Tuesday, October 19, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनये खंडहर ऐसे ही रहेगा, महिला के साहस-इच्छाशक्ति का प्रतीक है: कंगना; राज्यपाल कोश्यारी...

ये खंडहर ऐसे ही रहेगा, महिला के साहस-इच्छाशक्ति का प्रतीक है: कंगना; राज्यपाल कोश्यारी केंद्र को भेजेंगे रिपोर्ट

गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी ने उद्धव ठाकरे के प्रमुख राजनीतिक सलाहकार अजॉय मेहता को तलब कर सीएम के इस 'बेतुके सलूक' पर अपनी नाराजगी जाहिर की।

अभिनेत्री कंगना रनौत ने एक ट्वीट में कहा है कि वह बृहन्मुंबई नगर निगम द्वारा बुधवार को ध्वस्त किए गए अपने कार्यालय का नवीनीकरण नहीं करेंगी और इसे एक ऐसी महिला की हिम्मत के प्रतीक के तौर पर इसी तरह से रखेंगी, जिसने इस दुनिया में मजबूती से खड़े रहने की इच्छा जताई।

वहीं, महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने उद्धव ठाकरे सरकार की इस करतूत को ‘बेतुका’ बताते हुए अपनी नाराजगी जाहिर की है। BMC ने कथित अवैध निर्माण के आधार पर कंगना के ऑफिस को बुलडोजर और बड़े हथियारों से तोड़ दिया था।

एक ट्वीट में, कंगना रनौत ने लिखा, “मेरा ऑफिस 15 जनवरी को खुला, कुछ ही समय बाद कोरोना महामारी आई। हम में से ज्यादातर लोगों की तरह ही मैंने भी उसके बाद काम नहीं किया। इसे ठीक करने के लिए मेरे पास रूपए भी नहीं हैं। मैं उसी खंडहर से काम करुँगी और उस ऑफिस को इसी तरह रहने दूँगी। यह खंडहर एक ऐसी महिला की इच्छाशक्ति के प्रतीक रूप में रखा जाएगा, जो इस दुनिया के सामने उठने का साहस करती है।”

इस ट्वीट के साथ ही कंगना ने ‘कंगना बनाम उद्धव’ हैशटैग भी जोड़ा है।

उद्धव सरकार के कारनामे से निराश गवर्नर कोश्यारी केंद्र सरकार को भेजेंगे रिपोर्ट

शिवसेना द्वारा नियंत्रित बीएमसी के ऑफिस में की गई तोड़फोड़ पर महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने बृहस्पतिवार (सितम्बर 10, 2020) को बीएमसी की कार्रवाई पर नाराजगी जताई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने इस पूरे प्रकरण में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के मुख्य सलाहकार अजॉय मेहता से चर्चा की। उन्होंने मेहता को तलब कर सीएम ठाकरे के इस ‘बेतुके सलूक’ पर अपनी नाराजगी जाहिर की।

वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक, गवर्नर ने मेहता के जरिए सीएम को सख्त संदेश भेजा है। बताया जा रहा है कि अजॉय मेहता इस संबंध में सीएम उद्धव को जानकारी दे देंगे। वहीं, राज्यपाल कोश्यारी भी इस विषय पर केंद्र को एक रिपोर्ट देने जा रहे हैं।

केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा उपलब्ध कराए गए सुरक्षा गार्डों की सुरक्षा के बीच बीएमसी द्वारा ध्वस्त किए जाने के कुछ घंटों बाद कंगना रनौत 9 सितंबर को मुंबई पहुँची। बृहस्पतिवार को, अभिनेत्री ने अपनी संपत्ति का जायजा लिया और नुकसान का सर्वेक्षण किया।

शिवसेना नेता संजय राउत के साथ जारी वाकयुद्ध के बाद कंगना ने अपनी सुरक्षा के लिए चिंता व्यक्त की थी, जिसके बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा उन्हें वाई-प्लस श्रेणी सुरक्षा कवर प्रदान किया गया।

हाल ही में कंगना रनौत ने कहा था कि वह मुंबई में असुरक्षित महसूस करती हैं, और इसकी तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से की। इस पर शिवसेना नेता संजय राउत ने उन्हें ‘हरामखोर’ कहते हुए उन्हें महाराष्ट्र में पैर न रखने की धमकी दी थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,820FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe