Wednesday, July 24, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'रक्षाबंधन' से भी बुरा हुआ 'लाल सिंह चड्ढा' का हाल, जुमे पर केवल ₹7...

‘रक्षाबंधन’ से भी बुरा हुआ ‘लाल सिंह चड्ढा’ का हाल, जुमे पर केवल ₹7 करोड़ कमाईः कलेक्शन 40% गिरा, आमिर खान की सबसे खराब रेटिंग वाली फिल्मों से बनी एक

थियेटर में लोगों की अनुपस्थिति को देखते हुए देश भर के कई सिनेमाघर के मालिकों ने शुक्रवार के 1300 शो को रद्द कर दिया था। वहीं, फिल्म रिलीज के दूसरे दिन यानी शुक्रवार को दोपहर से पहले वाले कई शो में दर्शक नहीं जुटे। पहले दिन कुछ ऐसे भी शो रहे जिनमें सिर्फ 10-12 दर्शक ही फिल्म देखने पहुँचे थे।

रिलीज के दूसरे दिन शुक्रवार (12 अगस्त 2022) को आमिर खान और करीना कपूर खान (Aamir Khan & Kareena Kapoor Khan) अभिनीत फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ (Laal Singh Chaddha) के व्यवसाय में भारी गिरावट दर्ज की गई है। दूसरे की कमाई में वह रक्षाबंधन से भी पिछड़ गई है।

शुक्रवार को फिल्म का व्यवसाय 6.50-7.00 करोड़ रुपए के बीच सिमट कर रह गया। पहले दिन लाल सिंह चड्ढा का व्यवसाय 12 करोड़ रुपए था। इस तरह पहले दिन की अपेक्षा दूसरे दिन के व्यवसाय में 40 प्रतिशत से अधिक की गिरावट देखी गई। वहीं, फिल्म रक्षाबंधन की कमाई में दूसरे दिन 30 प्रतिशत की गिरावट आई

अगर पिछले दो दिनों का कुल बॉक्स ऑफिस कलेक्शन देखा जाए तो यह 18 करोड़ रुपए के आसपास सिमट कर रह गया है। दूसरी तरह लाल सिंह चड्ढा आमिर खान की लाल सिंह चड्ढा IMBD पर उनकी सबसे कम रेटिंग वाली फिल्म बन गई है। इसकी रेटिंग फिल्म ‘मेला’ और ‘धूम 3’ से भी नीचे है। लोगों ने इस फिल्म को औसत दर्जे का पाया है।

बता दें कि आमिर खान के पूर्व के बयानों और करीना कपूर की अकड़ को लेकर इस फिल्म का सोशल मीडिया के जरिए बॉयकाट का मुहिम चलाया जा रहा है। संभवत: इसका सीधा असर फिल्म के व्यवसाय और उसकी रेटिंग पर दिख रहा है।

थियेटर में लोगों की अनुपस्थिति को देखते हुए देश भर के कई सिनेमाघर के मालिकों ने शुक्रवार के लिए इसके 1300 शो को रद्द कर दिया था। वहीं, फिल्म रिलीज के दूसरे दिन यानी शुक्रवार को दोपहर से पहले वाले कई शो में दर्शक नहीं जुटे। पहले दिन कुछ ऐसे भी शो रहे जिन में सिर्फ 10-12 दर्शक ही फिल्म देखने पहुँचे।

फिल्म के प्रदर्शन को देखते हुए करीना कपूर ने एक इंटरव्यू में लोगों से इस फिल्म का बॉयकाट नहीं करने की विनती की थी। उन्होंने कहा था, “कृपया इस फिल्म का बहिष्कार न करें, क्योंकि यह वास्तव में अच्छे सिनेमा का बहिष्कार करने जैसा है। और लोगों ने इस पर बहुत मेहनत की है। ढाई साल से इस फिल्म पर 250 लोगों ने काम किया है।”

उन्होंने लाल सिंह चड्ढा को एक खूबसूरत फिल्म बताते हुए कहा, “मैं चाहती हूँ कि लोग मुझे और आमिर (खान) को पर्दे पर देखें। तीन साल हो गए हैं, हमने बहुत लंबा इंतजार किया है। लोगों को इस फिल्म का बहिष्कार नहीं करना चाहिए।”

आमिर और करीना के बयान को लेकर दर्शकों में गुस्सा

फिल्म के प्रमोशन के दौरान करीना कपूर खान ने कहा था कि अगर फिल्म अच्छी होगी तो इसे अच्छी प्रतिक्रिया मिलेगी और ये सभी उम्मीदों के पार चली जाएगी। उन्होंने कहा था कि बॉयकाट जैसी चीजों का अच्छी फिल्म पर असर नहीं होता और वो इसे गंभीरता से भी नहीं लेतीं। एक अन्य इंटरव्यू में करीना कहा था कि विवादों पर सफाई देना वो जरूरी नहीं समझतीं।

इसके पहले उन्होंने दर्शकों को दोयम दर्जे का समझते हुए उन्होंने कहा था कि जिसे नहीं देखना है मत देखे, कोई जबरदस्ती है क्या। दरअसल, इंडस्ट्री में नेपोटिज्म (भाई-भतीजावाद) के सवाल में उन्होंने कहा था, “ऑडियन्स ने ही नेपोटिज्म से जुड़े एक्टर्स को स्टार्स बनाया है। आप नहीं जा रहे हो फिल्में देखने तो मत जाओ। किसी ने आपके साथ जोर-जबरदस्ती नहीं की है।”

दूसरी तरफ, आमिर खान लोगों से अपील कर रहे थे कि वो ‘लाल सिंह चड्ढा’ का बॉयकॉट न करें और इसे थिएटर में जाकर देखें। आमिर खान ने कहा कि कुछ लोगों को लगता है कि उन्हें देश से प्यार नहीं, लेकिन वो गलत हैं।

बता दें कि आमिर खान ने केंद्र में सरकार बदलते ही साल 2015 में कहा था कि भारत में असहिष्णुता बढ़ रही है। उनकी पूर्व पत्नी किरण राव को देश में डर लगता है। आमिर के इस बयान पर काफी विवाद हुआ था। हालाँकि, आमिर उस बयान को लेकर अब बहाने बना रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -