Saturday, July 13, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनKGF 2 से ज्यादा बिके टिकट, कमाई में PS 1 से भी निकली आगे:...

KGF 2 से ज्यादा बिके टिकट, कमाई में PS 1 से भी निकली आगे: कांतारा देख कर रजनीकांत ने कहा- हिला दिया मुझे

इस फिल्म को बनाने वाले अभिनेता ऋषभ का कहना है कि ये सफलता एक दिन में नहीं मिली, बल्कि इसके लिए उन्होंने 18 वर्षों तक संघर्ष किया है। बता दें कि इस फिल्म के लेखक, डायरेक्टर और लीड हीरो ऋषभ शेट्टी ही हैं।

अभिनेता और निर्देशक ऋषभ शेट्टी की फिल्म कांतारा सफलता के नए कीर्तिमान बना रही है। कई भाषाओं में रिलीज हुई यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर जबरदस्त कलेक्शन कर रही है। हिंदी भाषा की कमाई में इस फिल्म ने पोंनियिन सेलवन-1 को भी पीछे छोड़ दिया है। हिंदी में रिलीज होने के 13 दिन में कांतारा फिल्म लगभग 30 करोड़ रुपए का व्यापार कर चुकी है। पहले यह फिल्म केवल कन्नड़ भाषा में बनी थी।

फिल्म समीक्षक रमेश बाला ने ट्वीट कर के कांतारा फिल्म की इस उपलब्धि की जानकारी दी है। वहीं, ट्रेड एनालिस्ट तरन आदर्श ने बताया कि कांतारा फिल्म ने अकेले हिंदी भाषा में 12 दिनों में 26.50 करोड़ रुपए का कारोबार किया है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, कांतारा फिल्म ने तमाम भाषाओं को मिला कर अब दुनिया भर में 232 करोड़ का ग्रॉस कलेक्शन किया है। इस ग्रॉस कलेक्शन में लगभग 217 करोड़ भारत से आया है, जबकि शेष राशि विदेशों से कलेक्ट हुई है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, कांतारा कर्नाटक में अब तक सबसे ज्यादा देखी गई फिल्म बन चुकी है। दावा किया जा रहा है कि इस फिल्म ने KGF के भी दोनों हिस्सों को पीछे छोड़ दिया है। KGF 2 के कुल 75 लाख टिकट बिके थे, जबकि कांतारा के अब तक 77 लाख टिकट बिक चुके हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कांतारा फिल्म को न सिर्फ भारतीय बल्कि विदेशी दर्शक भी काफी पसंद कर रहे हैं। बॉलीवुड से शिल्पा शेट्टी, अल्लू अर्जुन और रजनीकांत जैसे कई अभिनेता और अभिनेत्री इस फिल्म की खुलकर तारीफ कर चुके हैं। रजनीकांत ने तो कांतारा को खुद को हिला देने जैसी फिल्म बताया और ऋषभ शेट्टी को बधाई दी।

इस फिल्म को बनाने वाले अभिनेता ऋषभ का कहना है कि ये सफलता एक दिन में नहीं मिली, बल्कि इसके लिए उन्होंने 18 वर्षों तक संघर्ष किया है। बता दें कि इस फिल्म के लेखक, डायरेक्टर और लीड हीरो ऋषभ शेट्टी ही हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -