Saturday, July 13, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनकुछ ऐसा जो बदल देगा भारतीय सिनेमा का चेहरा... 'द कश्मीर फाइल्स' और 'पुष्पा'...

कुछ ऐसा जो बदल देगा भारतीय सिनेमा का चेहरा… ‘द कश्मीर फाइल्स’ और ‘पुष्पा’ के निर्देशकों ने मिलाया हाथ, ‘कार्तिकेय 2’ बनाने वाले अभिषेक अग्रवाल करेंगे प्रोड्यूस

अभिषेक अग्रवाल ने कहा कि भारतीय सिनेमा अब ऐसा नहीं रह जाएगा, बस देखते रहिए। विवेक अग्निहोत्री ने कहा कि वो लोग मिल कर सिनेमा के माध्यम से भारत को एक कर रहे हैं।

पिछले कुछ वर्षों से दक्षिण भारत की फ़िल्में न सिर्फ पूरे देश में, बल्कि विदेशों में भी शानदार प्रदर्शन कर रही हैं। इस साल बॉलीवुड की जिस छोटी बजट की फिल्म ने ब्लॉकबस्टर होकर सबको चौंका दिया, वो थी ‘द कश्मीर फाइल्स’। विवेक अग्निहोत्री इस फिल्म के निर्देशक और अभिषेक अग्रवाल निर्माता थे। इसी तरह अल्लू अर्जुन की तेलुगु फिल्म ‘पुष्पा’ पूरे भारत में हिट हुई। अब पुष्पा के निर्देशक सुकुमार से विवेक अग्निहोत्री और अभिषेक अग्रवाल ने एक पैन इंडिया फिल्म के लिए हाथ मिलाया है।

अभिषेक अग्रवाल ने कहा कि वो देश के दो प्रतिभाशाली फिल्म निर्देशकों के साथ मिल कर सौभाग्यशाली और रोमांचक महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सुकुमार और विवेक अग्निहोत्री मिल कर कुछ ऐसा देने वाले हैं, जो आज तक नहीं हुआ। अभिषेक अग्रवाल ने कहा कि भारतीय सिनेमा अब ऐसा नहीं रह जाएगा, बस देखते रहिए। विवेक अग्निहोत्री ने कहा कि वो लोग मिल कर सिनेमा के माध्यम से भारत को एक कर रहे हैं।

हालाँकि, विवेक अग्निहोत्री ने फ़िलहाल ये खुलासा नहीं किया है कि ये प्रोजेक्ट है क्या और वो लोग मिल कर क्या बनाने जा रहे हैं। उन्होंने लोगों से ही इसका अंदाज़ा लगाने को कहा है। अब सभी को इंतजार है कि ‘पुष्पा’ और ‘द कश्मीर फाइल्स’ की टीम मिल कर मनोरंजन की दुनिया में क्या खलबली मचाती है। सुकुमार फ़िलहाल ‘पुष्पा 2’ की शूटिंग में भी व्यस्त हैं, फ़िलहाल इसका रिलीज डेट सामने नहीं आया है, लेकिन इस फिल्म से तेलुगु इंडस्ट्री को काफी उम्मीदें हैं।

बता दें कि ‘अभिषेक ग्रुप’ के मैनेजिंग डायरेक्टर अभिषेक अग्रवाल अब तेलंगाना के रंगारेड्डी जिले के कंडुकुर मंडल स्थित थिम्मापुर गाँव की तस्वीर बदलेंगे। उन्होंने इसे गोद लिया है। इस कार्यक्रम में बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु और वरिष्ठ अभिनेता अनुपम खेर भी मौजूद थे। अभिषेक अग्रवाल ने ‘चन्द्रकला फाउंडेशन’ के बैनर तले इस गाँव को गोद लेने का ऐलान किया। कोरोना काल में दो सालों में इसका ‘सार्थक दिवस’ मनाया गया था, जिसमें ज़रूरतमंदों की मदद की गई। अब इसका तीसरा ‘सार्थक दिवस’ मनाया गया है। ये दिवस दिवंगत चन्द्रकला देवी की जयंती पर मनाया जाता है, जो अभिषेक अग्रवाल की दादी थीं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे ‘चाणक्य’ बताया, उसके समर्थन के बावजूद हारा मौजूदा MLC: महाराष्ट्र में ऐसे बिखरा MVA गठबंधन, कॉन्ग्रेस विधायकों ने अपनी ही पार्टी को दिया...

जिस जयंत पाटील के पक्ष में महाराष्ट्र की राजनीति के कथित चाणक्य और गठबंधन के अगुवा शरद पवार खुद खड़े थे, उन्हें ही हार का सामना करना पड़ा।

18 बैंक खाते, 95 करोड़ रुपए, अब तक 11 शिकंजे में… जनजातीय समाज का पैसा डकारने के मामले में कॉन्ग्रेस के पूर्व मंत्री गिरफ्तार,...

सीधे शब्दों में समझें तो पूरा मामला ये है कि ST निगम के कुछ अधिकारियों ने फर्जी हस्ताक्षरों का इस्तेमाल कर के अवैध रूप से 94,73,08,500 रुपए विभिन्न बैंक खातों में भेज दिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -