Tuesday, July 23, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनजिस कॉलेज में एक्टर प्रकाश राज का हुआ 'प्राइवेट इवेंट', उस परिसर को छात्रों...

जिस कॉलेज में एक्टर प्रकाश राज का हुआ ‘प्राइवेट इवेंट’, उस परिसर को छात्रों ने गोमूत्र से किया शुद्ध: कर्नाटक के शिवमोगा का मामला

प्रकाश राज हिंदुओं और केंद्र की भाजपा सरकार के खिलाफ समय-समय पर विवादित टिप्पणी करते रहे हैं। साल 2017 मे प्रकाश राज ने एक ट्वीट करके कहा था, "नैतिकता के नाम पर युवक-युवती से मारपीट आतंक नहीं है तो क्‍या है? लिंचिंग के नाम पर कानून हाथ में लेना आतंकवाद नहीं है तो क्‍या है?"

दक्षिण भारतीय फिल्मों के एक्टर प्रकाश राज (Prakash Raj) ने कर्नाटक के शिवमोगा के एक कॉलेज में हाल ही में एक कार्यक्रम किया था। इस कार्यक्रम के बाद 8 अगस्त 2023 दिन मंगलवार को वहाँ के विद्यार्थियों ने परिसर को गोमूत्र से साफ किया है। दरअसल, विद्यार्थियों ने इस कार्यक्रम का विरोध किया था।

मामला शिवमोगा जिले के एम विश्वेश्वरैया कॉलेज ऑफ आर्ट्स एंड कॉमर्स का है। कुछ दिन पहले कॉलेज के एक हॉल में ‘डायलॉग ऑन थिएटर, सिनेमा एंड सोसायटी’ विषय पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस प्राइवेट इवेंट में कॉलेज के विद्यार्थियों को आमंत्रित नहीं किया गया था।

इसके बाद कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने इसका विरोध किया था और कहा था कि एक प्राइवेट कार्यक्रम कॉलेज परिसर में कैसे किया जा सकता है। विद्यार्थियों के इस कार्यक्रम का अन्य लोगों ने भी विरोध किया था। विरोध को देखते हुए पुलिस ने बैरिकेड लगाकर विद्यार्थियों एवं बाहरी लोगों को कॉलेज में घुसने से रोक दिया था।

इन सब विवादों के बाद इस हॉल को गोमूत्र से साफ किया गया है। इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में दिख रहा है कि प्रकाश राज का कार्यक्रम खत्‍म होने के बाद कॉलेज के छात्रों ने गोमूत्र से धो करके कैंपस का शुद्धिकरण करने की बात कही।

बताते चलें कि प्रकाश राज हिंदुओं और केंद्र की भाजपा सरकार के खिलाफ समय-समय पर विवादित टिप्पणी करते रहे हैं। साल 2017 मे प्रकाश राज ने एक ट्वीट करके कहा था, “नैतिकता के नाम पर युवक-युवती से मारपीट आतंक नहीं है तो क्‍या है? लिंचिंग के नाम पर कानून हाथ में लेना आतंकवाद नहीं है तो क्‍या है? गाली गलौच के साथ किसी को ट्रोल करना और उन्‍हें चुप करा देना आतंकवाद नहीं है तो क्‍या है?”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -