Thursday, July 25, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनसजदा खालिक को, इब्लीस से याराना भी... हज के बाद वैष्णो देवी के दरबार...

सजदा खालिक को, इब्लीस से याराना भी… हज के बाद वैष्णो देवी के दरबार में SRK को देख भड़के मुस्लिम कट्टरपंथी, कहा – फ्लॉप होगी ‘पठान’ फिल्म

दरअसल, यह कोई पहला मामला नहीं है, जब शाहरुख को मुस्लिम कट्टरपंथियों ने निशाने पर लिया हो। इससे पहले 1 दिसंबर, 2022 को शाहरुख खान की मक्का में उमराह (Umrah) करते हुए कई तस्वीरें सामने आई थीं।

बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) की फिल्म ‘पठान’ (Pathaan) 25 जनवरी, 2023 को सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है। फिल्म की रिलीज से पहले अभिनेता मक्का में उमराह करने के बाद (Mata Vaishno Devi) माता वैष्णो देवी के दरबार पहुँचे। यहाँ एक्टर ने माता के आगे माथा टेका।

सोशल मीडिया पर उनके मंदिर पहुँचने के कई वीडियो सामने आए हैं, जहाँ कुछ लोग उनके ‘उमराह’ के बाद वैष्णो मंदिर पहुँचने की तारीफ कर रहे हैं। वहीं कुछ कट्टरपंथी उनके हिंदू मंदिर जाने से आक्रोशित हैं। अली बिन मुहम्मद लिखता है, “मजाक बना के रख दिया है मजहब को।”

शनामन लिखती है, “कुछ भी कर लो तुम्हारी हर फिल्म का विरोध होगा।”

ट्विटर पर ‘@Real_Immu’ नाम के अकाउंट ने अभिनेता के लिए लिखा कि सजदा खालिक को, इब्लीस से याराना भी। हश्र में किससे मोहब्बत का सिला माँगेगा? खान साहेब ने शाहरुख खान की वीडियो पर कमेन्ट किया, “बेगैरत।”

अब्बास कहता है, “पठान भी फ्लॉप होगी।”

ट्विटर पर ‘@seek_er__’ नाम के अकाउंट ने लिखा, “आगे क्या है, चर्च या गुरुद्वारा।”

दरअसल, यह कोई पहला मामला नहीं है, जब शाहरुख को मुस्लिम कट्टरपंथियों ने निशाने पर लिया हो। इससे पहले 1 दिसंबर, 2022 को शाहरुख खान की मक्का में उमराह (Umrah) करते हुए कई तस्वीरें सामने आई थीं। जैसे ही मक्का में उमराह करते शाहरुख खान की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुईं तो मुस्लिम कट्टरपंथियों ने बॉलीवुड अभिनेता को गाली देना और उन पर सवाल उठाना शुरू कर दिया।

अमाल ने कहा था, “शाहरुख मूर्तियों की पूजा करता है। वह अपने घर में हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियाँ रखता है। इस्लाम में यह सबसे बड़ा पाप माना जाता है।” वहीं रिज नाम के ट्विटर अकाउंट ने कहा था कि शाहरुख खान की बॉलीवुड से कमाई इस्लाम के अनुसार हराम है, ऐसे में उसका उमराह कैसे कबूल किया जाएगा।

गौरतलब है कि अगस्त 2022 में शाहरुख खान द्वारा गणेश चतुर्थी के अवसर पर भगवान की मूर्ति की तस्वीर सोशल मीडिया पर साझा करने पर उनके मजहब के कुछ लोग भड़क उठे और उन्हें खरी-खोटी सुनाई थी। तैमूर उल हसन नामक ने लिखा था, “मुस्लिमों के लिए कितनी शर्म की बात है सर। आपको मुस्लिम या हिंदू होने के लिए किसी एक मजहब को चुनना चाहिए। आपको पता होना चाहिए कि मुस्लिम केवल अल्लाह की इबादत करते हैं और पैगंबर मुहम्मद मानवता के जीवन को बदलने के लिए आए थे। पैगंबर ने हमें सुंदर मजहब दिया।”

वर्क फ्रंट की बात करें तो शाहरुख खान कई वर्षों के बाद ‘पठान’ के साथ बड़े पर्दे पर वापसी कर रहे हैं। इस फिल्म में उनके साथ जॉन अब्राहम और दीपिका पादुकोण भी मुख्य भूमिका में हैं। इसके अलावा वह नयनतारा के साथ ‘जवान’ और तापसी पन्नू के साथ राजकुमार हिरानी की फिल्म ‘डंकी’ में भी लीड रोल में हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अखलाक की मौत हर मीडिया के लिए बड़ी खबर… लेकिन मुहर्रम पर बवाल, फिर मस्जिद के भीतर तेजराम की हत्या पर चुप्पी: जानें कैसे...

बरेली में एक गाँव गौसगंज में तेजराम नाम के एक युवक की मुस्लिम भीड़ ने मॉब लिंचिंग कर दी। इलाज के दौरान तेजराम की मौत हो गई।

‘वन्दे मातरम’ न कहने वालों को सेना के जवान और डॉक्टर ने Whatsapp ग्रुप में कहा – पाकिस्तान जाओ: सिद्दीकी ने करवा दी थी...

शिकायतकर्ता शबाज़ सिद्दीकी का कहना है कि सेना के जवान और डॉक्टर ने मुस्लिमों की भावनाओ को ठेस पहुँचाई है, उनके भीतर दुर्भावना थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -