चुके पिल्लई एक लोकप्रिय साहित्यकार थे, जिन्हें साहित्य कदमी अवॉर्ड से भी नवाज़ा गया था। पिल्लई के हवाले से महान व्यंगकार परसाई ने लिखा है कि ताशकंद में एफ्रो-एशियाई लेखकों का एक सम्मलेन हुआ था। इस सम्मलेन में पिल्लई ने प्रस्ताव दिया था कि भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश के लेखकों को मिल कर एक संयुक्त वक्तव्य जारी करना चाहिए। उस वक्तव्य में ये होगा कि तीनों ही देश साझा संस्कृति, इतिहास और साहित्य-परंपरा का निर्वहन करते हैं।

बकौल हरिशंकर परसाई, पिल्लई के इस प्रस्ताव को पाकिस्तानी फैज़ अहमद फैज़ ने तुरंत नकार दिया। जबकि वहाँ मौजूद बांग्लादेश के लेखक ने कुछ भी टिप्पणी नहीं की थी। तब फैज़ ने स्पष्ट कहा था कि पाकिस्तान का इतिहास 1947 से शुरू नहीं होता है बल्कि ये तो हज़ारों वर्ष पुराना है। दरअसल, पिल्लई ने जब उन्हें याद दिलाया कि पाकिस्तान तो 1947 में भारत से विभाजित होकर अलग हुआ था, तो फैज़ तमतमा गए। पिल्लई ने कहा कि हदें भले ही बन गई हों लेकिन दोनों देशों की संस्कृति तो वही है। पिल्लई के प्रस्ताव पर फैज़ ने कहा- “नहीं। यह हरगिज़ नहीं हो सकता।

इसके बाद फैज़ ने अपने फ़ैसले के पक्ष में जो तर्क दिया, उसे आप भी जानिए। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की हज़ारों वर्ष पुरानी संस्कृति का भारत से कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान का इतिहास भी अपना है, जो हज़ारों साल पहले जाता है। फैज़ ने कहा कि पाकिस्तान की संस्कृति या इतिहास का भारत से कोई भी संबंध नहीं है। इसके बाद पिल्लई और फैज़ के बीच जोरदार बहस हुई थी।

दरअसल, उस समय पिल्लई भी नहीं जानते थे कि फैज़ अहमद फैज़ कौन हैं, क्योंकि वो दक्षिण भारतीय थे। बाद में उन्होंने अपने कुछ उत्तर भारतीय मित्रों से बातचीत की तो उन्हें पता चला कि उनके साथ बहस करने वाले फैज़ ही थे। इस संस्मरण को पिल्लई ने लिखा है और हरिशंकर परसाई ने ‘इकबाल की बेइज्जती’ में इसका जिक्र किया है।

फैज़ अहमद फैज़: उनकी नज़्म और वामपंथियों का फर्जी नैरेटिव ‘हम देखेंगे’

‘सभी मूर्तियों को हटा दिया जाएगा… केवल अल्लाह का नाम रहेगा’: IIT कानपुर में हिंदू व देश विरोधी-प्रदर्शन

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अनुपम कुमार सिंहhttp://anupamkrsin.wordpress.com
चम्पारण से. हमेशा राइट. भारतीय इतिहास, राजनीति और संस्कृति की समझ. बीआईटी मेसरा से कंप्यूटर साइंस में स्नातक.

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘इस बार चुनाव बंगाल के भविष्य का, ऐसा करंट लगेगा कि कुर्सी से 2 फुट ऊपर उठ जाएँगी ममता’: नितिन गडकरी

"चुनाव के दिन आप लोग सुबह उठिएगा…अपने भगवान को याद कीजिएगा… इसके बाद मतदान केंद्रों पर जाकर कमल का बटन दबाइए। ऐसा करंट लगेगा कि ममता जी अपनी कुर्सी से दो फुट ऊपर उठ जाएँगी।"

ट्यूशन के लिए निकली नाबालिग लड़की गायब, शोएब पर ‘लव जिहाद’ के आरोप: 1 महीने बाद भी पुलिस के हाथ खाली

लड़की के पिता ने कहा, "आपलोग उसे ढूँढ कर ला दीजिए, वरना हम ज़हर खा कर मर जाएँगे। अपने हिन्दू होने का धर्म निभाइए। वो उसे बेच सकता है। मुस्लिम बना देगा उसे।"

अनुराग और तापसी पन्नू ‘गैंग’ के ठिकानों पर इनकम टैक्स की रेड पर लिबरलों का रोना शुरू, कहा- ‘ये तो होना ही था’

“कुछ बिंदु पर, यह रणनीति काम करना बंद कर देगी। लोग डरेंगे नहीं। वे अब भी सच बोलेंगे। फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप, अभिनेत्री तापसी पन्नू आयकर छापे का सामना कर रहे हैं।”

PIB ने प्रोपेगेंडा पोर्टल ‘द वायर’ की खबर के दावे को बताया फर्जी: Fact Check में खुली पोल, जानें क्या है मामला

द वायर की खबर पर पीआईबी की फैक्ट चेक विंग ने ट्वीट कर इस दावे को फर्जी बताया है। उनका कहना है कि इस निकाय का गठन पब्लिशर्स द्वारा किया जाएगा।

अनुराग कश्यप और तापसी पन्नू समेत कई दिग्गजों के 22 ठिकानों पर इनकम टैक्स की रेड, फैंटम फिल्म्स से जुड़ा है मामला

मुंबई में बॉलीवुड की कुछ बड़ी हस्तियों के घर बुधवार को इनकम टैक्स (IT) डिपार्टमेंट का छापा पड़ा है। इनमें एक्ट्रेस तापसी पन्नू, निर्माता अनुराग कश्यप, विकास बहल और मधु मंटेना शामिल हैं।
00:14:56

तिरंगा यात्रा निकालने और हिन्दुओं के घर के सामने बीफ फेंकने के विरोध पर मारी गोली: RSS कार्यकर्ता ने याद किया वो मंजर

दिसंबर 2019 की वो घटना याद होगी, जब बीर बहादुर सिंह नामक RSS कार्यकर्ता को कोलकाता के मेटियाब्रुज में गोली मारी गई थी। सुनिए क्या कहते हैं वो।

प्रचलित ख़बरें

BBC के शो में PM नरेंद्र मोदी को माँ की गंदी गाली, अश्लील भाषा का प्रयोग: किसान आंदोलन पर हो रहा था ‘Big Debate’

दिल्ली में चल रहे 'किसान आंदोलन' को लेकर 'BBC एशियन नेटवर्क' के शो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आपत्तिजनक टिप्पणी (माँ की गाली) की गई।

पुलिसकर्मियों ने गर्ल्स हॉस्टल की महिलाओं को नंगा कर नचवाया, वीडियो सामने आने पर जाँच शुरू: महाराष्ट्र विधानसभा में गूँजा मामला

लड़कियों ने बताया कि हॉस्टल कर्मचारियों की मदद से पूछताछ के बहाने कुछ पुलिसकर्मियों और बाहरी लोगों को हॉस्टल में एंट्री दे दी जाती थी।

‘प्राइवेट पार्ट में हाथ घुसाया, कहा पेड़ रोप रही हूँ… 6 घंटे तक बंधक बना कर रेप’: LGBTQ एक्टिविस्ट महिला पर आरोप

LGBTQ+ एक्टिविस्ट और TEDx स्पीकर दिव्या दुरेजा पर पर होटल में यौन शोषण के आरोप लगे हैं। एक योग शिक्षिका Elodie ने उनके ऊपर ये आरोप लगाए।

‘बिके हुए आदमी हो तुम’ – हाथरस मामले में पत्रकार ने पूछे सवाल तो भड़के अखिलेश यादव

हाथरस मामले में सवाल पूछने पर पत्रकार पर अखिलेश यादव ने आपत्तिजनक टिप्पणी की। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद उनकी किरकिरी हुई।

आगरा से बुर्के में अगवा हुई लड़की दिल्ली के पीजी में मिली: खुद ही रचा ड्रामा, जानिए कौन थे साझेदार

आगरा के एक अस्पताल से हुई अपहरण की यह घटना सीसीटीवी फुटेज वायरल होने के बाद सामने आई थी।

‘बीवी के सामने गर्लफ्रेंड को वीडियो कॉल करता था शौहर, गर्भ में ही मर गया था बच्चा’: आयशा की आत्महत्या के पीछे की कहानी

राजस्थान की ही एक लड़की से आयशा के शौहर आरिफ का अफेयर था और आयशा के सामने ही वो वीडियो कॉल पर उससे बातें करता था। आयशा ने कर ली आत्महत्या।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,287FansLike
81,887FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe