Wednesday, July 24, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनसैनिटरी पैड पर भगवान श्रीकृष्ण, 'मासूम सवाल' के पोस्टर का लोगों ने किया विरोध:...

सैनिटरी पैड पर भगवान श्रीकृष्ण, ‘मासूम सवाल’ के पोस्टर का लोगों ने किया विरोध: दुर्गति के बावजूद हिन्दू विरोध पर अड़ा बॉलीवुड

उन्होंने कहा कि इसका एकमात्र कारण यही है कि मेंस्टुरेशन और सैनिटरी पैड को लेकर समाज में जो सोच है उसे बदला जाए और नैरेटिव को बदला जाए।

तमाम विरोधों के बावजूद भी बॉलीवुड अपना हिन्दू विरोधी रुक त्यागने को तैयार नहीं है। अब फिल्म ‘मासूम सवाल’ के पोस्टर को लेकर विवाद खड़ा हो गया है, जिसमें सैनिटरी पैड पर भगवान श्रीकृष्ण को दिखाया गया है। दावा किया जा रहा है कि इस फिल्म को महिलाओं को आने वाले पीरियड्स और इसकी समस्याओं पर बनाया गया है। मेंस्टुरेशन पर बनी इस फिल्म में सैनिटरी पैड पर भगवान श्रीकृष्ण को दिखाए जाने का विरोध हो रहा है।

सोशल मीडिया पर लोग कह रहे हैं कि बॉलीवुड अपनी दुर्गति के बावजूद हिन्दू विरोध में डूबा हुआ है। फिल्म के निर्देशक संतोष उपाध्याय और अभिनेत्री एकावली खन्ना ने विरोध पर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि सैनिटरी पैड को दिखाने के पीछे वाजिब कारण हैं। डायरेक्टर ने कहा कि कभी-कभी चीजों को देखने का हमारा नजरिया गलत होता है, जिससे भ्रम पैदा होता है। उन्होंने कहा कि पूरी फिल्म मेंस्टुरेशन पर आधारित है, इसीलिए सैनिटरी पैड दिखाना अनिवार्य है।

उन्होंने कहा कि पोस्टर में सैनिटरी पैड है और उस पर भगवान श्रीकृष्ण नहीं हैं। हालाँकि, पोस्टर में स्पष्ट देखा जा सकता है कि सैनिटरी पैड की आकृति पर भगवान श्रीकृष्ण की तस्वीर बनी हुई है। फिल्म के लोगो में भी भगवान श्रीकृष्ण हैं। वहीं अभिनेत्री खन्ना ने कहा कि उन्हें किसी प्रकार के विरोध के अभियान की जानकारी नहीं है, लेकिन अगर ऐसा हुआ है तो निर्माताओं का किसी की भावनाओं को ठेस पहुँचाने का कोई आशय नहीं था।

उन्होंने कहा कि इसका एकमात्र कारण यही है कि मेंस्टुरेशन और सैनिटरी पैड को लेकर समाज में जो सोच है उसे बदला जाए और नैरेटिव को बदला जाए। इस फिल्म का ट्रेलर भी यूट्यूब पर जारी किया जा चुका है। इसमें अभिनेत्री ने एक वकील का किरदार अदा किया है, जो एक लड़की का केस लड़ती है। उस लड़की पर समाज तरह-तरह के प्रतिबंध लगाता है और परिवार उसकी संवेदनाओं को नहीं समझता। हाल ही में माँ काली को सिगरेट पीते हुए और LGBTQ का झंडा उठाए एक फिल्म के पोस्टर में दिखाया गया था, जिसके बाद इसका विरोध हुआ था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -