Friday, July 19, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'भारत में भी नहीं काम कर रहा राइट साइड': जस्टिन बीबर की बीमारी पर...

‘भारत में भी नहीं काम कर रहा राइट साइड’: जस्टिन बीबर की बीमारी पर मुनव्वर फारूकी की ‘कॉमेडी’, जुमे के दंगों पर चुप्पी

मुनव्वर फारुकी के इस ट्वीट से उसकी मानसिकता का पता चलता है। जस्टिन बीबर के प्रति अपनी संवेदना जताने के बहाने न केवल उनका मजाक उड़ा रहा है, बल्कि वो सरकार पर भी निशाना साधने की कोशिश कर रहा है।

स्टैण्डअप कॉमेडिन मुनव्वर फारुकी (Munawar Faruqui) हिन्दू देवी-देवताओं का मजाक उड़ाने और दक्षिणपंथियों से नफरत के लिए कुख्यात रहा है। इसी क्रम में इस बार उसने हॉलीवुड के फेमस पॉप सिंगर जस्टिन बीबर (Justin Bieber) के चेहरे के पैरालाइज होने का मजाक उड़ाया है। इसके साथ ही उसने इस ट्वीट के बहाने केंद्र सरकार पर निशाना साधा। फारुकी ने अप्रत्यक्ष तरीके से सरकार पर सही ढंग से काम नहीं करने का आरोप लगाया।

पॉप गायक जस्टिन बीबर को पैरालिसिस वाली खतरनाक बीमारी होने की खबर को लेकर फारुकी ने ट्वीट किया। इस्लामी कट्टरपंथ की मानसिकता से सने फारुकी ने लिखा, “प्रिय जस्टिन बीबर मैं समझ सकता हूँ, यद्यपि भारत में भी राइट साइड अच्छे से काम नहीं कर रहा है।” जानने वाली बात ये भी है कि जुमे के दिन हुए देश भर के कई शहरों के दंगों पर मुनव्वर फारूकी ने एकदम चुप्पी साध रखी है।

मुनव्वर फारूकी ने जस्टिन बीबर की बीमारी पर किया संवेदनहीन ट्वीट

मुनव्वर फारुकी के इस ट्वीट से उसकी मानसिकता का पता चलता है। जस्टिन बीबर के प्रति अपनी संवेदना जताने के बहाने न केवल उनका मजाक उड़ा रहा है, बल्कि वो सरकार पर भी निशाना साधने की कोशिश कर रहा है।

गौरतलब है कि फेमस पॉप सिंगर जस्टिन बीबर (Justin Bieber) को रामसे हंट सिंड्रोम ( Ramsay Hunt Syndrome) नाम की एक दुर्लभ बीमारी हो गई है। इसके चलते उनका आधा चेहरा पैरालाइज हो गया है। इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर कर बीबर ने बताया कि वे एक तरफ की आँख झपका नहीं सकते हैं। एक साइड से स्माइल भी नहीं कर पा रहे हैं और उनकी नाक भी नहीं हिल रही है।

वीडियो में वह कहते हैं, “इस समय मैं स्टेज पर परफॉर्म नहीं कर सकता, क्योंकि मेरा शरीर काम नहीं कर रहा है। यह वायरस बेहद गंभीर है, जैसा कि आप मेरे शरीर को देख सकते हैं। डॉक्टर्स ने भी मुझे पूरी तरह से आराम करने के लिए कहा है। मैं उम्मीद कर रहा हूँ कि आप लोग समझेंगे और मैं यह समय आराम करने और रिलैक्स करने में लगाने वाला हूँ, ताकि मैं 100 प्रतिशत ठीक होकर वापस लौटूँ और वो करूँ, जो करने के लिए मैं पैदा हुआ हूँ।”

रामसे हंट सिंड्रोम ऐसी न्यूरोलॉजिकल बीमारी है, जो कि वैरिकाला-जोस्टर वायरस के कारण होती है। इस बीमारी में कान के चारों ओर त्वचा पर चकत्ते के साथ ही चेहरे पर लकवा मार जाता है। ये वायरस बच्चों में चिकनपॉक्स और वयस्कों में दाद के कारण बनता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -